HBN News Hindi

Kisan News: किसानों के लिए गुड न्यूज, कृषि यंत्रों पर मिल रही भारी सब्सिडी, ऐसे उठाएं इस योजना का लाभ

Kisan Updated News : हमारा देश एक कृषि प्रधान देश है। यहां की आधी जनसंख्या कृषि पर निर्भर है।ऐसे में किसानों को सफल खेती करने के लिए अच्छे कृषि उपकरणों की जरूरत होती है।जिससे किसान खेती में कृषि यंत्रों का उपयोग कर ज्यादा मुनाफा कमा सकें। आपको बता दें कि इसके लिए सरकार ने कृषि यंत्र अनुदान योजना चलाई है, जिसके तहत किसान कृषि यंत्रों का उपयोग कर ज्यादा मुनाफा कमा सकें।
 
 | 
Kisan News: किसानों के लिए गुड न्यूज, कृषि यंत्रों पर मिल रही भारी सब्सिडी, ऐसे उठाएं इस योजना का लाभ

HBN News Hindi (ब्यूरो) :  सरकार द्वारा किसानों के लिए कई योजनाएँ चलाई जा रही हैं। लेकिन (Kisan News)किसानों को कृषि मशीनों की कीमतों को लेकर काफी चिंता रहती थी। इसके लिए सरकार ने  कृषि यंत्र अनुदान योजना चलाई है। जिसके तहत किसान कृषि यंत्रो को सस्ती कीमत में खरीद सकते हैं।आइए जानते हैं इस योजना के बारे में विस्तार से।

 

 


उपकरणों और मशीनों पर मिल रही भारी सब्सिडी 


कृषि यंत्र अनुदान योजना के तहत सरकार किसानों को कई तरह के कृषि उपकरणों और मशीनों पर सब्सिडी(agricultural equipment pr mil rhi bhari sabsidy) प्रदान करती है, जिसमें ट्रैक्टर भी शामिल है। इससे किसान सस्ती कीमत पर कृषि उपकरण खरीद सकते हैं। ड्रोन को कृषि सब्सिडी योजना की सूची में शामिल करने के बाद अब इसका इस्तेमाल खेती में भी किया जा रहा है। ड्रोन का उपयोग मुख्य रूप से खेतों में कीटनाशकों और तरल उर्वरकों के छिड़काव के लिए किया जाता है।


कृषि ड्रोन खरीदने पर मिलेगी इतनी सब्सिडी 


खेती में ड्रोन की बढ़ती उपयोगिता को (agricultural equipment grant)देखते हुए किसानों को सस्ती दरों पर ड्रोन उपलब्ध कराया जा रहा है। खास बात यह है कि किसानों को कृषि ड्रोन खरीदने पर 5 लाख रुपये की सब्सिडी दी जा रही है। ऐसे में किसान सरकारी सब्सिडी का फायदा उठाकर कम कीमत पर कृषि ड्रोन खरीद सकते हैं।

 

जाने कितनी है एक ड्रोन की कीमत 


कृषि ड्रोन की अनुमानित कीमत 6 से 10 लाख रुपये के बीच है। चूंकि इसकी(drones at affordable rates)) कीमत ट्रैक्टर के बराबर है, इसलिए किसान इसे आसानी से खरीद सकते हैं। किसानों को सस्ती दरों पर ड्रोन उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार की ड्रोन सब्सिडी योजना चलाई जा रही है। अगर किसान इस योजना के तहत ड्रोन खरीदते हैं तो उन्हें लगभग आधी कीमत पर ड्रोन मिल सकता है।

 

 


सरकार द्वारा मिलेगी इतनी सब्सिडी 


ड्रोन सब्सिडी योजना के तहत किसानों, कस्टम हायरिंग सेंटरों, एफपीओ और कृषि विज्ञान केंद्रों को ड्रोन खरीदने के लिए अलग-अलग सब्सिडी दी जा रही है

योजना के तहत लघु, सीमांत, महिला किसानों, अनुसूचित जाति और(pm kisan news in hindi) अनुसूचित जनजाति के किसानों को ड्रोन की व्यक्तिगत खरीद पर ड्रोन की लागत का 50 प्रतिशत या अधिकतम 5 लाख रुपये की सब्सिडी दी जाएगी।

सामान्य श्रेणी के किसानों और कस्टम हायरिंग सेंटर (सीएचसी) संचालकों को कृषि ड्रोन खरीदने पर ड्रोन की लागत मूल्य पर 40 प्रतिशत या अधिकतम 4 लाख रुपये की सब्सिडी दी जाएगी।
किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) को ड्रोन खरीदने के लिए ड्रोन की लागत मूल्य पर 75 प्रतिशत या अधिकतम 7।5 लाख रुपये की सब्सिडी दी जाएगी।

इसके अलावा किसी भी मान्यता प्राप्त कृषि प्रशिक्षण संस्थान, आईसीएआर संस्थान या कृषि विज्ञान केंद्र को ड्रोन खरीदने पर 100 फीसदी अनुदान दिया जाएगा, यानी ड्रोन की पूरी लागत कीमत सरकार की ओर से दी जाएगी।

 

ड्रोन खरीदने के लिए यहां आवेदन करें


सरकार समय-समय पर ड्रोन खरीदने के लिए किसानों(PM Kisan news) से आवेदन आमंत्रित करती है। किसान कृषि यंत्र अनुदान योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं। सरकार किसानों को ड्रोन खरीदने के लिए प्रोत्साहित करने के साथ-साथ ड्रोन चलाने का प्रशिक्षण भी देती है। ड्रोन सब्सिडी और इसके लिए आवेदन से संबंधित अधिक जानकारी के लिए किसान अपने जिले के कृषि विभाग से संपर्क कर सकते हैं।

 

कृषि ड्रोन खरीदने से किसानों को फायदे


आजकल खेती में आधुनिक कृषि उपकरणों और मशीनों का (equipments ki bdhti demand)उपयोग बढ़ता जा रहा है। खेती में आधुनिक कृषि उपकरणों और मशीनों का उपयोग करके समय और श्रम की बचत के साथ-साथ बेहतर उत्पादन प्राप्त किया जा सकता है। अब खेती में ड्रोन के इस्तेमाल से खेतों में कीटनाशकों और उर्वरकों का छिड़काव करना आसान हो गया है।