HBN News Hindi

Property News : प्रोपर्टी खरीदनी है तो वाइफ के नाम से खरीदें, छूट गिनते-गिनते थक जाओगे

Property News update : महिलाओं को सशक्त (empower women)करने में सरकार किसी भी तरह का कोई कसर नहीं छोड़ रही है। कोई भी क्षेत्र हो सरकार ने महिलाओं की भागीदारी (women's participation)बढ़ाने के लिए उनको छूट पर छूट देनी शुरू कर दी है। इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए सरकार ने महिलाओं को प्रोपर्टी उनके नाम खरीदते समय कई छूट देने का फैसला भी किया है। आइये जानते हैं क्या है यह पूरा माजरा

 | 
Property News : प्रोपर्टी खरीदनी है तो वाइफ के नाम से खरीदें, छूट गिनते-गिनते थक जाओगे 

HBN News Hindi (ब्यूरो) : हर मोर्चें पर महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए सरकार एक के बाद एक योजनाएं (plans)धरातल पर उतार रही है। उनमें से एक है प्रोपर्टी में छूट । अर्थात यदि पत्नी के नाम आप प्रोपर्टी खरीद रहे हैं तो आप मिलने वाली छूटों को गिनते-गिनते थक जाओगे लेकिन छूट खत्म नहीं होंगे। कारण यह है महिलाएं परिवार की धुरी होती है। क्योंकि इन्हीं के इर्द-गिर्द परिवार घूमता है। ये अगर सक्त व मजबूत बनेगी तो परिवार, समाज व देश स्वत: समृद्ध व खुशहाल बनेगा। आइये जाते हैं है कि पूरा मामला क्या है। 

 

 

 

 

कम ब्याज पर होम लोन


अगर आप घर खरीदने के लिए अधिकतर लोग लोन (Loan)लेते हैं. होम लोन लेने के बाद ग्राहक बैंक में जो रकम चुकाते हैं, उसमें ब्याज दर और मूलधन शामिल होता है, जिसे ईक्वल मंथली इंस्टॉलमेंट या इएमआई (Emi)कहा जाता है.हाउसिंग फाइनेंस संस्थान पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को ब्याज दर में राहत देती हैं. कुछ हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों ने महिलाओं के उद्देश्य और आय के अनुसार विशेष लोन स्कीम भी बनाई हैं. ब्याज दर कम होने की वजह से पत्नी के नाम पर घर खरीदना फायदे का सौदा है। 

स्टाम्प ड्यूटी पर छूट


कई राज्य में महिलाओं के नाम पर प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री (property registry)कराने पर स्टांप ड्यूटी शुल्क में छूट मिलती हैं. उत्तर भारत के कुछ राज्यों में महिलाओं और महिला-पुरुष के लिए रजिस्ट्री शुल्क की दर पुरुषों के लिए निर्धारित रजिस्ट्री शुल्क की दर के मुकाबले करीब दो से तीन फीसदी कम है. तो यदि महिला किसी प्रॉपर्टी का रजिस्ट्रेशन अपने नाम पर करवाती है तो स्टाम्प ड्यूटी पर भी छूट मिलती है। राजधानी दिल्ली में पुरुषों को स्टाम्प ड्यूटी पर 6 प्रतिशत के हिसाब से भुगतान करना होता है, जबकि महिलाओं को इसमें 2 प्रतिशत की छूट मिलती है. यानी उन्हें स्टाम्प ड्यूटी पर केवल 4 प्रतिशत का ही भुगतान करना होता है। 

पत्नी की आर्थिक सुरक्षा और आत्मनिर्भरता


यदि महिला के पास किसी प्रॉपर्टी (Property)की ऑनरशिप है तो इससे उसकी आर्थिक सुरक्षा में मजबूती आती है और वह आत्मनिर्भरत (self-reliant)होती है. चूंकि इस प्रॉपर्टी पर उसका अधिकार है, इसलिए वो पूर्ण स्वतंत्रता के साथ कोई भी निर्णय ले सकती है. फिर चाहे इसमें पति, बच्चे या परिवार के अन्य सदस्य सहमत हों या न हों. वो प्रॉपर्टी को खरीदने, बेचने और या उसे किराये पर देने के लिए स्वेच्छा से निर्णय ले सकती है। 

प्रॉपर्टी टैक्स में छूट


महिलाओं को प्रॉपर्टी से संबंधि टैक्स (tax)पर भी छूट मिलती है. यह छूट नगर निगम द्वारा महिलाओं को दी जाती है. हालांकि टैक्स बेनेफिट्स आपको तभी मिल सकता है, जब वो प्रॉपर्टी महिला के नाम पर होगी।