HBN News Hindi

Transaction Limit को लेकर आरबीआई ने दी ग्राहकों को बड़ी राहत, नहीं भरना पड़ेगा कोई जुर्माना

Bank News: अगर आप भी अकाउंट में मिनिमम बैलेंस (Minimum balance in account) न होने के कारण कई बार ज्यादा पेनल्टी का भुगतान कर रहे हैं तो आपको बता दें कि अब आरबीआई के इस नियम के मुताबिक अब आपको कोई भी हर्जाना नहीं भरना पड़ेगा आइए जानते हैं आरबीआई के इस गाइडलान के बारे में डिटेल से खबर के माध्यम से।
 
 | 
Transaction Limit को लेकर आरबीआई ने दी ग्राहकों को बड़ी राहत, नहीं भरना पड़ेगा कोई जुर्माना

HBN News Hindi (ब्यूरो) : आरबीआई ने ग्राहकों की हितों को ध्यान में रखते हुए अपने नए गाइडलाइन जारी कर दिए हैं जी हां अब आपको अपने सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैंलेस मैंटेन (Minimum balance maintenance in savings account) न रखने के कारण किसी तरह की कोई पेनल्टी नही भरनी पड़ेगी । जिससे भविष्य में पैसे जमा करवाने पर आपके पैसे नहीं काटे जाएंगे ।  आइए जानते हैं आरबीआई के स रिपोर्ट के बारे में खबर में ।
 

 

Personal Loan को लेकर RBI की सख्ती, नियम बदलने से अब ग्राहकों को होगी परेशानी...

 

भारतीय रिजर्व बैंक (reserve Bank of India) ने बैंकों से कहा है कि वैसे अकाउंट जो निष्क्रिय हैं यानी जिसमें दो साल से ज्यादा समय से कोई ट्रांजैक्शन नहीं हुआ है, उनपर न्यूनतम शेष राशि (minimum balance) नहीं रखने पर जुर्माना नहीं लगा सकते।

 
 

छात्रवृत्ति राशि के नियम


साथ ही यह भी कहा है कि बैंक छात्रवृत्ति राशि या डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (Scholarship amount or direct benefit transfer)पाने के लिए बनाए गए अकाउंट्स को निष्क्रिय के रूप में वर्गीकृत नहीं कर सकते हैं, भले ही उनका इस्तेमाल दो सालों से ज्यादा समय तक न किया गया हो।

 

इन ट्रांजेक्शन से पहले करनी होगी बैंक को सूचित

 

खबर के मुताबिक, बैंकों को दिया गया निर्देश निष्क्रिय खातों पर आरबीआई के नए सर्कुलर (RBI's new circular on inoperative accounts) का एक हिस्सा है और साथ ही लावारिस बैंक जमा के लेवल को कम करने के इसकी कोशिशों का भी हिस्सा है। टाइम्स ऑफ

 

Relationship : पति की इन कमियों की वजह से महिलाएं गैर मर्द में ढुढंने लगती ये चीजें

इंडिया की खबर के मुताबिक, नए नियम 1 अप्रैल से लागू हो गए हैं।

नए नियमों के तहत, बैंकों को ग्राहकों को एसएमएस, लेटर या ईमेल के जरिए उनके खातों के निष्क्रिय होने की सूचना (Notification of deactivation of accounts) देनी होगी। बैंकों से यह भी कहा गया है कि अगर किसी निष्क्रिय खाते का मालिक जवाब नहीं देता है तो उस व्यक्ति से संपर्क करें जिसने खाताधारक या खाताधारक के नामांकित व्यक्तियों का परिचय कराया था।


 
ऐसे करवा सकते हैं आपने खाते को एक्टीव बिना कोई चार्ज भरे


नियमों के मुताबिक बैंकों को निष्क्रिय खाते के रूप में तय किए गए किसी भी अकाउंट में न्यूनतम शेष राशि बनाए न रखने पर दंडात्मक शुल्क लगाने की अनुमति (permission to impose penal charges) नहीं है। निष्क्रिय खातों को सक्रिय करने के लिए कोई शुल्क नहीं लगाया जाएगा। RBI के मुताबिक, मार्च 2023 के आखिर तक लावारिस जमा 28% बढ़कर 42,272 करोड़ रुपये हो गई, जो एक साल पहले 32,934 करोड़ रुपये थी।

Credit Card को लेकर RBI का बड़ा ऐलान, ग्राहकों को दिया जाएगा क्रेडिट कार्ड चुनने का ऑप्शन

 इतने समय बाद किया जाएगा बैंक खाता बंद
 

जमा खातों में कोई भी बैलेंस, जो 10 साल या उससे अधिक समय से ऑपरेट नहीं किया गया है, बैंकों द्वारा आरबीआई द्वारा बनाए गए जमाकर्ता और शिक्षा जागरूकता कोष (Depositors and Education Awareness Fund) में स्थानांतरित किया जाना जरूरी है।