HBN News Hindi

FD News : ये बैंक दे रहे एफडी पर जबरदस्त रिटर्न, करना होगा इतना निवेश

FD Update News : एफडी में इनवेस्टमेंट करने (fixed deposit)पर अधिकांश बैंक 9 फीसद या इससे कम सालाना रिटर्न दे रहे हैं। लेकिन हम (fd)आपकी जानकारी अपडेट कर देते हैं कि कुछ बैंक ऐसे भी है जो इस समय 9 फीसद से कहीं अधिक सालाना रिटर्न भी दे रहे हैं। आइये जानते हैं कि कौन से बैंक रिटर्न दे रहे हैं और कितना दे रहे हैं। तो आगे पढ़ते हैं। 

 | 
FD News : ये बैंक दे रहे एफडी पर जबरदस्त रिटर्न, करना होगा इतना निवेश

HBN News Hindi (ब्यूरो) : एफडी में इनवेस्टमेंट करने पर कुछ बैंक 9 फीसद से कहीं अधिक (investment plan)सालाना रिटर्न दे रहे हैं, जिनके बारे में आपको मालूम नहीं है। कारण यह है कि एफडी पर निवेश करना लोगों को अधिक भरोसा लगता है ताकि समय पड़ने पर ये फिक्सड रकम उनको काम आ सकें। लेकिन हम आपको आगे बताने जा रहे हैं कि कौन से बैंक है जो एफडी में निवेश करने पर अधिक रिटर्न दे रहे हैं। 

ये बैंक दे रहे हैं अच्छा ब्याज


सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक : यह बैंक 5 साल की निवेश वाली FD पर 9.01 फीसदी का ब्याज दे रहा है। वहीं सीनियर सिटीजन्स के लिए ब्याज दर 9.25 फीसदी है।
यूनिटी स्मॉल फाइनैंस बैंक : यह बैंक 1001 दिन की मैच्योरिटी वाली FD पर सालाना 9 फीसदी की (best bank for return)दर से ब्याज दे रहा है।
उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक : यह बैंक उन FD पर 8.5 फीसदी की ब्याज दे रहा है जिनका मैच्योरिटी पीरियड 15 महीने है।
उत्कर्ष स्मॉल फाइनेंस बैंक : यह बैंक भी 8 फीसदी से ज्यादा ब्याज देने वाले (फिक्स्ड रिटर्न)बैंकों की लिस्ट में शामिल है। यह बैंक 444 दिन की मैच्योरिटी वाली FD पर 8.5 फीसदी की दर से ब्याज दे रहा है।
AU स्मॉल फाइनेंस बैंक : यह बैंक 8 फीसदी की दर से FD पर ब्याज दे रहा है। हालांकि यह ब्याज 15 महीने की मैच्योरिटी पर FD पर है।

इनकम टैक्स में छूट लेकिन यहां देना पड़ता है टैक्स


FD में निवेश करने पर सालाना 1.50 लाख की छूट इनकम टैक्स की धारा 80C के तहत मिल जाती है। वहीं अगर आप छोटी अवधि वाली FD कराते हैं तो उस पर मिली ब्याज पर टैक्स देना होता है। यह ब्याज आपकी सालाना इनकम में जोड़ी जाती है। इस प्रकार इनकम जिस (एफडी)टैक्स स्लैब में आएगी, उसी के अनुसार टैक्स देना होगा। अगर आप 80C का लाभ लेना चाहते हैं और (इन्वेस्टमेंट प्लान)ब्याज पर टैक्स नहीं देना चाहते तो 5 साल की अवधि वाली FD में इन्वेस्ट करें। इसे टैक्स सेविंग FD के तौर पर भी जाना जाता है।

काटा जाता है TDS


FD पर जो ब्याज मिलती है, उस पर TDS भी काटा जाता है। अगर आप एक साल में (रिटर्न के लिए बेस्ट बैंक)40 हजार रुपये से ज्यादा की ब्याज कमाते हैं तो आपको 10 फीसदी TDS देना होगा। यह TDS बैंक द्वारा ही काट लिया जाता है। हालांकि सीनियर सिटीजन्स के मामले में कुछ छूट है। सीनियर सिटीजन्स के लिए यह छूट 50 हजार रुपये तक है।