HBN News Hindi

EPFO का नया अपडेट जारी, अब कर्मचारियाें को नहीं सताएगी पेंशन की टेंशन

EPFO NEWS: सरकार की ओर से पेंशन स्कीम बंद किए जाने के बाद कर्मचारियों को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।अब EPFO ने कर्मचारियों की सुध लेते हुए नया अपडेट जारी किया है।इससे अब कर्मचारियों को (EPFO UPDATE) पेंशन की टेंशन से छुटकारा मिल सकता है। EPFO के इस नए अपडेट के अनुसार कर्मचारियों को हर महिने पेंशन देने का प्रावधान किया गया है। इसके साथ ही ईपीएफओ ने ऐसी स्कीम भी चला रखी है, जो कर्मचारियों को अमीर बना सकती है। आइए विस्तार से जानते हैं कि ईपीएफओ ने इस के लिए क्या नियम और शर्तें निर्धारित की है।

 | 
EPFO का नया अपडेट जारी, अब कर्मचारियाें को नहीं सताएगी पेंशन की टेंशन 

HBN News Hindi (ब्यूरो) : देश के कर्मचारियों के अलावा इस सुविधा का फायदा स्वरोजगार वाले लोग भी उठा सकेंगे। कर्मचारी द्वारा पेंशन में जमा की जाने वाली राशि इस(EPFO Update News) बात पर निर्भर करेगी कि उनकी कमाई कितनी है और कितने साल की नौकरी है। अगर आप भी इस स्कीम का फायदा उठाना चाहते हैं तो आइए जानते हैं कुछ जरूरी बातों के बारे में इस खबर के माध्यम से।

 

जानें इस नई स्कीम का नाम 


 पीएफ का पैसा जमा करने वाली संस्था ईपीएफओ ने (EPFO NEWS Updates)एक ऐसी स्कीम चला रखी है जो हर किसी को अमीर बनाने का काम कर रही है। ईपीएफओ द्वारा शुरू की गई स्कीम का नाम ईपीएस है, जिससे जुड़कर आप अमीर बनने का ख्वाब पूरा कर सकते हैं।

 

रिटायरमेंट के बाद मिलेगा लाभ


ईपीएस एक ऐसी स्कीम है जो लोगों का दिल जीतने का काम कर रहा है। पीएफ कर्मचारियों को बड़ी संख्या में इस स्कीम के बारे में जानकारी नहीं है, जिसे आप बखूबी(EPS scheme)जान सकते हैं जो किसी बढ़िया मौके की तरह है। रिटायर होने(epfo pension rules) के बाद हर महीना पेंशन का लाभ चाहते हैं तो जरूरी बातों को जान लें। इसके लिए आपको ध्यान से पूरा आर्टिकल पढ़ना होगा, जिससे आपका सब कंफ्यूजन खत्म हो जाएगा।

 

ईपीएस स्कीम से जुड़ी जरूरी बातें 


ईपीएफ अकाउंट होल्डर्स के लिए ईपीएफओ की ओर से ईपीएस की शुरुआत की गई थी, जिसके बाद बड़ी संख्या में कर्मचारियों को फायदा मिलना तय है। अगर कर्मचारी 58 साल की उम्र में(Employee Provident Fund Organization) रिटायर होते हैं तो हर महीना पेंशन मिलने का प्रावधान है। ईपीएफओ की योजना (EPFO Pension Rules)का फायदा उन्हीं लोगों को मिलेगा, जिनकी नौकरी मिनिमम 10 साल है।

 

 

हर महीने ईपीएफ की तरफ से जाता है इतना फीसदी हिस्सा


धाकड़ EPS स्कीम (Employee pension scheme)को साल 1995 में लॉन्च करने का काम किया गया था। नियोक्ता/कंपनी और कर्मचारी दोनों ही EPF फंड में कर्मचारी की सैलरी में से 12 प्रतिशत का सामान योगदान होता है। कर्मचारी के योगदान का पूरा हिस्सा ईपीएफ अकाउंट में जाता नियोक्ता/कंपनी के शेयर का 8.33 प्रतिशत ईपीएस और 3.67 प्रतिशत हर महीने ईपीएफ की तरफ जाता है।

 

 

 


हर माह मिलेगा पेंशन का लाभ


पीएप कर्मचारियों को हर महीना पेंशन का फायदा मिलता है जिस मौके को हाथ से बिल्कुल भी ना जाने दें। न्यूनतम पेंशन राशि बढ़ाकर 1000 रुपये करने का फैसला लिया गया है। स्कीम में मासिक पेंशन योग्य सैलरी को 15,000 रुयपे तक बढ़ा दिया गया है। इसके अलावा सदस्य की मौत के बाद अगर पत्नी भी नहीं तो फिर बच्चों को पेंशन का फायदा मिलेगा।बच्चे को मासिक विधवा पेंशन के मूल्य की 75 फीसदी रकम अनाथ पेंशन के तौर पर दी जाती रहेगी।

 

यह सुविधा(epfo pension ka nya update) बड़े से छोटे क्रम में, दो जीवित बच्चों के लिए ही होगा। पेंशन सदस्य की मृत्यु हो जाने पर, परिवार में जीवित बच्चों के लिए मासिक बाल पेंशन का फायदा दिया जाता रहेगा।