HBN News Hindi

Government News: सरकारी और प्राइवेट जॉब के ये हैं ग्रेच्युटी के नियम, जानिये दोनों को मिलने वाले पैसे का अंतर

Government News Updated : किसी कंपनी में काम करने के दौरान कर्मचारी के वेतन का एक भाग ग्रेच्युटी के रूप में काटा जाता है,और जब कोई कर्मचारी लंबे समय तक एक ही संस्थान में काम करता है तो उसे आभार जताने के रूप में ग्रेच्युटी का लाभ मिलता है। आइए हम जानते हैं कि क्या ग्रेच्यूटी का लाभ सभी सरकारी कर्मचारी के साथ प्राइवेट कर्मचारी को मिलता है या नही।
 
 | 
Government News: सरकारी और प्राइवेट जॉब के ये हैं ग्रेच्युटी के नियम, जानिये दोनों को मिलने वाले पैसे का अंतर

 HBN News Hindi (ब्यूरो ) : ग्रेच्यूटी कंपनी अपने कर्मचारी को देती है। हम आपको बता दें कि ग्रेच्युटी का लाभ सभी सरकारी कर्मचारी के साथ प्राइवेट कर्मचारी को मिलता है। आपको बता दें कि नोटिस पीरियड को भी ग्रेच्यूटी में गिना जाता है। बता दें कि ग्रेच्यूटी कर्मचारियों को तब दी जाती है(government news update) जब वो 5 साल या उससे अधिक समय तक एक ही कंपनी में काम करता है। आइए जानते हैं इस पूरी खबर के बारे में।

 

 

सरकारी और प्राइवेट नौकरियों दोनों के लिए समान नियम

ऐसे में अक्सर यह सवाल उठता है कि क्या सरकारी और प्राइवेट नौकरियों के लिए ग्रेच्युटी(gratutiy ke rule) नियम अलग-अलग हैं? हम आपको बता दें कि ऐसा नहीं है। अगर आप सरकारी कर्मचारी हैं या प्राइवेट नौकरी करते हैं तो भी ग्रेच्युटी के नियम आपके लिए समान हैं।

 

 

 ग्रेच्युटी का लाभ 
इसी महीने  ग्रेच्युटी को लेकर(retirement ke baad gratuity)आदेश दिया कि अगर कर्मचारी 60 साल के बाद रिटायरमेंट चुनता है या 62 साल में रिटायरमेंट लेता है तो उसे दोनों ही रूपों में ग्रेच्युटी का लाभ मिलेगा।दरअसल, कई कंपनियां कर्मचारी को ग्रेच्युटी का लाभ नहीं देती थीं क्योंकि कर्मचारी ने 62 साल में रिटायरमेंट का विकल्प चुना था।


 जाने ग्रेच्युटी के बारे में


कंपनी द्वारा अपने कर्मचारियों को ग्रेच्युटी दी जाती है। जब कोई कर्मचारी (gratuity ke fayde)एक ही संस्थान में 5 साल तक काम करता है तो उसे आभार स्वरूप ग्रेच्युटी मिलती है। ग्रेच्युटी का लाभ सरकारी कर्मचारियों के साथ-साथ निजी कर्मचारियों को भी मिलता है।पेमेंट एंड ग्रेच्युटी एक्ट देश की सभी कंपनियों, फैक्ट्रियों, खदानों, तेल क्षेत्रों, बंदरगाहों और रेलवे पर लागू होता है। वहीं, अगर किसी कंपनी या दुकान में 10 से ज्यादा लोग भी काम करते हैं तो भी उन्हें ग्रेच्युटी का फायदा मिलता है।

 

 


कितने समय मे मिलती है ग्रेच्युटी 


किसी भी संगठन में 5 साल तक काम करने के बाद कर्मचारी ग्रेच्युटी पाने के पात्र हो जाते हैं। लेकिन कुछ (gratuity milne ka time period)मामलों में यह समय सीमा कम होती है। ग्रेच्युटी एक्ट की धारा-2ए के मुताबिक, अगर कोई कर्मचारी भूमिगत खदान में काम करता है तो वह लगातार 4 साल और 190 दिन पूरे होने पर ग्रेच्युटी का लाभ ले सकता है।जबकि अन्य संगठनों में ग्रेच्युटी 4 साल 240 दिन  के बाद ही दी जाती है। ग्रेच्युटी का लाभ नौकरी छोड़ने या रिटायरमेंट के बाद मिलता है। इसका फायदा आप काम करते वक्त नहीं उठा सकते। यह लाभ आपको कंपनी से इस्तीफा देने पर मिलता है।