HBN News Hindi

National Pension System : इस तरह करेंगे निवेश तो सिक्योर हो जाएगा बुढ़ापा, मौज से कटेगी जिंदगी

Pension Schemes : सरकार की तरफ से सभी देशवास‍ियों के भविष्य को ध्‍यान में रखते हुए एनपीएस (NPS) समेत कई ओर भी पेंशन स्‍कीम को चलाया जाता हैं। सरकारी कर्मचारियों के बीच यह मुद्दा रहा है कि उन्हें नेशनल पेमेंट सिस्टम (NPS) में आखिरी सैलरी की 50% राशि पेंशन के तौर पर नहीं मिलती है। 
 | 
National Pension System : इस तरह करेंगे निवेश तो सिक्योर हो जाएगा बुढ़ापा, मौज से कटेगी जिंदगी

HBN News Hindi (ब्यूरो ) : अक्सर एनपीएस के बारे में ज्यादातर नाराजगी उन कर्मचारियों से ही आती है, जो की थोड़े ही  समय में इस स्कीम से (national pension system) बाहर हो जाते हैं। अगर आप लोग एनपीएस में 30 साल से ज्यादा का योगदान दे देते हैं, तो आप सब को तगड़ा रिटर्न देखने को मिलेगा। आइए जानते है इसके बारे में विस्तार से।

 


उम्र बढ़ने के साथ म‍िलती है सेफ्टी 


नेशनल पेंशन स‍िस्‍टम (NPS) केंद्र सरकार की तरफ से शुरू क‍िया गया र‍िटायरमेंट सेव‍िंग और इनवेस्‍टमेंट प्रोग्राम है।  इसके तहत आपको खुद (ops vs nps) न‍िवेश करना होता है और नागरिकों को उनकी उम्र बढ़ने के साथ सेफ्टी म‍िलती है।  इसमें क‍िया गया न‍िवेश सुरक्षित और रेग्‍युलेट‍िड मार्केट बेस्‍ड र‍िटर्न पर आधार‍ित है।  इसकी देखरेख पीएफआरडीए (PFRDA) की तरफ से की जाती है।  60 से 65 साल की उम्र के बीच का भारतीय नागरिक भी एनपीएस में रज‍िस्‍ट्रेशन (how to have a good pension) करा सकता है।  साथ ही वह 70 साल की उम्र तक सदस्य बना रह सकता है। 

 


300/- रुपये का मंथली स्टाइपेंड 


सीन‍ियर स‍िटीजन के ल‍िए शुरू की गई इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन (national pension system) योजना (IGNOAPS) के तहत भी मंथली पेंशन म‍िलती है।  बीपीएल कैटेगरी में आने वाले 60-79 साल की उम्र के वरिष्ठ नागरिकों को 300/- रुपये का मंथली स्टाइपेंड मिलता है।  क‍िसी की उम्र 80 साल हो जाती है तो पेंशन बढ़कर मंथली 500 रुपये हो जाती है।  इस पेंशन योजना के ल‍िए कोई न‍िवेश करने की जरूरत नहीं होती। 


पेंशन की राश‍ि 1000 से लेकर 5000 रुपये 


गरीबों, वंचितों और असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले कामगरों के भव‍िष्‍य को ध्‍यान में (NSP ka fayda kaise uthaye) रखते हुए अटल पेंशन योजना (APY) को शुरू क‍िया गया था।  एपीवाई के तहत न‍िवेश करने वाले को न्यूनतम मासिक पेंशन म‍िलने का प्रावधान है।  इसमें पेंशन की राश‍ि 1000 से लेकर 5000 रुपये महीने तक हो सकती है।  साथ ही इसमें आप 18 से 40 साल की आयु तक न‍िवेश शुरू कर सकते हैं।  इसके तहत कोई भी ऐसा नागर‍िक जो टैक्‍स पेयर है या रहा है, एपीवाई में शामिल होने का पात्र नहीं होगा। 


पॉलिसी खरीदने के 15 साल 


फाइनेंश‍िल सर्व‍िस ड‍िपार्टमेंट के अनुसार, 'इस योजना को एलआईसी (LIC) के माध्यम से संचालित क‍िया जाता है।  योजना के तहत ग्राहकों को एकमुश्त राशि का भुगतान करने पर 9% सालाना की गारंटीड पेंशन मिलती है।  एलआईसी द्वारा फंड पर उत्‍पन्‍न रिटर्न पर गारंटीकृत रिटर्न में किसी भी अंतर की भरपाई भारत सरकार की तरफ से योजना में सब्सिडी भुगतान के जर‍िये की जाती है।  योजना में पॉलिसी खरीदने के 15 साल बाद जमा राशि निकालने की अनुमति होती है। 

साल 2014-15 के बजट भाषण में तत्कालीन वित्त मंत्री ने 60 साल और इससे ज्‍यादा उम्र के नागरिकों के फायदे को ल‍िए 15 अगस्त 2014 से 14 अगस्त 2015 तक थोड़े समय के लिए कार्यक्रम को फिर से शुरू करने का प्रस्ताव रखा।