आयुर्वेदिक हर्ब के इस बेल में छिपा है हर बीमारी का इलाज, जानें इसके कमाल के फायदे

आजकल की लाइफस्टाइल में लोग अपने खान-पीन का सही से ध्यान नहीं रख पारे हैं। ऐसे में बेल गर्मी के मौसम में स्वस्थ रहने के लिए एक पावरफुल फल है। आज हम आपको कमाल की आयुर्वेदिक हर्ब के बेल के बारे में बताने वाले हैं।

इस जड़ी-बूटी के द्वारा दवाइयों से पा सकते हैं निजात

इससे निजात पाने के लिए लोग तमाम महंगी दवाओं का सेवन करते हैं। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि हड्डियों की इस परेशानी को दूर करने के लिए एक जड़ी-बूटी भी कारगर हो सकती है।

जानें इस आयुर्वेदिक हर्ब का नाम

इस आयुर्वेदिक हर्ब का नाम है हडजोड़। आयुर्वेद में हडजोड़ को ‘अस्थिसंहार’ के नाम से भी जाना जाता है। यह एक तरह की बेल या क्रीपर है। इसकी पत्तियां और ठंडल का सेवन औषधि के तौर पर किया जा सकता है। ये हड्डियों को गर्माहट देकर जॉइंट पेन की समस्या से निजात दिला सकती है।

इन बीमारियों के लिए लाभकारी

इस औषधि को अस्थि संहार के रूप में जाना जाता है। यह हड्डी को जोड़ने, पेट की समस्या, बवासीर, ल्युकोरिया, मोच, अल्सर, श्वास रोग, गठिया का दर्द, रीड की हड्डी का दर्द, ब्लीडिंग और सूजन में काफी लाभकारी होती है।

हडजोड़ की पत्तियों का सेवन

इसमें एसिडिटी, अपच, कब्ज और पेट में गैस बनने जैसी कई समस्याएं शामिल हैं। इन सभी समस्याओं से राहत पाने के लिए आप हड़जोड़ की पत्तियों का सेवन कर सकते हैं।

हडजोड़ को ऐसे करें यूज

इसके प्रयोग की बात करें तो तना को पीस करके उसका लेप लगाया जा सकता है। आप चाहें तो उसके स्वरस को निकाल करके घी में मिलाकर सेवन किया जा सकता है।

हड्डियाें को जोड़ने के लिए अधिक उपयोगी

इसके 2 से 5 ग्राम चूर्ण को दूध के साथ लेने से 15 दिन के अंदर टूटी हड्डियां जुड़ सकती हैं।