HBN News Hindi

Loan Guarantor बनने से पहले जान लें ये अपडेट, वर्ना करनी पड़ जाएगी भरपाई

Loan Guarantor Update: जब भी कोई लोन लेने के लिए बैंक में जाता है तो बैंक लोन देने से पहले लोन में एक ग्रांटर को शामिल करने के लिए आदेश देता है । आपको बता दें अगर कोई भी व्यक्ति लोन का भुगतान नहीं करता है तो ग्रांटर को इसके लिए जवाबदेही माना जा सकता है। आइए जानते हैं इस बारे में डिटेल से खबर के माध्यम से ।
 
 | 
Loan Guarantor बनने से पहले जान लें ये अपडेट, वर्ना करनी पड़ जाएगी भरपाई 

HBN News Hindi (ब्यूरो)  : आज के समय में लोग अक्सर अपने फाइनेंशियल कंडिशन (financial condition) में सुधार करने के लिए लोन का सहारा लेते हैं। आपको बता दें कि जब भी आप किसी (financial institution) से लोन लेने के लिए जाते हैं तो आपको सबसे पहले ग्रांटर की आवश्यकता होती है जो आपके बाद लोन का भुगतान न करने पर लोन के लिए जवाबदेही होता है।
 

Share Market Update : कमाल के है इन पांच कंपनियों के शेयर, एक साल में पैसा डबल

 

ग्रांटर के दायित्व


अकसर लोग अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के लोन लेने पर उनके गारंटर बन जाते हैं। लोन समय पर जमा नहीं होने पर गारंटर को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। यहां तक बैंक के लीगल नोटिस (Bank's legal notice) के साथ ही लोन चुकाना भी पड़ सकता है। इसलिए लोन के मामले में किसी का गारंटर बनते समय बहुत जरूरी है कि सोच समझकर फैसला लिया जाए। लोन गारंटर (loan guarantor) बनने से पहले आरबीआई की गाइडलाइन (RBI guidelines) और नियम जानना जरूरी है, ताकि किसी तरह की मुश्किल में फंसने से बचा जा सके।  आमतौर पर देखा गया है कि ग्रामीण इलाकों में जमीन खरीद, कृषि कार्यों के लिए किसान लोन लेते हैं और गारंटर भी बनते हैं। जबकि, शहरी इलाकों में वाहन, मकान खरीदने या संपत्ति लीज पर लेने के लिए कई मौकों पर गारंटर की जरूरत पड़ जाती है।  

 

Share Market Update : कमाल के है इन पांच कंपनियों के शेयर, एक साल में पैसा डबल


ग्रांटर के उत्तरदायित्व


गारंटर वह व्यक्ति होता है जो किसी और के लोन के भुगतान (loan payment) के लिए जिम्मेदार होने की सहमति बैंक को देता है। यदि कोई अन्य व्यक्ति लोन के भुगतान में चूक करता है तो गारंटर की लोन भुगतान करने का विकल्प बैंक को उपलब्ध कराना होता है। गारंटर बनना उधारकर्ता की मदद करने के लिए मात्र एक औपचारिकता नहीं है, गारंटर लोन का भुगतान करने के लिए भी उतना ही जिम्मेदार है।
 

Senior Citizen की हो गई मौज, अब मामूली निवेश पर मिलेगा धाकड़ रिटर्न

इन लोनो में होती है गारंटर की आवश्यकता


भारतीय रिजर्व बैंक ने लोन गारंटर संबंधी नियमावली बनाने के लिए बैंकों को निर्देश (instructions to banks) जारी करता है। आरबीआई बैंकों को उन लोन के लिए अपने दिशानिर्देश तैयार करने की अनुमति देता है जिनके लिए गारंटर की आवश्यकता होती है। आरबीआई नियमों के अनुसार गारंटर संबंधी नियम लोन आवेदक (Guarantor Rules Loan Applicant) की रिपेमेंट कैपेसिटी, उसकी आय, रोजगार और हाउसिंग डिटेल्स जैसे कई फैक्टर्स निर्भर करते हैं। 

Petrol Pump Business से एक दिन की कमाई कर देगी मालामाल, इतने की करनी होगी टोटल इन्वेस्टमेंट


कानूनी रूप से गारंटर के दायित्व


गारंटर एक वित्तीय शब्द है जो एक ऐसे व्यक्ति के बारे में बताता है जो लोन लेने वाले के कर्ज नहीं जमा कर पाने के मामेल में भुगतान करने का वादा करता है। गारंटर लोन के बदले कोलैटरल के रूप में अपनी संपत्ति को गिरवी रखते हैं। आरबीआई नियमों के अनुसार लोन गारंटर लीज (loan guarantor lease) पर ली गई संपत्ति या लिए गए लोन के लिए एक कॉन्ट्रैक्ट पर साइन करता है। इसके बाद वह किरायेदार या लोन लेने वाले के बकाया पैसे के लिए कानूनी रूप से जिम्मेदार होते हैं। 
 

UP News : सामान खरीदने के बहाने मार्किट गयी पत्नी अपने प्रेमी संग हुई फरार, हाथ मलता रह गया हस्बैंड

गारंटर बनने के नुकसान


लोनधारक का गारंटर बनना (borrower's guarantor) उस वक्त परेशानी का कारण बन जाता है जब लोन अदा नहीं किया जाता है। 
ऐसे में लोनधारक की देनदारी गारंटर के हिस्से आ जाती है, जो उसके सीबिल स्कोर को खराब (bad CIBIL score) कर देती है।

 

Bank Holiday on 19 april, 2024 : आज इन राज्यों के कई शहरों में नहीं खुलेंगे बैंक, चुनाव के कारण रहेगी छुट्‌टी

कर्ज में देरी या भुगतान नहीं करने पर कानूनी नोटिस का सामना (face legal notice) करना पड़ सकता है।
लोन पेमेंट नहीं किए जाने पर गारंटर पर अतिरिक्त वित्तीय बोझ बढ़ जाता है। 
गारंटर को भविष्य में खुद के लिए लोन मिलने में मुश्किल होती है। 
एक बार गारंटर बनने के बाद उसे कैंसिल नहीं किया जा सकता है। बैंक ही आपको मुक्त कर सकता है।