HBN News Hindi

Fuel of the Future : भविष्य में ग्रीन फ्यूल पर सबसे ज्यादा चलेंगी गाड़ियां, ये है केंद्रीय मंत्री का मास्टर प्लान

Green-Fuel of Future :हर साल दिवाली के बाद दिल्ली सहित उत्तर भारत में पराली का धुआं एक (Nitin Gadkari News) बड़ी समस्या बन के आती है। इसी को देखते हुए नितिन गडकरी केंद्रीय मंत्री ने एक नया फैसला लिया है। जिसमें आने वालें कुछ ही साल में किसान के द्वारा बनाए गए इथेनॉल फ्यूल (ethanol fuel price) से सभी गाडियां और प्लेन चलेंगे। 
 
 | 
Fuel of the Future : भविष्य में ग्रीन फ्यूल पर सबसे ज्यादा चलेंगी गाड़ियां, ये है केंद्रीय मंत्री का मास्टर प्लान

HBN News Hindi (ब्यूरो)  :  नितिन गडकरी ने कहा कि मैं चाहता हूं आने वाले कुछ ही सालों में मोटरसाइकिल, ई-रिक्शा ऑटो-रिक्शा और कार 100% एथेनॉल (Fuel of the Future) पर बेस्ड हों।  यही वजह है कि इस साल के बजट में हाइड्रोजन को लेकर ज्यादा मात्रा में बजट को तैयार (parali se ethanol Fuel Kaise Bnaye)  किया गया है। आइए जानतें है इसके बारे में विस्तार से।

 


फ्यूल ऑफ द फ्यूचर 


देशभर में लोकसभा चुनाव चल रहे हैं।  लोकसभा चुनाव सात चरणों (Nitin Gadkari Future Plan) में होना है, जिसमें से तीन चरणों के मतदान की प्रक्रिया पूरी हो गई है।  वहीं पूरे देश में नेताओं की चुनावी रैलियां भी जारी हैं।  वहीं सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार को अपनी एक रैली में बताया कि देश में आने वाले समय में हाइड्रोजन फ्यूल ऑफ द फ्यूचर बनेगा।  इसके साथ ही नितिन गडकरी (Hydrogen-Fuel of Future) ने कहा कि भारत जल्द ही फॉसिल फ्यूल को इंपोर्ट करेगा और हमारे किसान इस ग्रीन फ्यूल का निर्माण करेंगे। 

 


ग्रीन फ्यूल से किसानों को होगा फायदा


कैबिनेट मंत्री नितिन गडकरी ने अपनी चुनावी रैली के दौरान ग्रीन फ्यूल से किसानों को होने वाले (Green Fuel Se Benfit Hoga) फायदे के बारे में भी बताया।  कैबिनेट मंत्री ने कहा कि 'हाइड्रोजन भविष्य में इस्तेमाल होने वाला फ्यूल है और आने वाले समय में देश में वाहन ग्रीन फ्यूल से ही चलेंगे'।  इसके साथ ही नितिन गडकरी ने कहा कि 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के संपूर्ण विकास और साथ ही किसानों की भलाई के लिए काम कर रहे हैं'। 


नही रहेंगे अन्नदाता, अब बनेंगे ऊर्जादाता


नितिन गडकरी ने किसानों को ऊर्जादाता संबोधित करते हुए कहा कि 'एथेनॉल की (Green-Fuel of Future ) डिमांड बढ़ने के साथ ही एग्रीकल्चर इकोनॉमी में बदलाव देखने को मिलेगा।  किसान ज्यादा समय तक केवल अन्नदाता ही नहीं रहने वाले, बल्कि अब वे ऊर्जादाता बनेंगे'।  कैबिनेट मंत्री ने कहा कि एथनॉल इंडस्ट्री किसानों के लिए वरदान साबित होगी और इसकी (Fuel Kb sasta hoga) डिमांड बढ़ने के साथ ही एग्रो-इकोनॉमी में भी बदलाव आएगा। 


ये है केंद्रीय मंत्री का मास्टर प्लान


नितिन गडकरी ने कहा कि मैं चाहता हूं आने वाले कुछ (parali se ethanol Fuel banta hai) सालों में मोटरसाइकिल, ई-रिक्शा ऑटो-रिक्शा और कार 100 फीसदी एथेनॉल पर बेस्ड हों।  एग्रीकल्चर सेक्टर में आने वाले कुछ सालों में नौकरी के अवसर आने वाले हैं, जिससे बिहार के किसानों को भी फायदा होगा।  बता दें कि नितिन गडकरी ये चुनावी रैली बिहार के बेगूसराय में कर रहे थे, जहां उन्होंने जनता को संबोधित किया। 


प्रधानमंत्री का सपना


कैबिनेट मंत्री ने आगे कहा कि 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना है कि भारत को USD 5 ट्रिलियन इकोनॉमी बनाया जाए, जिसके लिए देश के इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने की जरूरत है।  

बिना पानी, हवा, ट्रांसपोर्ट और कम्यूनिकेशन के देश का संपूर्ण विकास होना नामुमकिन है।  NDA सरकार देश के साथ ही बिहार के लिए तेज रफ्तार से विकास कार्यों पर काम कर रही है'।