HBN News Hindi

Success Story : अमेरिकी बाजार में भी पूरा दबदबा, इस बिजनेस से बनाई पहचान, ऐसे की थी शुरूआत

Success Story Of Indira Nui: आज के दौर में लड़का-लड़की एक समान अधिकार के तहत अक्सर लड़कियों को प्रेरित करने के लिए एक के बाद एक कामयाब महिलाओं के जीवनी के बारे में बताया जाता है। जिससे वह और भी अधिक प्रेरित होकर सपने को पूरा करने के लिए और भी अधिक मेहनत से प्रयास करें। ये कहानी एक ऐसे ही शख्सियत के बारे में जिसने देखते ही देखते अमेरिका के कॉरपोरेट वर्ल्ड में अपना रुतबा कायम कर लिया। आइए जानते हैं इस शख्सियत के बारे में डिटेल में।
 | 
Success Story : अमेरिकी बाजार में भी पूरा दबदबा, इस बिजनेस से बनाई पहचान, ऐसे की थी शुरूआत

Trending Khabar TV (ब्यूरो) : अगर आपको अपने जीवन में कुछ विशेष करने की चाह है तो आपको तैयारी भी विशेष करनी पड़ती है। इस कहानी में अब एक ऐसे महिला के बारे में जानने वाले हैं जो आज के समय में टॉप मॉस्ट पावरफूल 100 महिलाओं में से एक है। आइए विस्तार से जानते हैं इंद्रा नूई की सफलता (Indra Nooyi's success) की कहानी के बारे में डिटेल में।

 

 

इंद्रा नूई की सफलता की कहानी

इंद्रा नूई (Indra Nooyi) एक प्रसिद्ध भारतीय मूल की अमेरिकी व्यक्ति है। इंद्रा नूई एक शक्तिशाली और सफल महिला है। वह पेप्सिको की अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी रह चुकी हैं। 2018 में नूई ने पेप्सिको के सीईओ पद से रिटायरमेंट लिया। 2007 से 2019 तक वह पेप्सिको की अध्यक्ष थीं। इंद्रा नूई को यह सफलता अकेले नहीं मिली। उनकी कड़ी मेहनत और लगन इस कामयाबी (Pepsico) का कारण है।

 

मुख्य कार्यकारी अधिकारी बनने का सफर

300 पृष्ठों की एक किताब में इंद्रा नूई ने अपनी पूरी जिंदगी समेटी है। पुस्तक का नाम है "माई लाइफ इन फुल:" काम, परिवार और आगे की जिंदगी नौकरी परिवार और भविष्य) नूई की यह पुस्तक एक संस्मरण है, जिसमें उन्होंने अपने बचपन से लेकर पेप्सिको में मुख्य कार्यकारी अधिकारी (indra nooyi memoir name) बनने तक की उन घटनाओं को बताया है। यह संस्मरण मंगलवार से उपलब्ध है।

 


​भारत में कहां से रखती हैं ताल्लुक


इंद्रा नूई का जन्म 1955 में तमिलनाडु में हुआ था। उनके पिता ‘स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद’ में थे, जबकि उनके दादा जिला न्यायाधीश थे। नूई ने अपने जन्मस्थान से ही प्राथमिक शिक्षा प्राप्त की। बाद में स्नातक की पढ़ाई मद्रास विश्वविद्यालय से की। वह गणित, फिजिक्स और केमिस्ट्री में ग्रेजुएट हैं। उन्हें कलकत्ता के भारतीय प्रबंधन संस्थान (indra nooyi pepsico) से बिजनेस मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रेजुएशन प्राप्त हुआ है।

​विदेश में पढ़ाई और रिशेप्शनिस्ट की नौकरी


येल स्कूल ऑफ मैनेजमेंट में 1978 में दाखिला लिया गया नूई ने 1980 में सार्वजनिक और निजी प्रबंधन में पोस्ट ग्रेजुएशन (work family and our future) की डिग्री प्राप्त की। नूई ने अपने पहले जॉब इंटरव्यू के लिए एक पश्चिमी सूट खरीदने के लिए येल में रात का काम भी किया।

​करियर की शुरुआत


नतीजतन, वे अपने कपड़े नहीं ट्राई किए। जैकेट बहुत बड़ी लग रही थी, लेकिन उन्हें अपनी मां की सलाह याद आई कि कपड़े हमेशा थोड़ा बड़े ही पहनने चाहिए। वरना, हम बड़े होते जाते हैं और कपड़े छोटे होते जाते हैं। जैके उनका चुनाव था। लेकिन उस समय नूई चौबीस वर्ष की थीं और पूरी तरह बड़ी हो चुकी थीं। यह उनका पहला बड़ा खर्च था।


​जब​ बिजनेस सूट ने करवाया शर्मिंदा


नतीजतन, उन्होंने अपने कपड़े ट्राई नहीं किए। जैकेट बड़ी लग रही थी, लेकिन उन्हें अपनी मां की सलाह याद आई कि कपड़े हमेशा थोड़ा बड़े ही लेने चाहिए। वरना, कपड़े छोटे होते जाते हैं जैसे हम बड़े होते हैं। उन्होंने जैके चुना। लेकिन नूई उस समय 24 साल की थीं और पूरी तरह बड़ी हो चुकी थीं। यह उनके जीवन का पहला बड़ा खर्च था।

जानें कितने सालों में ही बनी सीईओ

2001 में उन्हें सीएफओ बनाया गया था, और 2006 में वह सीईओ और चेयरमैन बन गईं। 2006 में अमेरिका में ग्यारह महिला सीईओ थीं। इंद्रा नूई पेप्सिको के पांचवें और पहले सीईओ (success story) थीं। साथ ही, वह फॉर्च्यून 50 कंपनी चलाने वाली पहली अश्वेत और अप्रवासी महिला (indra nooyi) थीं।

जानें कितने सालों में बनी सीईओ

वह पेप्सिको की दीर्धकालिक विकास रणनीति का निर्माता (my life in full) हैं, जो पिछले दस वर्षों से अधिक समय तक कंपनी की वैश्विक रणनीति का नेतृत्व किया है। इंद्रा ने पेप्सिको के दो पुनर्गठनों, ट्रोपिकाना (who is indra nooyi) का अधिग्रहण और क्वेकर ओट्स कंपनी का विलय (2001) का भी नेतृत्व किया।

जानें ऐमजॉन बोर्ड में कब हुई थी शामिल

2018 में CEOWORLD पत्रिका ने उन्हें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ सीईओ में से एक चुना। TIME मैगजीन ने उनका नाम दो बार 'दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली (success story of indra nooyi) लोगों की सूची' में भी शामिल किया है। अप्रैल 2021 तक नूई का नेटवर्थ 29 करोड़ डॉलर था। 2019 में, नूई ने ऐमजॉन बोर्ड में शामिल हो गया।