HBN News Hindi

Cibil Score : जल्दबाजी में न करें ऐसे लोन का भुगतान, नहीं तो हो जाएगा सिबिल स्कोर खराब

CIBIL Score Update : अगर आपने भी कोई लोन लिया है तो आपको बता दें कि किसी भी लोन धारक के लिए लोन सेटलमेंट एक अच्छा विकल्प नहीं है, क्योंकि इससे आपके सिबिल पर बुरा इफेक्ट होता है। जिस कारण आपको आगे चलकर लोन लेने के लिए आपको परेशानियों का सामना करना पड़ता है । आइए जानते हैं इस अपडेट के बारे में विस्तार से।
 
 | 
Cibil Score : जल्दबाजी में न करें ऐसे लोन का भुगतान, नहीं तो हो जाएगा सिबिल स्कोर खराब

HBN News Hindi (ब्यूरो) : आज के समय मे लोग अक्सर लोन से छुटकारा (get rid of loan) पाने के लिए लोन की अवधि पूरी होने से पहले ही लोन का सेटलमेंट करवा लेते हैं । लेकिन आपको बता दें कि लोन सेटलमेंट आपके लिए खर्चिला के साथ-साथ एक गलत विकल्प भी है।  अगर आपका भी कोई लोन चल रहा है जान लें ये जरूरी सुचना वर्ना आपको भविष्य में लोन लेने में परेशानियों (difficulties in taking loan) का सामना करना पड़ सकता है। आइए जानते हैं इस बारे में खबर में ।

 

Haryana-Punjab Weather Today : पंजाब-हरियाणा में बारिश के साथ गिरेंगे ओले, IMD ने किया अलर्ट जारी

 


फाइनेंशियर स्पेशलिस्ट की राय


दरअसल, लोन सेटलमेंट तब होता है जब कर्जदार आपात स्थिति या धन की कमी के कारण ॠण भुगतान करने में विफल रहता है। ऐसे में वह एकमुश्‍त भुगतान के जरिये अपने कर्ज को खत्‍म करने के लिए मोलभाव करता है। ऐसे कर्ज को जब असामान्‍य तरीके से चुकाया जाता है तो इस खाते के बंद होने सूचना क्रेडिट ब्यूरो को दी जाती है और आपके स्कोर पर निगेटिव असर (Negative impact on score) पड़ता है। स्मार्टकॉइन के सीईओ और सह-संस्थापक रोहित गर्ग बता रहे हैं कि लोन सेटलमेंट से आपको क्‍या नुकसान हो सकता है।

Bank News : आरबीआई के नॉन स्टॉप एक्शन, एक बैंक पर और लगा दी ये पाबंदी

 

लोन सेटलमेंट की सही विधि
कर्ज की ईएमआई के भुगतान में चूक (Default in payment of EMI) करने वाले सभी कर्जदारों को एकमुश्त निपटान विकल्प की पेशकश नहीं की जाती है। इस तरह के निर्णय लेने से पहले सभी कर्जदाता एजेंसियां एक निश्चित प्रक्रिया का पालन करती हैं। सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण यह है कि कंपनियों को पता होना चाहिए कि वास्‍तव में कर्ज लेने वाला अब उसे चुकाने में असमर्थ है।

 

Share Market Update : कमाल के है इन पांच कंपनियों के शेयर, एक साल में पैसा डबल


 
इसकी पुष्टि हो जाने के बाद ही कर्जदार को एकमुश्त निपटान विकल्प (Lump Sum Settlement Option) दिया जाता है। ॠण देने वाली कंपनी एक ही भुगतान में ऋण का निपटान करने के लिए सहमत होती है, जो कि बकाया ऋण राशि से कम होता है और इस दौरान ब्याज और जुर्माने को बट्टे खाते में डाल दिया जाता है। यह निपटान राशि कर्जदार की चुकाने की क्षमता और स्थिति की गंभीरता का आकलन करने के बाद तय की जाती है।


 

UP Gold-Silver Price Today : सोने के रेट टॉप लेवल पर, चौंका देगा एक ग्राम का भाव

 

लोन सेटलमेंट का सिबिल स्कोर पर प्रभाव


यदि आप कर्जदाता कंपनी के प्रस्ताव को स्वीकार करते हैं और लोन सेटलमेंट करने का निर्णय लेते हैं, तो कंपनी आपके खाते को बंद करके क्रेडिट ब्यूरो को सेटलमेंट (Settlement to credit bureau) की जानकारी देती है। चूंकि, यह प्रक्रिया सामान्‍य तौर पर चुकाए जाने वाले कर्ज से पूरी तरह अलग होती है, लिहाजा इसका आपके क्रेडिट पर गलत असर पड़ता है और क्रेडिट ब्‍यूरो आपके स्‍कोर को घटा देते हैं।

 

UP Weather Update : यूपी में गर्मी से बेहाल होगा लोगों का जीना, अब रात में भी छूटेगा पसीना, जानिये ताजा अपडेट


इन तरीकों से बचें लोन सेटलमेंट से


कम भुगतान राशि के कारण पहली बार में तो लोन सेटलमेंट आकर्षक विकल्प लगता है, लेकिन क्रेडिट स्कोर पर इसके नकारात्मक प्रभाव को देखते हुए इससे बचना चाहिए। वरना आपको भविष्‍य में कर्ज या क्रेडिट कार्ड मिलने में परेशानी आ सकती है। किसी भी कर्जधारक के लिए लोन सेटलमेंट (loan settlement news 2024) कराना आखिरी विकल्‍प होना चाहिए। अगर आप मौजूदा कर्ज को चुकाने में असमर्थ हैं तो किसी अन्‍य विकल्‍प के जरिये धन का जुगाड़ करें। संभव हो तो एक और कर्ज लेकर निपटारा करें और खुद के लिए थोड़ा समय दें।

Aaj Ka Rashifal, 20 अप्रैल : आज इन राशि वालों वालों की होगी बल्ले-बल्ले और इन्हें करना पड़ सकता है परेशानियों का सामना

ऐसे करें लोन का भुगतान


-अपनी बचत और निवेश का उपयोग कर कर्ज चुकाएं।
-परिवार और दोस्तों से पैसे उधार ले सकते हैं।
-ऋण देने वाली एजेंसी के साथ अपने कर्ज का पुनर्गठन करने, ब्याज दर को कम करने या पुनर्भुगतान अवधि बढ़ाने के लिए बातचीत करें।
-बकाया राशि को पूरा चुकाने के लिए कम ब्याज वाला पर्सनल लोन ले सकते हैं।