HBN News Hindi

Income Tax Return: इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते समय रखें इन बातों का खास ध्यान, नहीं तो होगा भारी नुकसान

ITR Filing: इनकम  टैक्स फाइल करने की डेट नजदीक आ रही हैं।अगर आपने अभी तक इनकम टैक्स मे नहीं किया है तो आज इस खबर में हम आपको इनकम टैक्स फाइल करने के जरूरी टिप्स के बारे में बताएंगे। इन टिप्स को फॉलो कर आप भारी नुकसान से बच सकते हैं ।आइए जानते हैं इस बारे में डिटेल से।
 
 | 
Income Tax Return: इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते समय रखें इन बातों का खास ध्यान, नहीं तो होगा भारी नुकसान

 HBN News Hindi (ब्यूरो) : अगर आपने अब तक ITR फाइल नहीं किया है तो जल्द से जल्द कर दें। आपको बता दें कि ITR भरते समय कुछ जरूरी सावधानी रखनी चाहिए। क्योंकि गलती होने पर आपको परेशानी का सामना करना पड़(Income Tax Return) सकता है। आइए जानते हैं इस बारे में खबर के माध्यम से।

 

पे करनी पड़ेगी इतनी पेनल्टी


31 जुलाई तक आईटीआर फाइल कर दें, वरना बाद में आपको 1,000 रुपये से लेकर 3,000 रुपये तक की पेनल्टी देनी पड़ सकती है।

 

रिटर्न को खारिज 


गलत पर्सनल डिटेल्स जैसे पैन नंबर, बैंक (Income Tax Return)डिटेल्स आदि की जानकारी आपके रिटर्न को खारिज या रिफंड में देरी का कारण बन सकती हैं।

टैक्सपेयर्स के लिए अलग-अलग आईटीआर फॉर्म 


ध्यान रखें कि अलग-अलग टैक्सपेयर्स के लिए अलग-अलग आईटीआर फॉर्म है। गलत आईटीआर फॉर्म भरने पर आपको रिटर्न दोबारा भरना पड़ सकता है। उदाहरण के तौर पर आईटीआर-1 सैलरीड क्लास (How to download Form 26AS)लोगों के लिए होता है। वहीं आईटीआर 4 प्रोफेशनल्स और छोटे कारोबारियों के लिए है।

 

जरूरी जानकारी ना छुपाए


अपनी इनकम के अलग-अलग सोर्स जैसे(Process to download 26AS Form) सेविंग खाते से मिलने वाले ब्याज, एफडी और रेंट आदि की जानकारी छुपाना एक बेहद कॉमन गलती है। इस तरह की गलती करने से बचें।

फॉर्म 26AS को न करें इग्नोर


फॉर्म 26AS को इग्नोर करने की गलती बिल्कुल न करें। इससे आपको टीडीएस की सही गणना करने में मदद मिलेगी और भविष्य में गलती होने की संभावना कम हो जाएगी।

 

फिल करने के बाद करें वेरिफाई


आईटीआर को वेरिफाई न करना एक(इनकम टैक्स रिटर्न फाइलिंग) बेहद कॉमन गलती है। बिना ई-वेरिफिकेशन के इनकम टैक्स रिटर्न की प्रक्रिया पूरी नहीं मानी जाती है। रिटर्न फाइल करने के बाद ई-वेरिफिकेशन को पूरा करना जरूरी है।