HBN News Hindi

Railway यात्रियों को मिलता है इतना ट्रैवल इंश्‍योरेंस, अधिकतर लोगों को नहीं पता, जानिये कैसे उठा सकते हैं इसका फायदा

Indian Railway Travel Insurance: हम में से अधिकतर लोग ट्रेन से सफर करते हैं।लेकिन क्या आप जानते हैं कि ऐसे रेल हादसों में मृत्‍यु होने या घायल होने पर रेलवे द्वारा बीमा भी दिया जाता है। ऐसे में अगर आप भी ट्रेन से कहीं बाहर जा रहे हैं तो आपको यात्रा के दौरान मिलने वाले ट्रैवल इंश्‍योरेंस के बारे में जरूर जान लेना चाहिए।आइए जानते हैं इस ट्रैवल इंश्‍योरेंस इसके फायदे के बारे में विस्तार से।
 
 | 
Railway यात्रियों को मिलता है इतना ट्रैवल इंश्‍योरेंस, अधिकतर लोगों को नहीं पता, जानिये कैसे उठा सकते हैं इसका फायदा

HBN News Hindi (ब्यूरो) : ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों के लिए ये बीमा कवर मुश्किल (Indian Railway)वक्त में बड़ा सहारा बन जाता है। आजकल ज्‍यादातर लोग ट्रेन की टिकट आनॅलाइन बुक करते हैं लेकिन उन्‍हें इस पर मिलने वाले ट्रैवल इंश्‍योरेंस के बारे में पता नहीं होता। अगर आप ट्रेन से सफर करते हैं तो इस इंश्योरेंस को जरूर कराएं। आइए जानते हैं इस इंश्योरेंस का अप्लाई से क्लेम तक का पूरा प्रोसेस।

 

रेलवे कि ये खास इंश्योरेंस सर्विस 

लगभग लोग जिन्हें यात्रा करना पसंद है या किसी कारणवश यात्रा करते हैं। उनका सामना भारतीय रेल से जरूर होता होगा, क्योंकि इंडियन रेलवे हर रोज लाखों लोगों को एक शहर से दूसरे शहर पहुंचाने का काम करती है। अगर आप रेलवे से यात्रा( (Railway officials)) करते हैं तो आपको इस खास इंश्योरेंस सर्विस के बारे में जरूर अवगत होना चाहिए, जहां आप महज 45 पैसे रुपए खर्च करके 7 से 10 लाख का कवर पा सकते हैं। जब भी आप टिकट कराएं ये ट्रेवल इंश्योरेंस जरूर लें। इससे आपके परिजनों को आर्थिक(Railway Knowledge)मदद मिल सकती है। टिकट कराते समय यात्री को विकल्प दिया जाता है कि वो ट्रेवल इंश्योरेंस लेना चाहते हैं या नहीं। इसके लिए मामूली सी 45 पैसे की रकम उनसे ली जाती है।


इतने रुपए तक का बीमा 


ट्रेन हादसा होने पर यात्री अगर (Complete process from apply to claim)घायल होता है तो उसे 7.5 लाख रुपए का बीमा कवर मिलता है। साथ ही हॉस्पिटल के लिए इलाज के लिए 2 लाख रुपए का(Train accident) इलाज मुफ्त होता है। वहीं, अगर यात्री कि मौत हो जाती है या उसे स्थायी विकलांगता हादसे में होती है तो (Railway Travel Insurance)उसके परिजनों को या उसे 10 लाख रुपए का बीमा मिलता है। बता दें, इस बीमा के लिए वो ही क्लेम कर सकते हैं जिन्होंने 35 पैसे वाला (travel insurance kya hai)बीमा ले रखा है। बता दें, टिकट कराते समय आपको नॉमिनी की डिटेल सही से भरनी चाहिए।

 

 

जानें कैसे मिलता है इंश्योरेंस क्लेम


अगर कभी हादसा होता है, उस दौरान (treval inshyorens ke lie kaise klem karen)जिन भी यात्रियों ने टिकट कराते समय ट्रेवल इंश्योरेंस लिया होगा। उन्हें इस बीमा के तहत 10 लाख रुपए मिलेंगे। हालांकि, इसको क्लेम करने का तरीका अलग है। रेलवे ये पैसे नहीं देता है बल्कि ट्रेवल इंश्योरेंस जिस कंपनी ने किया है वो ये बीमा कवर देती हैं।

 

 

क्लेम का पुरा प्रोसेस


ट्रेवल इंश्योरेंस सिर्फ उन्ही यात्रियों को मिलता है जिन्होंने ऑनलाइन(Travel insurance by passengers at the time of booking tickets) टिकट कराए होते हैं। वहीं, एक PNR पर जितने भी टिकट बुक किए होंगे उन सभी को ट्रेवल इंश्योरेंस का फायदा मिलेगा। ट्रेवल इंश्योरेंस सिर्फ कन्फर्म और RAC टिकट वालों को ही मिलता है। ट्रेन हादसा होने के 4 महीने के अंदर नॉमिनी या बेनेफिशियरी को ट्रेवल इंश्योरेंस क्लेम करना होता है। इसके लिए जिस कंपनी ने आपका बीमा किया है उस कंपनी में जाकर आपको अपनी डिटेल देनी होती है। कुछ दिन अंदर आपका ट्रेवल इंश्योरेंस आपको मिल जाता है।