HBN News Hindi

Personal Loan लेने से पहले भूल न जाएं ये बातें, नहीं तो लग जाएगा भारी चूना

Bank Loan Update : आज के समय हर कोई अपने जरूरतों को पूरा करने के लिए बैंक लोन जैसी सूविधाओं का लाभ उठाता हैं। लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे प्वाइंट्स के बारे में बताने वाले  हैं जिससे आप बात-बात में लोन लेने की आदत छोड़ देंगे । आइए जानते हैं इन बेहतरीन प्वाइंट्स के बारे में खबर के माध्यम से डिटेल में।
 
 | 
Personal Loan लेने से पहले भूल न जाएं ये बातें, नहीं तो लग जाएगा भारी चूना

HBN News Hindi (ब्यूरो) : अगर आप भी अपने किसी जरूरत को पूरा करने के लिए पर्शनल लोन (personal loan)लेने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको बता दें कि लोन लेने से पहले आप इन प्वाइंट्स के बारे में अवश्य जान लें नहीं तो आपको भारी पेनल्टी का सामना करना पड़ सकता है आइए जानते हैं इन पर्शनल लोन से होने वाले फाइनेंशियल नुकसान (financial loss)के बारे में। 
 

 

Share Market Update : कमाल के है इन पांच कंपनियों के शेयर, एक साल में पैसा डबल

 

पर्शनल लोन लेने से पहले जानें ये जानकारी

 

आमतौर पर हम में से अधिकतर लोग कर्ज से हमेशा दूर रहते रहे हैं, लेकिन पर्सनल लोन (personal loan tips) लेना आज के टाइम में कोई बड़ा कर्ज नहीं माना जाता है। क्रेडिट कार्ड से लेकर इंस्टैंट लोन की सुविधा ने हमें ज्यादा फ्लेक्सिबल बना दिया है। साथ ही इसमें योगदान दिया है कंज्यूमरिज्म ने भी। 

 

Senior Citizen की हो गई मौज, अब मामूली निवेश पर मिलेगा धाकड़ रिटर्न


हालांकि, फिर भी अकसर लोग पर्सनल लोन (personal loan) को बोझ बनाते हुए दिख जाते हैं। अगर सही जानकारी हो तो कर्ज को लेकर समझदारी भरा रुख अपनाया जा सकता है। अगर आप पर्सनल लोन लेने का सोच रहे हैं तो इसके पहले आपको कुछ पॉइंट्स पर रिसर्च जरूर करनी चाहिए, इससे आप ज्यादा बेहतर Borrower बन पाएंगे और लोन को लोन की तरह ही ट्रीट कर पाएंगे, न कि बोझ की तरह।


 

इस तरीकें से करें लोन होने की संभावना का पूर्वानुमान


अगर आप लोन लेना चाहते है तो आपको पर्सनल लोन (personal loan rules) मिलेगा या नहीं, ये कई बातों पर निर्भर करता है। पर्सनल लोन पर कॉलेटरल की शर्त नहीं होती है, लेकिन बैंक आपको पहले परखते हैं, जिसके बाद ही वो उसे लोन जारी करते हैं। इसमें आपकी उम्र, आपकी इनकम और आपका क्रेडिट स्कोर सबसे ज्यादा मायने रखते हैं। आमतौर पर 15,000 से 25,000 रुपये महीना की सैलरी हो तो बैंक आपको लोन दे देते हैं। 

Chanakya Niti : पति से संतुष्ट न होने पर महिला करती है ऐसे इशारे, ऐसे समझें फटाक से

बैंक ये सुनिश्चित करना चाहते हैं कि आप लोन लेकर चुकाने की स्थिति में हैं या नहीं। और आपकी सैलरी के हिसाब से आपको कितना लोन जारी किया जा सकता है। 21 से 60 साल के बीच के लोगों को लोन जारी किया जाता है। साथ ही ये भी देखा जाता है कि आप अपनी नौकरी में कितने लंबे समय (personal loan period) से हैं। आमतौर पर 1 साल के अनुभव को वरीयता दी जाती है


 

जांच लें अपना सिबिल स्कोर


अब ये तो ज्यादातर लोग जानते ही है कि बैंक लोन देने से पहले आपका सिबिल स्कोर जरूर देखते हैं। CIBIL Score 3 डिजिट का एक स्कोर होता है जो 300 से 900 के रेंज में आता है, इससे ये देखा जाता है कि आप कर्ज लेकर कितनी आसानी से चुका देते हैं, या आपकी कर्ज लेन-देन की आदत कैसी है। 

Triumph Tiger 900 : लग्जरी कार से भी महंगी है यह बाइक, कीमत जानकर रह जाओगे हैरान


सिबिल स्कोर (Cibil Score) में आपकी क्रेडिट हिस्ट्री होती है। आपके क्रेडिट रिपोर्ट में आपकी क्रेडिट हिस्ट्री और क्रेडिट रेटिंग देखी जाती है। बैंक पर्सनल लोन जारी करने के लिए 750 के ऊपर के स्कोर को वरीयता देते हैं। आप ऑनलाइन बड़ी आसानी से अपना क्रेडिट स्कोर चेक कर सकते हैं।


 

चेक करें पर्सनल लोन इंटरेस्ट रेट


पर्सनल लोन के लिए अप्लाई (Apply for personal loan) करने में सबसे पहले आपको ये चेक कर लेना चाहिए कि कौन सा बैंक कितनी ब्याज दर पर लोन ऑफर कर रहा है। आपके लोन अमाउंट के हिसाब से लोन पर अलग-अलग ब्याज दरें हो सकती है। इंटरेस्ट रेट बड़ा फैक्टर है क्योंकि इसी से यह कैलकुलेट होता है कि आपको प्रिंसिपल लोन अमाउंट पर आपको कितना ब्याज चुकाना होगा।

Petrol Pump Business से एक दिन की कमाई कर देगी मालामाल, इतने की करनी होगी टोटल इन्वेस्टमेंट


EMI की पूरी डिटेल


बता दें कि पर्सनल लोन में दो भाग होते हैं- प्रिंसिपल अमाउंट यानी मूलधन और इस मूलधन पर इंटरेस्ट यानी ब्याज दर। आपको इन्हें किस्तों या EMI (Equated Monthly Instalments) में चुकाना होता है। आप लोन ले रहे हैं तो इसका कैलकुलेशन कर लें कि आपको हर महीने कितनी EMI भरनी होगी। कुछ बैंक या NBFCs आपको स्टैंडर्ड EMI अमाउंट के साथ-साथ फ्लेक्सिबल EMI का ऑप्शन भी देते हैं। स्टैंडर्ड ईएमआई के तहत आप हर महीने एक बंधी-बंधाई किस्त चुकाते हैं। वहीं फ्लेक्सिबल ईएमआई में आप कम किस्त से शुरू करके धीरे-धीरे इसे बढ़ाते हैं। 

Bank Holiday on 19 april, 2024 : आज इन राज्यों के कई शहरों में नहीं खुलेंगे बैंक, चुनाव के कारण रहेगी छुट्‌टी


इन शर्तो को जानकर ही लें पर्शनल लोन


अब सबसे पहले पर्सनल लोन चुकाने के पहले आपको लोन अमाउंट टेन्योर (loan amount tenure) पूरा होने से पहले चुकाने यानी लोन प्रीपेमेंट की शर्तें भी चेक कर लेनी चाहिए। कई बैंक या NBFCs लोन के प्रीपेमेंट पर पेनाल्टी लगाते हैं। यानी आपको लोन की अवधि पूरी होने से पहले ही लोन का पैसा चुका देने पर जुर्माना देना पड़ता है।
 

Delhi-NCR Weather Today : दिल्ली में बारिश के बाद होगा मौसम कूल, तेज आंधी का अलर्ट जारी

वक्त से पहले लोन भरने पर भरना पड़ेगा ये चार्ज 

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बैंक को आपको लोन देकर हर महीने ब्याज (personal loan interest rate) मिल रहा है, आप जल्दी लोन चुका देते हैं, तो उसके पास ये पैसा आना बंद हो जाता है। आप लोन जारी करवाने से पहले ये पता कर सकते हैं कि अगर आप वक्त से पहले लोन चुकता करना चाहें तो क्या आपको जुर्माना भरना पड़ेगा।

Share Market Update : कमाल के है इन पांच कंपनियों के शेयर, एक साल में पैसा डबल

इन तरीकों से जल्दी मिल जाएगी लोन

लोन लेने से पहले आपको बैंकों का ट्रैक रिकॉर्ड (track record of banks) भी चेक करना जरूरी है। आपको पहले लेंडर का ट्रैक रिकॉर्ड चेक कर लेना चाहिए कि वो बाजार में कितने वक्त से है, कितना मजबूत है, ग्राहकों का अनुभव कैसा रहा है। पर्सनल लोन आपकी कई जरूरतों को पूरा कर सकता है और अब ये अलग-अलग प्लान्ड और अनप्लान्ड (Planned and unplanned)जरूरतों के लिए अवेलेबल भी हैं, ऐसे में आपको इसके लिए अप्लाई करने से पहले ऊपर बताई गई बातों पर अच्छे से सोच-समझ लेना चाहिए।