HBN News Hindi

Real Estate : फ्लैट खरीदने की ये शानदार टिप्स कर देंगे मालामाल, होगी लाखों की बचत

Real Estate Update : अगर आप भी अपना घर खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको बता दें कि लोगों का जीवन का सबसे बड़ा और सबसे महंगा सौदा घर खरीदना है। घर खरीदने में कई खर्च आते हैं। उदाहरण के तौर पर स्टाम्प ड्यूटी, रजिस्ट्रेशन शुल्क, पार्किंग शुल्क, समाजिक शुल्क आदि इन्हें जोड़ने से घर खरीदने की कुल लागत काफी बढ़ जाती है। तो ज्यादा पैसा के साथ-साथ बेहतरी टिप्स की जरूरत होती हैं आइए जानते हैं इन टिप्स के बारे में खबर के माध्यम से।
 | 
Real Estate :  फ्लैट खरीदने की ये शानदार टिप्स कर देंगे मालामाल, होगी लाखों की बचत

HBN News Hindi (ब्यूरो) : हर किसी का सपना होता है कि उसका एक अपना घर हो जिसे पुरा करने के लिए वह अपने जीवन की सारी पूंजी लगाने के लिए तैयार हो जाता है। अगर आपका सपना भी है एक  नया घर खरीदने (buy a new house) के बारे में सोच रहे हैं तो आपको बता दें कि बहोत से लोगों घर खरीदना अधिक खर्चीला (more expensive to buy a home) हो जाता है। क्योंकि उन्हे सही तरीके का पता नहीं होता है अगर आप भी अच्छा-खासा पैसा बचाना चाहते हैं तो आइए जानते हैं इस बारे में ।

Haryana-Punjab Weather Today : पंजाब-हरियाणा में बारिश के साथ गिरेंगे ओले, IMD ने किया अलर्ट जारी

 

जानें पूरी अपडेट खबर में 
कई डिवेलपर उचित वैल्यू पर घर बेचते हैं। यह दरों और लेनदेन में ट्रांसपरेंसी भी बनाए रखता है। ग्राहक अगर सीधे डिवेलपर से ही बात करें, तो उन्हें फायदा हो सकता है, क्योंकि एजेंट को एक से डेढ़ फीसदी कमीशन देना होता है। घर खरीदना कई जीवन की सबसे बड़ी और सबसे महंगी खरीदारी में से एक है। घर खरीदने की कई लागतें होती हैं। उदाहरण के तौर पर स्टाम्प ड्यूटी, रजिस्ट्रेशन फीस, पार्किंग फीस, सोसायटी चार्जेस (Stamp Duty, Registration Fees, Parking Fees, Society Charges)आदि। इन्हें जोड़ने से घर खरीदने की कुल लागत बहुत अधिक हो जाती है। घर की कीमत में कुछ डिस्काउंट या एक्स्ट्रा रीलीफ से यह खरीदारी थोड़ी सस्ती हो जाती है। अनावश्यक खर्चों में कटौती से घर खरीदने में बड़ी बचत हो सकती है।

 

Petrol-Diesel के रेट को लेकर आया बड़ा अपडेट, जानिये कितनी हो जाएगी कीमत

 

1. घर खरीदते समय किसी एजेंट या दलाल की मदद लेने के बजाय सीधे डिवेलपर से डील करें।
2. आम तौर पर अगर किसी एजेंट के जरिए घर खरीदा जाता है, तो वह एक से डेढ़ फीसदी कमीशन लेता है। अगर डिवेलपर और बायर के बीच कोई एजेंट नहीं होगा तो कमीशन बचेगा।
3. कई एजेंट न केवल खरीदारों से बल्कि सेलर्स से भी कमीशन (Commission from sellers also)लेते हैं। यानी एजेंट को दो से ढाई फीसदी कमीशन मिलता है, जिसमें एक से डेढ़ फीसदी ग्राहक से और मोटे तौर पर एक फीसदी सेलर से मिलता है।
4. सेलर्स अपने स्वयं के लाभ से एजेंटों को कमीशन नहीं देते हैं। अंततः वह लागत खरीदार से वसूल की जाती है। इस तरह के लेन-देन में अगर ग्राहक को 2.5 से 3 प्रतिशत का डायरेक्ट और इनडायरेक्ट कमीशन देना पड़ता है, तो घर की कुल लागत बढ़ जाती है।

 

Income Tax : पति से लिए पैसे तो पत्नी को भरना पड़ेगा टैक्स वरना इनकम टैक्स


5. सेलर्स के साथ सीधे बातचीत करके घर की कीमत पर पांच प्रतिशत तक की बचत की जा सकती है। यहां तक कि मौजूदा महंगाई के दिनों में यह पांच प्रतिशत राशि मध्यम वर्ग के लिए बहुत अधिक है और उस राशि को बचाना एक बड़ी राहत है।
6. यदि दो से चार लोग एक ही प्रॉजेक्ट में एक समूह के रूप में एक घर खरीदने का निर्णय लेते हैं, और डिवेलपर के साथ उसी पर चर्चा करते हैं, तो प्रॉपर्टी की दर पर एक्स्ट्रा डिस्काउंट का लाभ उठाया जा सकता है।


 

UP Weather Update : यूपी में गर्मी से बेहाल होगा लोगों का जीना, अब रात में भी छूटेगा पसीना, जानिये ताजा अपडेट

7. अगर ग्राहक एकमुश्त पेमेंट करने को तैयार है तो डिवेलपर कम कीमत पर घर बेचते हैं। इसलिए कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा कैश बनाकर घर खरीदने पर ज्यादा से ज्यादा छूट पाएं।
8. सुनिश्चित करें कि इस तरह का लेनदेन करने से पहले संबंधित हाउसिंग प्रोजेक्ट या प्रॉपर्टी के लिए सभी परमिशन और इजाजत कानूनी रूप से प्राप्त किए गए हैं।
9. जिस क्षेत्र में आप हाउसिंग प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं, वहां के लोगों से मिलें और वहां प्रॉपर्टीयों की एवरेज रेट्स (Average rate of properties)के बारे में जानकारी एकत्र करें।
10. एक बार जब आप प्रॉपर्टी की रेट्स का अच्छा अनुमान लगा लेते हैं, तो डिवेलपर के साथ चर्चा करें और सही कीमत पर डील का प्रयास करें।

NABARD ने किसानों को डेयरी लोन देने को किया मना, कह दी यह बड़ी बात


11. रेडी टू मूव वाले घर अंडर-कंस्ट्रक्शन घरों की तुलना में अधिक महंगे होते हैं। अंडर-कंस्ट्रक्शन प्रोजेक्ट्स में घरों में दरों पर मोलभाव करने की अधिक गुंजाइश है। यदि आप कुछ समय बाद अपने घर में जाने की योजना बना रहे हैं, तो एक अंडर-कंस्ट्रक्शन घर खरीदें।

12. अंडर-कंस्ट्रक्शन मकान सस्ता होगा और किश्तों में भुगतान संभव होगा। इसलिए यहां फोकस करना सही फैसला होगा।
13. त्योहारों के मौसम में डिवेलपर घर की खरीदारी पर अलग-अलग ऑफर और छूट देते हैं। लाखों रुपये के घर की कीमत पर एक से डेढ़ प्रतिशत की छूट मिलने पर भी ग्राहक की काफी बचत हो जाती है। इसलिए खास त्योहारों की पूर्व संध्या पर घोषित ऑफर्स पर ध्यान दें।


14. जो लोग रियल एस्टेट में इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं और कम कीमत पर अपना पहला घर खरीदना चाहते हैं, उन्हें संबंधित क्षेत्र में प्रॉपर्टी मार्केट के बारे में अधिक जानकारी एकत्र करने का प्रयास करना चाहिए।
15. घर खरीदते समय सबसे पहले यह तय कर लें कि आप किस तरह का घर और कितना एरिया खरीदना चाहते हैं। फिर घर का बजट तय करें। बजट के हिसाब से घर खरीदने का फैसला करें। अन्यथा फाइनेंशियल बर्डन और बढ़ सकता है।

UP Weather Update : यूपी में गर्मी से बेहाल होगा लोगों का जीना, अब रात में भी छूटेगा पसीना, जानिये ताजा अपडेट

16. घर की कीमत एकसाथ चुकाना (paying the price of the house together)संभव हो तो बेहतर है। कई डिवेलपर एक साथ पेमेंट करने वाले ग्राहकों को एक्स्ट्रा डिस्काउंट प्रदान करते हैं। लेकिन इस तरह का लेन-देन तभी करें जब आप रहने के लिए घर खरीद रहे हों। यदि आप कमर्शियल उपयोग के लिए कोई प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं, तो ऐसा न करें।

17. जहां तक हो सके अंडर-कंस्ट्रक्शन प्रॉजेक्ट के साथ जाएं। अगर आप तुरंत घर नहीं जाना चाहते हैं, तो बना-बनाया घर खरीदने से बचें। क्योंकि ये घर महंगे हैं।

Aaj Ka Rashifal, 20 अप्रैल : आज इन राशि वालों वालों की होगी बल्ले-बल्ले और इन्हें करना पड़ सकता है परेशानियों का सामना


18. किसी डिवेलपर के साथ बातचीत करने से पहले जांच लें कि आपके द्वारा वहन किए जा सकने वाले घर की अधिकतम कीमत क्या है? अन्य खरीदारों के साथ भी घर की दरों पर चर्चा करें।
19. यदि आप उस क्षेत्र में एक नया घर खरीद रहे हैं, जहां आप वर्तमान में रहते हैं तो पड़ोसी और मित्र खरीदारी प्रॉसेस में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। उनकी मदद लें।
20. लंबे समय से खाली घर बिक्री के लिए उपलब्ध हो सकता है। ऐसे घर के बारे में पता करें और पड़ोसियों या दोस्तों के जरिए सीधे घर के मालिक(Homeowners directly through neighbors or friends) से संपर्क करें।