HBN News Hindi

Ice News : इस देश में है इतनी गर्मी कि ब्रेड-दूध व मक्खन से कहीं अधिक मंहगी है बर्फ

Ice News update : दुनियाभर में कहीं ऐसे देश है, जिनकी विशेषताओं के (Mali)बारे में हर एक नहीं जानता है। लेकिन जब पता लगता है तो दिमाग में (General Knowledge)सवालों की झड़ियां भी लगना लाजमी है। जब तक रोचक जानकारियों की हो तो बिना देरी किए इंसान उस सवाल का जवाब ढूंढ़ने में (mali power crisis)लग जाता है। तो आइये जानते हैं कि ऐसा कौन सा देश है जहां की बर्फ सोने से कम नहीं है। 

 | 
Ice News : इस देश में है इतनी गर्मी कि ब्रेड-दूध व मक्खन से कहीं अधिक मंहगी है बर्फ

HBN News Hindi (ब्यूरो) : दुनिया में कई ऐसे देश है, जहां पर सालों साल या (mali heatwave)तो गर्मी रहती है या फिर सर्दी। अपने वातावरण के हिसाब से लोग अपने आप को ढाल भी लेते हैं। लेकिन जब बात गर्मी (mali heatwave news)की आएं तो बर्फ की बात न हो। ये तो नहीं हो सकता है। हम आपको बताने जा रहे है कि (mali ice crisis)दुनिया में ऐसा देश है, जहां पर गर्मी का प्रचंड प्रहार इतना है कि वहां पर ब्रेड, दूध व मक्खन का रेट बर्फ की तुलना में कहीं ज्यादा सस्ता है। क्योंकि वहां खाद्य पदार्थों की तुलना में बर्फ अधिक मंहगी है। 


 

इस देश में ब्रेड और दूध से ज्यादा महंगी है बर्फ


हम पश्चिमी अफ्रीका के देश माली की बात कर रहे हैं, इस देश (mali water crisis)में गर्मी से लोगों का हाल बेहाल हो चुका है, ऊपर से अधिक पावरकट (mali temperature)से भी लोग परेशान हैं, जिससे उनके घरों के फ्रीज भी काम नहीं कर पा रहे हैं। वहीं जब वो अपने परेशानी को कम करने के लिए बर्फ (आइसक्यूब्स) खरीदने जा रहे हैं तो उसका दाम उन्हें ब्रेड और दूध से ज्यादा चुकाना पड़ रहा है । 


 

बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार, माली में एक थैली (mali weather)आईसक्यूब की क़ीमत 300 से 500 फ्रैंक्स सीएफए यानी 40 से 60 भारतीय रुपये है । यहां बिजली की परेशानी लगभग (mali heatwave update)सालभर पहले शुरू हुई थी। जो भीषण गर्मी में भी जारी है। यहां कभी-कभी तो पूरे दिन बिजली नहीं आती।

इतना रहता है टेम्प्रेचर


बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, माली के कुछ हिस्सों में मार्च के महीने से ही (माली में ऊर्जा संकट)तापमान 48 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है। जिससे लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं रात में ये तापमान 46 डिग्री सेल्सियस होता है। इस गर्मी में वहां 100 से ज्यादा लोग अपनी जान गवा चुके हैं। जिसका खतरा बच्चों और बुजुर्गों पर ज़्यादा है। साथ ही बीमार (माली का तापमान)होने वाले लोगों की संख्या भी बहुत ज्यादा है।