HBN News Hindi

Income Tax Refund के मामले में टैक्सपेयर्स को मिली राहत, इस तारीक से पहले आ जाएगा टैक्सपेयर्स का पैसा

Income Tax Refund : इनकम टैक्स ने पिछले महिने की बैठक में ही टैक्सपेयर्स की रिटर्न (Taxpayers' returns 2024) को लेकर हुए फैसले को घोषित कर दिया है आपको बता दें कि जो भी टैक्सपेयर्स अपने रुके हुए इनकम टैक्स रिटर्न को लेकर परेशान है। जल्द ही उन्हे उनका रिटर्न मिल जाएगा। आइए जानते हैं इस बारे में विस्तार से।
 
 | 
Income Tax Refund  के मामले में टैक्सपेयर्स को मिली राहत, इस तारीक से पहले आ जाएगा टैक्सपेयर्स का पैसा

HBN News Hindi (ब्यूरो) : बहुत से टैक्सपेयर्स (Taxpayers ) अभी भी अपने पिछले वर्ष का टैक्स रिफंड फंसा हुआ है। लेकिन विभाग का लक्ष्य है कि रिफंड के शेष मामलों को 30 अप्रैल तक समाप्त कर दिया जाए। आयकर विभाग ने अपने अपडेट में साफ जाहिर कर दिया है कि अब जल्द से जल्द ही इन समस्याओं का निपटारा करके टैक्सपेयर्स को उनका रिटर्न प्रोवाइड करवाया जाए। आइए जानते हैं इस बारे में विस्तार से।

 

Income Tax Department: नोटिस का जवाब नहीं देने वालों की होगी जांच , पेश करने होंगे ये दस्तावेज
 

 

आयकर विभाग का प्लान


अभी भी बहुत से ऐसे टैक्सपेयर्स (Taxpayers Update News 2024) हैं, जिनके पिछले असेसमेंट ईयर का टैक्स रिफंड फंसा हुआ है। टैक्स रिटर्न फाइल करने के बाद अभी तक रिफंड प्रोसेस ही नहीं हुआ है। लेकिन विभाग का प्लान है कि रिफंड के बाकी लटके मामलों का 30 अप्रैल तक निपटारा कर दिया जाए। इस दौरान डिपार्टमेंट को रिफंड की स्क्रूटनी पूरी करनी होगी और अप्रैल में रिफंड का पेमेंट करना होगा। विभाग ने लक्ष्य रखा है कि उसे 5 मई तक ई-निवारण के मामलों को निपटाना है।

Today Gold Rate : धड़ाम से गिरे सोने के दाम, ग्राहकों के लिए खरीदारी का शानदार मौका
 

पनल्टी के बारे में ऐसे किया जाएगा कन्फर्म 


इसके अलावा, विभाग का प्लान है कि एजेंसियों जैसे CBI, ED, SEBI, SFIO को 30 अप्रैल तक सूचना साझा की जाए। 31 मार्च तक आई अर्जियों पर 30 अप्रैल तक सूचना दी जाए। इसके बाद 1 अप्रैल के बाद आई अर्जियों पर 15 दिन के भीतर सूचना साझा करना है। जिस केस में ITAT से पेनाल्टी कन्फर्म है, उसमें 30 जून तक प्रोसेसिंग होगी।

SIP Plan: रिटायरमेंट के बाद हर महीने मिलेंगे लाखों रुपए, करना होगा ये मामूली निवेश

साथ ही टारगेट है कि इंटरनेशनल टैक्सेसेशन और ट्रांसफर प्राइसिंग के मामलों में तेजी लाना है। हर AO (असेसमेंट ऑफिसर) टॉप 30 TDS न भरने वाले की पहचान 30 जून तक करेंगे।