HBN News Hindi

Saving Account : एक से ज्यादा सेविंग अकाउंट रखने वाले हो जाएं सावधान! जानें क्या कहता है आरबीआई

Saving Account Update: आजकल लोग एक से ज्यादा सेविंग अकाउंट खुलवा लेते हैं और बाद में उसे मेंटेन नहीं कर पात हैं । अगर आपके पास भी एक से ज्यादा सेविंग अकाउंट हैं तो ये खबर आपके लिए बेहद काम की साबित हो सकती है । आइए जानते हैं इस बारे में डिटेल से खबर के माध्यम से।
 
 | 
Saving Account : एक से ज्यादा सेविंग अकाउंट रखने वाले हो जाएं सावधान! जानें क्या कहता है आरबीआई

HBN News Hindi (ब्यूरो) : आज के समय में हर किसी के पास कम से कम एक सेविंग अकाउंट होता ही है । लेकिन कुछ लोग एक से अधिक अकाउंट खुलवा लेते हैं और बाद में उसे मेंटेन नहीं कर पाते हैं। आपको बता दें कि एक से ज्यादा सेविंग अकाउंट में आपका ही फायदा है अगर आप अपने सारा पैसा एक ही खाते में डालते हैं तो आपको भारी मात्रा में रिटर्न मिलता है आइए जानते हैं इस बारे में विस्तार से।

 

आरबीआई ने इस मामलें में किया अलर्ट


आज के समय में लगभग सभी का बैंक खाता तो होता ही है। केंद्र और राज्य सरकारों की कई योजनाओं का लाभ उठाने के लिए भी आपके पास बैंक खाता होना जरूरी है। बच्चों को भी बैंक खाता खोला जा सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं आपके अपने नाम पर कितने बैंक खाते खोल सकते हैं। आरबीआई ने हाल ही में एक अलर्ट जारी किया है। जिसमें बताया है कि एक व्यक्ति के नाम पर कितने बैंक खाते हो सकते हैं।

 
इस तरह खुलवाएं सेविंग अकाउंट


लोगों के पास अपनी जरूरतों के अनुरूप बैंक खाता खोलने का विकल्प होता है। जिसमें करंट अकाउंट, सैलरी अकाउंट, जॉइंट अकाउंट या सेविंग अकाउंट शामिल है। प्राइमरी बैंक खाते की बात करें तो वह सेविंग अकाउंट है। जो अधिकतर लोग ओपन करवाते हैं। क्योंकि इसमें जमा राशि पर आपको ब्याज भी मिलता है। जिनके लेनदेन यानी ट्रांजेक्शन ज्यादा होते हैं ऐसे लोग करंट अकाउंट का विकल्प चुनते हैं। जिसमें अधिकतर बिजनेस वाले लोग शामिल होते हैं। सैलरी अकाउंट वेतनभोगियों के लिए होता है। जिसमें आपको मिनिमम बैंलेस रखने की आवश्यकता नहीं होती। यह जीरो बैलेंस अकाउंट होता है। जॉइंट अकाउंट आप अन्य किसी व्यक्ति जैसे अपने पति-पत्नी या अपने बच्चे, माता-पिता के साथ ओपन करवा सकते हैं।

 

इतने खातें खुलवाने की प्रमिशन


यह कोई फिक्स नहीं है कि भारत में कोई व्यक्ति कितने बैंक अकाउंट ओपन कर सकता है। इसकी कोई लिमिट तय नहीं है। अपनी इच्छा और जरूरतों के अनुसार कोई भी व्यक्ति कितने भी बैंक खाते खोल सकते हैं। आरबीआई ने कोई सीमा तय नहीं की है। आप जितने ज्यादा बैंक खाते ओपन करते हैं उन सभी का आपको ध्यान रखना होता है। जैसे आप कौन सा विकल्प चुनते हैं उसके अनुसार आपको सभी खातों को मैनेज करना होता है। आप चाहे तो अलग-अलग बैंकों के साथ भी सेविंग या अन्य खाते ओपन कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको बैंकिंग के सभी नियमों का पालन करना होगा।