HBN News Hindi

Byju’s के प्रबंधन को ठहराया हेराफेरी के लिए जिम्मेदार, यह बोले निवेशक

Byju's का संकट कम होने का नाम नहीं ले रहा है। अब निवेशकों ने कंपनी प्रबंधन पर कई आरोप जड़ डाले हैं। करोड़ों डालर की हेरा फेरी करने का आरोप लगाते हुए निवेशकों ने कहा कि मौजूदा शेयरधारकों को आवेदन कर नए शेयर मिलने चाहिए। इस बारे में कंपनी का क्या कहना है, आइये जानते हैं इस खबर में विस्तार से। 

 | 
Byju’s के प्रबंधन को ठहराया हेराफेरी के लिए जिम्मेदार, यह बोले निवेशक

HBN News Hindi (ब्यूरो) : शिक्षा-प्रौद्योगिकी मंच बायजू के निवेशकों ने कंपनी पर अमेरिका में एक अस्पष्ट हेज फंड में 53.3 करोड़ डॉलर की हेराफेरी करने के साथ ही 20 करोड़ डॉलर के राइट्स इश्यू पर रोक (Byju's rights issue put on hold)लगाने की मंगलवार को अपील की। राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (National Company Law Tribunal) ने निवेशकों की इस याचिका पर बायजू को तीन दिन के भीतर लिखित जवाब देने को कहा और अपना आदेश सुरक्षित रख लिया। बायजू का संचालन करने वाली कंपनी ‘थिंक एंड लर्न’ (Think and Learn) की तरफ से लाया गया राइट्स इश्यू बुधवार को बंद होने वाला है।

 

नहाते समय नौकर ने मालकिन और उसकी बेटी का बनाया वीडियो, इस चीज की करने लगा डिमांड...जानिए


आरोपों पर नहीं की टिप्पणी 


खबर के मुताबिक, राइट्स इश्यू को आगे बढ़ाने को लेकर दोनों ही पक्षों ने अपनी दलीलें पेश कीं। हालांकि, बायजू ने एनसीएलटी की बेंगलुरु पीठ में अपने चार शेयरधारकों द्वारा लगाए गए आरोपों पर कोई टिप्पणी नहीं की। लेकिन उसके करीबी सूत्रों ने कहा कि एनसीएलटी द्वारा रोक न लगाए जाने पर राइट्स इश्यू पूर्व-निर्धारित कार्यक्रम के तहत बुधवार को बंद हो जाएगा। कंपनी के कुछ निवेशकों ने मौजूदा प्रबंधन को कुप्रबंधन और कदाचार (mismanagement and misconduct)के जरिये उद्यम मूल्यांकन में भारी गिरावट के लिए जिम्मेदार बताया है।

 

5 Door Thar : महिंद्रा थार होगी इस दिन लांच, दिखाई देंगे 10 नए जबरदस्त फीसर्च

 

 

शेयरधारकों ने 23 को बुलाई थी आम बैठक


निवेशकों ने दलील दी कि राइट्स इश्यू सिर्फ तभी लाया जा सकता है (Investors argued)जब कंपनी की अधिकृत शेयर पूंजी बढ़ाई जाए और मौजूदा शेयरधारक आवेदन कर नए शेयर हासिल करें। कंपनी के कुछ शेयरधारकों ने 23 फरवरी को एक असाधारण आम बैठक (general Meeting) बुलाई थी, जिसमें बायजू के सह-संस्थापक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी बायजू रवींद्रन और उनके परिवार को निदेशक मंडल से हटाने का प्रस्ताव पारित किया गया था। 

 

EV cars : 5 मार्च को इलेक्ट्रिक कार होगी लांच, फुल चार्ज करने पर 540km तक की तय करेगी दूरी

 

रवींद्रन ने बैठक को बताया अमान्य


हालांकि, रवींद्रन ने इस बैठक को अमान्य बताते हुए कहा था कि ईजीएम का निर्धारित कोटा नहीं पूरा किया गया था। इससे पहले बायजू के संस्थापक बायजू रवींद्रन ने बीते शनिवार को कंपनी से निकाले जाने की खबरों का खंडन करते हुए कहा कि मैं अब भी CEO (CEO  of Byju's)हूं, प्रबंधन भी वही है।