HBN News Hindi

Emergency Fund : इस तरह करेंगे सैलरी का इस्तेमाल तो बुरे समय में किसी से नहीं मांगना पड़ेगा उधार, जानिये आपको क्या करना होगा

Salary Saving Tips  : जैसे आप भविष्य के लिए फाइनेंशियल प्लानिंग करते हैं ठीक उसी तरह आपको इमरजेंसी फंड भी बनाना चाहिए , क्योंकि एमरजेंसी फंड बुरे वक्त में काम आता है।अगर आप नौकरी कर रहे हैं और इस फॉर्मूले के तहत अपनी इनकम को मैनेज कर लेते हैं, तो आप (how to create emergency fund)अच्‍छा खासा इमरजेंसी फंड जमा कर सकते हैं। अब सवाल ये है कि इमरजेंसी फंड कितना होना चाहिए और इसे कैसे तैयार करना चाहिए, तो आइए जानतें हैं इसके बारे में डिटेल से।
 | 
Emergency Fund : इस तरह करेंगे सैलरी का इस्तेमाल तो बुरे समय में किसी से नहीं मांगना पड़ेगा उधार, जानिये आपको क्या करना होगा

HBN News Hindi (ब्यूरो) : कई बार हमारे सामने ऐसे मुश्किल हालात आ जाते हैं, जिस दौरान हमें विशेष आर्थिक संकट का सामना करना पड़ जाता है। इसलिए हमें  बचत और निवेश के लिए ऐसी व्यवस्था करनी चाहिए जिससे मुश्किल हालात में किसी भी प्रकार के आर्थिक संकट का सामना ना करना पड़े।आज हम आपको बचत के एक ऐसे फॉर्मूले के बारे में बताने जा रहे हैं जिसको अपनाकर(emergency fund)आप अपनी सैलरी में से अच्छे पैसे बचा सकते हैं और बिना किसी रुकावट के अपने खर्च भी निकाल सकते हैं। यह तरीका अपनाने के बाद आपको अचानक  पैसे की जरुरत पड़ने पर किसी के आगे हाथ नहीं फैलाना पड़ेगा और न ही किसी प्रकार के आर्थिक संकट का सामना करना पड़ेगा। आइए जानते हैं  इस फॉर्मूला के बारे में डिटेल से। 

 

 

गरीब और मिडिल क्लास लोगों के लिए ये फॉर्मूला कारगर

बुरा वक्‍त कभी किसी को बताकर नहीं आता। ऐसे में सबसे पहले पैसों की जरूरत होती है। एक मिडिल क्‍लास परिवार के पास हर वक्‍त इतने पैसे नहीं होते कि वो अचानक से आई मुसीबत को एकदम से संभाल ले। ऐसी स्थिति में या तो लोन लेना पड़ता है या फिर किसी से उधार (saving tips for salaried)लेकर काम चलाना पड़ता है। लेकिन अगर आप अपनी कमाई में एक फॉर्मूला अप्‍लाई कर दें, तो आपको मुश्किल समय में किसी के भी सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं पड़ेगी

  

सैलरी का इतना हिस्सा करना होगा निवेश  

 

ये फॉर्मूला है 67:33 का। इस फॉर्मूले को (emergency fund ko tayar krne ka formula)अप्‍लाई करने के लिए आपको अपनी कमाई के दो हिस्‍से करने होंगे। ये हिस्‍से 67:33 के रेश्‍यो में होंगे। इसमें से 33% वाले हिस्‍से की आपको बचत करके उसे निवेश करना है और इसकी मदद से अपने और परिवार के लिए(financial tips for salaried) इमरजेंसी फंड तैयार करना है। बाकी की रकम को आप अपने हिसाब से खर्च कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए- अगर आप 50,000 रुपए महीने कमाते हैं तो आपको अपनी सैलरी को 33,500 रुपए और 16,500 रुपए के हिस्‍सों में बांटना होगा। इसमें से 16,500 रुपए आपको बचत के तौर पर निकालने होंगे और 33,500 रुपए का इस्‍तेमाल आप अपने हिसाब से करें।

 

 

 

 

मुश्किल समय में आपके पास होना चाहिए इतना पैसा

फाइनेंशियल एक्‍सपर्ट के अनुसार आमतौर पर छह महीने का इमरजेंसी फंड(emergency fund kya hota hai) बनाने के लिए कहा जाता है, लेकिन आपको कम से कम 1 साल के लिए इमरजेंसी फंड बनाना चाहिए। ये फंड आपके एक साल के मासिक खर्च के बराबर होना चाहिए। अगर आपके घर का मासिक खर्च 33 हजार रुपए है, तो आपके पास 3,96,000 रुपए यानी करीब 4 लाख रुपए इमरजेंसी फंड के तौर पर होने चाहिए। मुश्किल समय में आपके पास जितना पैसा हो, उतना आपके लिए अच्‍छा है। 

इतने निवेश पर मिलेगा इतना ब्याज

मान लीजिए कि आपकी सैलरी 50,000 है जिसमें से आप 33 फीसदी के हिसाब से 16,500 रुपए की बचत हर महीने लगातार दो साल(Emergency Fund) तक करते हैं तो दो साल में आपके पास 3,96,000 रुपए इकट्ठे हो जाएंगे। लेकिन अगर आप चाहें तो दो साल में ही इतनी ही बचत से इससे (emergency fund kaise tayar kre)ज्‍यादा फंड भी जमा कर सकते हैं।

इसके लिए आपको बचत की रकम से दो साल की SIP शुरू करनी होगी। अगर आप दो साल तक 16,500 रुपए की SIP चलाते हैं और औसत रिटर्न आपको 12 फीसदी का मिलता है, तो आपको 3,96,000 के निवेश पर 53,513 रुपए ब्‍याज के मिल जाएंगे। इस तरह आप 4,49,513 रुपए जोड़ सकते हैं।

 

इमरजेंसी फंड बनाने पर ज्यादा फोक्स करें 


नौकरी के शुरुआती समय में बचत के पैसों से पहले खुद के लिए इमरजेंसी फंड बनाने पर ज्‍यादा फोकस करें और ज्‍यादा से ज्‍यादा रकम बचत के तौर पर निकालें। अगर आपको नौकरी के दौरान इन्‍सेंटिव मिलता है या किसी तरह का बोनस का पैसा अकाउंट में आता है, तो उसे खर्च करने की बजाय इमरजेंसी फंड में डाल दें। इससे आप अपने फंड को और भी तेजी से जमा कर सकते हैं।