HBN News Hindi

विदेश में पढ़ाई करने की राह अब नहीं है आसान, इन देशों में नियम बदलने से भारतीय छात्र परेशान

Government News : कनाडा सरकार ने नए स्टूडेंट वीजा पॉलिसी को लेकर एक नया नियम बनाया है, जिसका सीधा असर भारतीय छात्रों पर पड़ने वाला है। नई पॉलिसी के तहत (News For indian student In  canada) अब कनाडा सरकार ने छात्रों के काम करने के समय को घटा दिया है। जहां स्टूडेंट हफ्ते में 40 घंटे काम करते थे, अब उस समय को घटा कर लगभग आधा कर दिया है। कनाड़ा सरकार ने क्या-क्या चेंज कर दिये है, आइए जानते हैं इस खबर के माध्यम से विस्तार में।
 | 
विदेश में पढ़ाई करने की राह अब नहीं है आसान, इन देशों में नियम बदलने से भारतीय छात्र परेशान

HBN News Hindi (ब्यूरो) : अगर आप भी विदेश जाना चाहते हैं। तो ये खबर आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। क्योंकी विदेश में भारतीय स्टूडेंट को लेकर  (Study Abroad ) नियमों में बदलाव कर दिये हैं। हर गुजरते साल के साथ पढ़ाई के लिए विदेश जाने वाले भारतीय छात्रों की संख्या बढ़ती जा रही है।  हाल में ग्लोबल कॉन्क्लेव की ओर से जारी (study in canada) इंडियन स्टूडेंट मोबिलिटी रिपोर्ट के अनुसार साल 2023 में करीब 1.3 मिलियन भारतीय छात्र विदेश में पढ़ाई के लिए गए।  

 

40 घंटे नही अब करेंगे सिर्फ 24 घंटे 
 

डी विविड कंसल्टेंट द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, साल 2022 में भारत से विदेश पढ़ाई के लिए जाने वाले (Canada me ab kitne ghnte kaam kr skte h) छात्रों की संख्या 7.50 लाख से ज्यादा थी, जो लगातार बढ़ रही है।  भारतीय छात्र ज्यादातर पढ़ाई के लिए कनाडा, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया जाते हैं। हालाँकि, कुछ दिन पहले कनाडा सरकार ने घोषणा की थी कि सितंबर 2024 से जहाँ विदेशी छात्र सप्ताह में 40 घंटे काम कर सकते थे, उसे घटाकर केवल 24 घंटे कर दिया गया है।

 

छात्र करियर बनाने के लिए कनाडा की बजाय जा रहे दूसरे देशों 
 

भारतीय छात्र पढ़ाई के साथ-साथ नौकरी करके अपना खर्चा चला सकते थे, लेकिन अब यह बंद हो जाएगा। इससे फ्रेशर्स तो (Best Country For Study) खुश हैं लेकिन अब छात्र करियर बनाने के लिए कनाडा की बजाय दूसरे देशों की ओर रुख कर रहे हैं। हार्दिक नाम के छात्र ने कहा कि कनाडा सरकार का यह नियम मेरे जैसे फ्रेशर के लिए अच्छा है।  हम वहां जाएंगे और काम लेंगे। ’ एक अन्य छात्रा क्रिना त्रिवेदी ने कहा कि नियमों में बदलाव के कारण अब वह पढ़ाई के लिए कनाडा नहीं बल्कि ऑस्ट्रेलिया जाएंगी। 

छात्र पेमेंट कैश में लेता है, पर ये हैं गैरकानूनी  
 

कनाडा में बढ़ती महंगाई के कारण वहां काम करने वाले भारतीय छात्रों का (how to study in canada) खर्च बढ़ गया है। कनाडा में सालाना खर्च 16 लाख रुपये, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में 20-20 लाख रुपये है। अमेरिका में नियम है कि छात्र कैंपस में हफ्ते में 20 घंटे काम कर सकते हैं।  हालांकि, नियमों से ज्यादा काम करने के बाद छात्र पेमेंट कैश में लेता है, लेकिन यह गैरकानूनी है। जर्मनी में अगर किसी पब्लिक कॉलेज में एडमिशन लिया जाए तो खर्चा सिर्फ 6 लाख रुपए है। कनाडा में एक (Videsh me ek ghnta kaam krne ke kitne dollar milte h) घंटे की कमाई 16 डॉलर, यूएस में 9 डॉलर और ऑस्ट्रेलिया में 23 डॉलर है। इन देशों की तुलना में अब लाखों भारतीय छात्र फिनलैंड, फ्रांस और जर्मनी जाएंगे।

कनाडा में सख्त नियमों के कारण भारतीय छात्र हुए निराश


डी विविड कंसल्टेंट के निदेशक दर्शन शाह ने कहा कि कनाडा में सख्त नियमों के कारण भारतीय छात्र अब जर्मनी, फ्रांस और फिनलैंड का (New Rules For Students In Other Country) रुख करेंगे। यहां नौकरी के अवसर अधिक हैं और खर्चे भी उतने ही हैं या कम हैं। एक समय था जब हर साल 2.5