HBN News Hindi

CIBIL score सुधारने के लिए अपनाएं ये तरीके, लोन या क्रेडिट कार्ड मिलने में होगी आसानी

Increase Credit score : अगर आपने कभी लोन लिया है तो आप सिबिल स्कोर के बारे में जानते ही होंगे। आपको बता दें कि  आमतौर पर बैंक उन्हीं ग्राहकों को क्रेडिट कार्ड देता है, जिनका क्रेडिट स्कोर अच्छा रहता है। आज हम आपको ऐसे ही कुछ जरूरी टिप्स के बारे में बताएंगे, जिनसे आप अपने क्रेडिट स्कोर को बढ़ा सकते हैं, ताकि क्रेडिट कार्ड या लोन लेने में आसानी रहे। 
 | 
CIBIL score सुधारने के लिए अपनाएं ये तरीके, लोन या क्रेडिट कार्ड मिलने में होगी आसानी

HBN News Hindi (ब्यूरो ) : आपको बता दें कि क्रेडिट कार्ड एक तरह का लोन ही है। इसे लेने के लिए आपका सिबिल स्कोर (increase credit score) अच्छा होना बहुत जरूरी है। जिनका सिबिल स्कोर अच्छा नहीं होता उनको क्रडिट कार्ड मिलना मुश्किल हो जाता है क्योंकि क्रेडिट स्कोर से पता चलता है कि फाइनेंशियल(How To increase credit score) मामलों में आपका रिकॉर्ड कैसा है। आइए जानते हैं इसे सुधारने के तरीकों के बारे में।

 

 

जानें क्रेडिट स्कोर के बारे में


क्रेडिट स्कोर या फिर सिबिल स्कोर, तीन अंकों की संख्या होती है। ये 300 से लेकर 900 के बीच (How To fix CIBIL score)में होता है और किसी भी शख्स की लोन लेने की योग्यता को दर्शाता है। क्रेडिट स्कोर को क्रेडिट हिस्ट्री के आधार पर चेक किया जाता है।

अच्छा क्रेडिट स्कोर वाले कर सकते हैं आवेदन


जब भी कोई लोन के लिए आवेदन करता है तो लोन देने वाले संस्थान(Business News) आवेदक को लोन देने के जोखिम का मूल्यांकन करने के लिए उसके क्रेडिट स्कोर की जां करता है। एक अच्छा क्रेडिट स्कोर बनाए रखना यानि कि जो 900 के करीब है, एक नए लोन या फिर क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने की मंजूरी की संभावना को बढ़ाता है।

 

आरबीआई की तरफ से 4 क्रेडिट स्कोर 


देश में आरबीआई की तरफ से 4 क्रेडिट स्कोर दिए जाने वाली कंपनी लाइसेंस प्राप्त है। सभी चार क्रेडिट सूचना कंपनियों के पास अपना डेटाबेस होता है। इससे कि वह अपना(Business News updated) क्रेडिट स्कोर दे सकते हैं। क्रेडिट स्कोर ज्यादा जरूरी होता है। क्रेडिट स्कोर को बढ़ाने का एक और भी तरीका है जो कि काफी काम आता है।


 क्या है सिक्योर्ड क्रेडिट 


सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड एक किस्म का क्रेडिट कार्ड होता है, जो कि जमा रकम के आधार पर जारी किया जाता है। ये उन लोगों के लिए अच्छा ऑप्शन है, जिनका क्रेडिट स्कोर बेकार होता है या फिर जिनके पास कोई क्रेडिट हिस्ट्री नहीं है। सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड आपको अपना क्रेडिट स्कोर बनाने और फाइनेंशियल डिसिप्लिन को बनाने में सहायक है।

 

 

 इसके लिए करानी होगी बैंक में एफडी ओपन 
सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड ऐसा क्रेडिट कार्ड है जिसमें खाता ओपन करते समय नकदी की जरूरत होती है। जमा रकम क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता के लिए जोखिम को कम करता है। यदि कार्डधारक अपना बिल नहीं चुकाता है तो जारीकर्ता आपकी जमा रकम से पैसे ले सकता है। जमा रकम के अलावा सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड किसी भी(security card vs credit card) क्रेडिट कार्ड के जैसे काम करते हैं।वहीं सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के लिए इनकम की आवश्यकता नहीं होती है। सिक्योर्ड कार्ड के लिए आपको केवल बैंक में एफडी ओपन करना होगा। एफडी खाता जितना ज्यादा होगा, क्रेडिट कार्ड की लिमिट भी उतनी ही ज्यादा होगी।

क्रेडिट कार्ड के फायदे
वहीं सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के फायदों की बात करें तो ये फौरन अप्रूव हो जाता है। इसके साथ में एनुअल मेंटेनेंस चार्ज भी कम लगता है। एफडी के बदले में आपको सिक्योर रिटर्न मिलता रहेगा। वहीं क्रेडिट स्कोर को मजबूत भी कर सकते हैं। सिबिल स्कोर जनरेट भी कर सकते हैं।

 

 ऐसे ठीक करे क्रेडिट स्कोर 


अगर आप अपना क्रेडिट स्कोर सुधारना चाहते हैं तो इसके लिए आपको क्रेडिट रिपोर्ट(How To increase credit score) की जांच करनी होगी। इसके बाद समय पर बिलों का भुगतान करना है। इसके साथ क्रेडिट का इस्तेमाल कम करें। कहीं भी इस्तेमाल करें तो सुरक्षा के साथ में इस्तेमाल करें।कहीं लोन लिया है तो उसका पता करें। खर्च करने से पहले बजट और स्कोर को बनाने के कुछ और भी तरीके हैं। ऑटो लोन से कार फाइनेंस कराना है। पारंपरिक बैंक से पर्सनल लोन लेना होगा। स्टोर क्रेडिट पर फर्नीचर या फिर इलेक्ट्रिक खरीदारी का पैसा लगाना है।