HBN News Hindi

Post Office : सिर्फ ₹1,000 महीना निवेश करने पर मिलेगी 8 लाख से ज्यादा की राशि, नही लगेगा कोई टैक्स

Post Office : आज के समय में देखा जाए तो निवेश करने के मामले में विकल्पों की कोई कमी नही है। हर कोई व्यक्ति या निवेशक अपने पोर्टफोलियो को (PPF Investment) मजबुत बनाने के लिए अलग-अलग जगहों में निवेश करता है। इनमें से कुछ लोग तो ऐसे होते है, जो की बिना किसी सलाहकार के पैसे को निवेश करता है और उसे लॉस हो जाता है। आप न करें ये गलती।
 | 
Post Office : सिर्फ ₹1,000 महीना निवेश करने पर मिलेगी 8 लाख से ज्यादा की राशि, नही लगेगा कोई टैक्स

HBN News Hindi (ब्यूरो) :  डाक विभाग (postal department)के पास आज इतनी अधिक स्कीमें है कि आप अगर एक स्कीम (scheme)का भी लाभ उठाते हैं तो आप महीनों या सलाना लाखों में खेल सकते हैं। अगर आप भी गारंटीड रिटर्न वाली किसी स्‍कीम में निवेश करना चाहते हैं। तो आइए जानते हैं इस खबर के माध्यम से विस्तार से।

 


नही है ऑप्शन की कमी


निवेश के लिहाज से इन दिनों विकल्पों की कोई कमी नहीं है। अपने पोर्टफोलियो (PPF investment limit Kitni h) को मजबूत करने के लिए निवेशक विभिन्न प्रकार की योजनाओं में निवेश करना पसंद करते हैं।


सरकारी गारंटी वाली योजना 


अगर आप गारंटीड रिटर्न वाली स्कीम में निवेश करना चाहते हैं और (public provident fund interest rate) अच्छा पैसा कमाना चाहते हैं तो आप पब्लिक प्रोविडेंट फंड का विकल्प चुन सकते हैं। पीपीएफ एक सरकारी गारंटी वाली योजना है।  इसमें लंबे समय तक निवेश करना पड़ता है। 

 


500 रुपये से 1.5 लाख 


स्कीम 15 साल में मैच्योर होती है।  अगर आप आगे भी इसका फायदा उठाना (ppf account rules 2024) चाहते हैं तो अपने खाते को 5 साल के लिए बढ़ा सकते हैं। पीपीएफ में सालाना 500 रुपये से 1.5 लाख रुपये तक जमा किया जा सकता है।  फिलहाल इस पर 7.1 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है।  ईईई कैटेगरी की इस स्कीम में तीन तरह से ब्याज भी बचाया जा सकता है। 


प्रति माह सिर्फ 1,000 


इसमें निवेश करने के लिए आप किसी भी पोस्ट ऑफिस या सरकारी बैंक में खाता (Post Office Scheme) खुलवा सकते हैं।  अगर आप इस योजना में प्रति माह सिर्फ 1,000 रुपये का निवेश करते हैं, तो आप कुछ वर्षों में 8 लाख रुपये से अधिक जोड़ सकते हैं। 

 


15 साल बाद मैच्योर


अगर आप इस स्कीम में हर महीने 1,000 रुपये निवेश करते हैं तो साल में 12,000 रुपये निवेश (पीपीएफ में निवेश के फायदे) करेंगे।  स्कीम 15 साल बाद मैच्योर होगी, लेकिन आपको इसे 5-5 साल के ब्लॉक में दो बार बढ़ाना होगा और 25 साल तक लगातार निवेश जारी रखना होगा।


मैच्योरिटी राशि 8,24,641

 
अगर आप 25 साल तक हर महीने 1,000 रुपये का निवेश करते हैं, तो आप कुल 3,00,000 रुपये का निवेश करेंगे। लेकिन 7.1 फीसदी ब्याज के (PPF Investment Plan) हिसाब से आप ब्याज से 5,24,641 रुपये ही लेंगे और आपकी मैच्योरिटी राशि 8,24,641 रुपये हो जाएगी। 

 


नही लगेगा टैक्स


पीपीएफ एक ईईई श्रेणी की योजना है, इसलिए इस योजना में आपको 3 तरह की (Public Provident Fund Scheme) टैक्स छूट मिलेगी। ईईई का मतलब है इग्जेम्प्ट इग्जेम्प्ट इग्जेम्प्ट। इस श्रेणी में आने वाली योजनाओं में सालाना जमा की जाने वाली रकम पर कोई टैक्स नहीं लगता है।

 
बचेगा 3 तरह से टैक्स


इसके अलावा हर साल मिलने वाले ब्याज पर भी टैक्स नहीं लगता है और मैच्योरिटी के समय मिलने वाली पूरी रकम भी टैक्स फ्री होती है यानी निवेश, ब्याज/रिटर्न और तीनों परिपक्वताओं पर टैक्स की बचत होती है।

 


होते है दो विकल्प


पीपीएफ खाते का विस्तार 5 साल के ब्लॉक में किया जाता है। पीपीएफ विस्तार के मामले में, निवेशक के पास दो प्रकार के विकल्प होते हैं – पहला, योगदान के साथ खाता विस्तार और दूसरा, निवेश के बिना खाता विस्तार। आपको अंशदान के साथ विस्तार भी लेना होगा। 


इसके लिए आपको उस बैंक या डाकघर में एक आवेदन जमा करना होगा जहां आपका खाता है। ध्यान रहे कि यह आवेदन (Public Provident Fund Scheme interest rate) आपको मैच्योरिटी की तारीख से 1 साल पूरा होने से पहले देना होगा और एक्सटेंशन के लिए एक फॉर्म भरना होगा। 

 


फॉर्म उसी डाकघर/बैंक शाखा में जमा किया जाएगा जहां पीपीएफ खाता खोला गया है। अगर आप यह फॉर्म समय पर जमा नहीं कर पाते हैं तो आप अपने खाते में योगदान नहीं कर पाएंगे।