HBN News Hindi

Personal loan बैंकों से लेना पड़ ना जाए भारी, लेने से पहले जान ले ये बातें, रहेंगे फायदे में

Non-Banking Financial Institution : हम आपको बता दें कि पर्सनल लोन लेने के लिए किसी तरह की गिरवी या सुरक्षा के तौर पर पूंजी जमा करने की ज़रूरत नहीं होती है । यह बहुत ही कम दस्तावेज़ जमा करके मिल जाता है। हम में से बहुत से लोग शादी, उच्‍च शिक्षा, मेडिकल इमरजेंसी आदि खर्चें को पूरा करने के लिए पर्सनल लोन लेते हैं। आइए जानते हैं पर्सनल लोन के बारे में और ये हमे कहां से लेना चाहिए।
 | 
Personal loan बैंकों से लेना पड़ ना जाए भारी, लेने से पहले जान ले ये बातें, रहेंगे फायदे में


HBN News Hindi (ब्यूरो ) : बहुत लंबे समय तक, लोन लेने के इच्छुक लोगों के लिए बैंक(Personal loan) ही एकमात्र ऑपशन था ।परंतु पिछले कुछ सालों में नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियां भी इस क्षेत्र में काफी आगे आई है। एनबीएफसी के आने से लोग कम ब्याज में पर्सनल लोन ले सकते हैं।एनबीएफसी से पर्सनल लोन लेना काफी फायदे का सौदा हो सकता है।आइए जानते हैं कि हमे कहां से लोन लेना चाहिए।

 


पर्सनल लोन लेने वालों की संख्या में बढोत्तरी
वैसे तो बड़े-बुजुर्ग हमेशा से कहते आए हैं कि कभी भी कर्ज या लोन(Bank Loan) नहीं लेना चाहिए। मगर आज समय ही कुछ ऐसा आ गया है कि बिना लोन के काम चल पाना आसान नहीं। यही वजह है कि इन दोनों होम लोन से लेकर ऑटो लोन और पर्सनल लोन लेने और देने वालों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। लोग अपनी जरूरत के हिसाब से लोन लेते हैं और फिर उसे पाटते हैं। 

कहां से लोन लेना फायदेमंद होगा 
यदि पर्सनल लोन लेना भी पड़ जाए तो कहां से लेना फायदेमंद होगा? इस बारे में ज्यादातर लोगों को जानकारी नहीं है। आमतौर पर लोग जानते हैं कि बैंक या फिर फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस ही इस तरह के लोन देते हैं, इन कंपनियों को एनबीएफसी (NBFC) भी कहा जाता है। यदि आप भी पर्सनल लो(benefits of NBFC loan)न लेने के बारे में विचार कर रहे हैं तो आपको एक बार एनबीएफसी से ट्राई करना चाहिए। एनबीएफसी से लोन लेने के कई तरह के फायदे हो सकते हैं।


एनबीएफसी से  लोन लेने के फायदे
ज्यादा लोन अमाउंट : यदि आप किसी एनबीएफसी से लोन लेते हैं तो आपको बैंक की तुलना में ज्यादा (NBFC se loan lene ke fayde)लोन मिल सकता है। एनबीएफसी पर्सनल लोन देने में विशेषज्ञ हो सकती है और आपकी आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर लोन का अमाउंट तय कर सकती है।हालांकि लोन का अमाउंट इस बात पर भी निर्भर करता है कि लोन लेने वाले की प्रोफाइल कैसी है। बजाज फाइनेंस 40 लाख रुपये तक का पर्सनल लोन देने का दावा करता है। ज्यादातर एनबीएफसी 25 लाख रुपये तक का लोन देते हैं।

आसान होती है इसकी एप्लीकेशन प्रोसेस 
एनबीएफसी में बैंकों की तुलना में पात्रता का क्राइटेरिया आसान होता है। वे अलग-अलग क्रेडिट प्रोफाइल वाले व्यक्तियों के आवेदनों पर विचार करने के लिए ज्यादा ओपन रहते हैं।सब जानते हैं कि बैंक में लोन लेने का प्रोसेस बहुत लम्बा होता है, मगर एनबीएफसी में यह प्रक्रिया काफी सरल (NBFC se loan lene ka process)होती है। यहां तक की पूरी एप्लीकेशन ऑनलाइन ही प्रोसेस हो जाती है। एनबीएफसी लोन सेंक्शन होने के बाद जल्दी ही अकाउंट में पैसा भी ट्रांसफर कर देते हैं। बैंकों में यह प्रक्रिया कुछ अधिक समय लेती है।


पर्सनल लोन के लिए बहुत कम डॉक्यूमेंटेशन 
यह भी सच है कि एनबीएफसी पर्सनल लोन के लिए भी कम डॉक्यूमेंट्स मांगते हैं। बैंकों में अक्सर काफी पेपर ( NBFC loan lene ke profit)वर्क करना पड़ता है। कई पेपर्स पर साइन करने होते हैं। मगर एनबीएफसी में सारे आवश्यक डॉक्यूमेंट ऑनलाइन भी सब्मिट किए जा सकते हैं। यहां आप केवल पहचान पत्र, एड्रेस प्रूफ, इनकम प्रूफ और बैंक स्टेटमेंट देकर भी काम चला सकते हैं। कम डॉक्यूमेंटेशन के चलते लोन जल्दी मिल सकता है।

 

ब्याज दरों का फायदा
 इंटरेस्ट रेट के मुकाबले में एनबीएफसी भी लगभग उतना ही चार्ज करते हैं, जितना कि बैंक। हालांकि यह लोन लेने (एनबीएफसी लोन)वाले की प्रोफाइल पर भी निर्भर करता है। टाटा कैपिटल 10.99% से 35% सालाना, आदित्य बिड़ला कैपिटल 14.00% से 26.00% तक, बजाज फिनसर्व 11% से 38% तक, मुथूट फाइनेंस 14% से 22% तक का ब्जाय दर ऑफर करते हैं। एनबीएफसी से लोन लेते समय आप ब्याज दरों को लेकर नेगोशिएट भी कर सकते हैं।