HBN News Hindi

Old Pension Scheme 2024: कर्मचारियों के लिए गुड न्यूज, ओल्ड पेंशन योजना को लेकर आया बड़ा अपडेट

Old Pension Scheme : केंद्र सरकार ने कर्मचारियों के लिए एक बड़ी खुशखबरी दी है। आने वाले समय में केंद्रिय कर्मचारियों को ओल्ड पेंशन योजना का लाभ मिल सकता है। बता दें कि कर्मचारी लंबे समय से इसकी डिमांड कर रहे थे। आइए जानते हैं इस बारे में डिटेल से।
 
 | 
Old Pension Scheme 2024: कर्मचारियों के लिए गुड न्यूज, ओल्ड पेंशन योजना को लेकर आया बड़ा अपडेट

 HBN News Hindi (ब्यूरो) : ओल्ड पेंशन योजना में सरकारी कर्मचारियों को (Old Pension Scheme)उनके मुख्य वेतन से आधा वेतन मिलता रहता है। कर्मचारियों की मांग के चलते में इस योजना पर फिर से कार्य प्रक्रिया को शुरू करवाया गया है।आपको बता दें कि अब इस योजना का लाभ कार्यरत और रिटायर कर्मचारियों दोनों को मिल सकेगा।

 

हिमाचल प्रदेश में भी ओल्ड पेंशन योजना 


देश के मुख्य राज्यों में से एक हिमाचल प्रदेश में भी ओल्ड पेंशन (Old Pension Scheme Update)योजना का लाभ कर्मचारियों के लिए दिया जाता था परंतु 2003 में इस योजना को बंद करवा दिया गया था। तथा 2023 में सुक्खू सरकार की चुनावी गारंटी के तौर पर इस योजना को पुनः प्रारंभ करवाया गया।

 

ओल्ड पेंशन योजना का लाभ 


हिमाचल राज्य के रिटायर तथा सेवानृत कर्मचारियों के लिए बहुत ही अच्छी सूचना सामने आई है की इन सभी के लिए ओल्ड पेंशन योजना का लाभ दिया जाना है। ऐसे कर्मचारी(Old Pension Scheme 2024) जिनके लिए अनुबंध अवधि के कारण 10 साल की सेवा न होने पर (Old Pension Scheme Update 2024)ओल्ड पेंशन नहीं मिलती थी अब उनके लिए भी लाभ दिया जाएगा।


ओल्ड पेंशन स्कीम के तहत है ये नियम


हिमाचल प्रदेश में ओल्ड पेंशन स्कीम के तहत ऐसा नियम निर्धारित करवाया गया था कि जिन कर्मचारियों का सेवा देने का कार्यकाल 10 वर्ष या उससे अधिक हो चुका है केवल उनके लिए ओल्ड पेंशन का लाभ दिया जाना है जिसके अंतर्गत  शुरुआत में उन्होंने कॉन्ट्रेक्ट बेस पर नौकरी (पुरानी पेंशन योजना अपडेट)की थी और इस पीरियड को रेगुलर सर्विस में काउंट नहीं किया गया था।

 

सभी कर्मचारियों को मिलेगा लाभ


ऐसे में कॉन्ट्रैक्ट बेस के कार्यकाल को काउंट न किए जाने पर उनके लिए ओल्ड पेंशन नहीं मिल पाती थी परंतु अब रेगुलर सर्विस के साथ कांटेक्ट बेस की अवधि को भी जोड़ा जाएगा तथा दोनों को मिलाकर 10 साल की अवधि तैयार किए जाने पर ओल्ड पेंशन योजना का लाभ सभी कर्मचारियों को दिया जाएगा।

 

इतने कर्मचारी के लिए मिलेगा इस योजना का लाभ


सुक्कू सरकार के द्वारा 2023 में इस योजना को पुनः लागू करते हुए यह बताया गया था कि राज्य के ऐसे कर्मचारी जो रिटायर हो चुके हैं तथा पुरानी पेंशन योजना का लाभ अभी तक नहीं मिला है उनमें से 1 लाख तीस हजार से अधिक कर्मचारियों के लिए ओल्ड पेंशन योजना से लाभार्थी किया जाएगा।

 


ओल्ड पेंशन की कार्य प्रक्रिया 

 

रिटायर्ड कर्मचारियों के लिए ओल्ड पेंशन योजना का लाभ(Old Pension yojana 2024) प्राप्त करने हेतु 1 महीने के अंतर्गत विभाग अध्यक्ष के जरिए कार्यालय में अपना विकल्प देना अनिवार्य होगा। अगर आप इस निश्चित समय के अंतर्गत ओल्ड पेंशन की कार्य प्रक्रिया को पूरा कर लेते हैं तो आपके लिए सरकार के द्वारा लाभार्थी कर्मचारियों की सूची में जोड़ा जाएगा।

 

 प्रधान द्वारा मेमोरेंडम जारी


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में एक रिटायर्ड कर्मचारी महिला शीला देवी के द्वारा पुरानी पेंशन योजना के लिए आवेदन दिया गया था जिसके तहत सुप्रीम कोर्ट ने इस महिला के पक्ष में फैसला सुनाया था। इसी फैसले के चलते वित्त विभाग के प्रधान ओल्ड पेंशन योजना के बारे में मेमोरेडम जारी कर दिया गया है।

 

मेमोरेंडम जारी करने के दौरान 


मेमोरेंडम जारी करने के दौरान अब वित्त विभाग के द्वारा ऐसे सभी (Old Pension yojna ka profit kin krmchariyo ko milega)रिटायर कर्मचारियों के लिए ओल्ड पेंशन योजना का लाभ दिया जाना है जिन्होंने कॉन्ट्रैक्ट एवं रेगुलर सेवा देने का कार्य किया है। जिन कर्मचारियों का सेवा देने का कार्यकाल 10 वर्ष से अधिक हुआ है उन सबके लिए ओल्ड पेंशन योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु विकल्प जमा कर देना चाहिए।


कर्मचारियों के लिए सुविधा


2003 से पुरानी पेंशन योजना का लाभ(Old Pension 2024) बंद करवाया जाने पर कर्मचारियों के बीच चिंता का विषय बना हुआ था क्योंकि अब उनके लिए अपने रिटायरमेंट के बाद जीवन यापन हेतु उक्त पेंशन नहीं मिल पा रही थी। सुक्खू सरकार के द्वारा ऐसे कर्मचारियों के लिए बहुत ही सुविधाजनक कार्य किया गया है।

आर्थिक सुविधाओं के लिए सैलरी 


अब राज्य के 1 लाख से अधिक रिटायर्ड कर्मचारी तक अपनी आर्थिक सुविधाओं के लिए सैलरी से आधी पेंशन प्राप्त कर सकते हैं जो उनके लिए बहुत ही अच्छी बात है। चुनावी गारंटी के तौर पर शुरू करवाई गई यह योजना राज्य के रिटायर कर्मचारियों के लिए बहुत ही कल्याणकारी योजना साबित हुई है।