HBN News Hindi

Business News : विदेशों में महंगे दामों में बेच सकते हैं सिर के बाल, कुछ दिन बाद हो जाओगे मालामाल

Hair Business update : क्या आप जानते हैं कि आपके सिर के बाल (Hair on the head)कितने कीमती है। अगर आपको यह पता लग जाए कि इनकी कीमत लाखों में है। तो आप उसे कूड़ेदान में फेंकना भूल जाओगे। अक्सर देखा जाता है कि महिलाएं जानकारी के अभाव में झड़ते बालों को कूड़ेदान में फेंक देते हैं। उन्हें ये नहीं पता होता है कि ये बाल ही उन्हें मालामाल कर सकते हैं। तो आइये जानते हैं कि कैसे ये बाल आपको मालामाल कर सकते हैं। 
 | 
Business News : विदेशों में मंहगें दाम में बेच सकते हैं अपने सिर के बाल, कुछ दिन बाद हो जाओगे मालामाल

HBN News Hindi (ब्यूरो) : अगर आपके बाल झड़ रहे हैं और आप हमेशा की तरह आज भी कूड़ेदान (trash box)में फेंक रहे हैं तो जरा रूक जाइये। अगर आपको इनकी कीमत सुनेंगे तो आप सब भुल जाओगे। जी हां हम आपके सिर के बालों की बात कर रहे हैं। विदेशों (foreign countries)में ये मंहगें दामों में बिकते हैं और लोग मुहं बोले दाम देकर भी जाते हैं। आइये हम आपको बताने जा रहे हैं कि बालों का भी व्यापार होता है। 

 

 

कैसे शुरु हुआ ये बिजनेस 


वैसे एक निश्चित समय बताना मुश्किल है कि आखिर बालों का बिजनेस (Business)कब से शुरू हुआ। लेकिन, कई रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 1840 से बालों के बिजनेस होने के प्रमाण मिलते हैं। उस दौरान फ्रांस (France)के कंट्री फेयर में बाल खरीदे जाते थे और कई मेलों में लड़कियां अपने बाल नीलाम भी करती थीं। इसके बाद धीरे-धीरे ये बिजनेस बढ़ने लगा और यूरोप में बाल की जरूरत पड़ने लगी। इसके बाद कई देशों की लड़कियों ने बाल बेचना शुरू कर दिया। इसके बाद कई देश इस व्यापार में शामिल हो गए।

भारत में बालों का कारोबार?- 


भारत में करोड़ों रुपये का बालों का कारोबार है। भारत में बालों का बिजनेस (hair business)आजादी के पहले से चला आ रहा है और भारतीय महिलाओं के बालों को पहले भी पसंद किया जाता था। आज भी भारतीय महिलाओं के लंबे बालों को काफी पसंद किया जाता है और इनकी कीमत भी काफी ज्यादा होती है। भारत से चीन, मलेशिया, थाईलैंड, बांग्लादेश, श्रीलंका, मालदीव, बर्मा में भेजे जाते हैं। भारत में मंदिरों में दान किए गए बालों को भी बेचा जाता है और बालों के बिजनेस में बालों का काफी बड़ा हिस्सा मंदिरों से ही प्राप्त होता है।

करते क्या हैं इन बालों का


 मंदिर से बाल एक फैक्ट्री (factory)तक आते हैं। सबसे पहले इन्हें सुलझाया जाता है, क्योंकि हर गुच्छा उलझा हुआ होता है। इसके बाद इन्हें सुलझा करके बंडल बनाए जाते हैं। इसके बाद इन्हें धोया जाता है और उसके बाद सुखाया जाता है। इसके बाद इन बंडल को विदेशों में बेचा जाता है। विदेश में इन नैचुरल बालों का बड़ा कारोबार (business)है और इनसे विग बनाई जाती है। इन विग को कई रईस लोग महंगे दाम में खरीदते हैं और इनसे काफी बड़ा व्यापार चलता रहता है।


क्या हैं रेट


- डीडब्ल्यू की रिपोर्ट के अनुसार, अगर बालों की कीमत की बात करें तो यह बालों की साइज (Size)और क्वालिटी पर निर्भर करती हैं। नॉन कैमेकिल वाले बालों की कीमत ज्यादा होती है। इसमें औसत तौर पर 7-8 हजार रुपये किलो के हिसाब से बिल बेचे जाते हैं, लेकिन कई लंबे बालों को 25 हजार रुपये प्रति किलो के हिसाब से भी बेच दिया जाता है। दरअसल, इन बालों की विग को सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है। माना जाता है कि दुनियाभर में बालों का 22 हजार 500 करोड़ का कुल कारोबार है और हर साल यह बढ़ता जा रहा है।