HBN News Hindi

Business News : हर बिजनेस को शुरू करने में जीएसटी नंबर की नहीं होती है जरूरत, जानें ये नियम

GST Update News : आपने सुना होगा कि किसी भी बिजनेस (GST )को शुरू करने में जीएसटी नंबर की जरूरत होती है। लेकिन यह सच नहीं है। कुछ ऐसे बिजनेस (GST News)भी होते हैं जिसमें जीएसटी नंबर की जरूरत न के बराबर है। बिना जीएसटी भी आप कुछ बिजनेस शुरू कर सकते हैं। तो आइये जानते हैं कि जीएसटी नंबर कब जरूरत होती है। 

 | 
Business News : हर बिजनेस को शुरू करने में जीएसटी नंबर की नहीं होती है जरूरत, जानें ये नियम

HBN News Hindi (ब्यूरो) : जीएसटी नंबर को लेकर कई प्रकार की जानकारी आमजन के (GST is not Compulsory for Every Business)पास होती है लेकिन दुरुस्त जानकारी हर किसी के पास नहीं है। लोगों की धारणा है कि हर बिजनेस को शुरू करने में जीएसटी नंबर की नितांत (GST number)आवश्यकता होती है लेकिन यह सच नहीं है। कुछ ऐसे बिजनेस भी है, जिसमें जीएसटी नंबर जरूरी नहीं है। तो आइये जानते हैं कि इस मामले को विस्तार से। 

यह है जीएसटी 


यह एक तरीके का इनडायरेक्ट टैक्स है, जो ग्राहकों से कारोबारियों (how we take GST number)के जरिए लिया जाता है। ऐसे कारोबारी जिनका सालाना कारोबार 40 लाख रुपये से ज्यादा है, उन्हें GST नंबर लेना होता है। यह नंबर GST पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन (GST number क्या होता है)कराने के बाद मिलता है। रजिस्ट्रेशन के लिए ऑफिशियल वेबसाइट gst.gov.in पर जाएं।

कब जरूरी है GST नंबर लेना


GST नंबर लेना उन्हीं स्टार्टअप या बिजनेस के लिए जरूरी होता है जिनका सालाना करोबार 40 लाख रुपये (Goods and Services Tax)से ज्यादा होता है। हालांकि कुछ राज्यों जैसे अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम, नागालैंड, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड आदि में यह सीमा 20 लाख रुपये है। 


वहीं अगर आप ई-कॉमर्स वेबसाइट जैसे फ्लिपकार्ट, अमेजन आदि के जरिए अपना बिजनेस करना चाहते हैं तो भी आपको GST नंबर लेना होगा। GST रजिस्ट्रेशन पूरी तरह फ्री है। अगर आप किसी एक्सपर्ट या CA के जरिए रजिस्ट्रेशन कराते हैं तो इसके लिए वे कुछ फीस ले सकते हैं।

ये डॉक्यूमेंट हैं जरूरी


आधार कार्ड
PAN
कैंसिल चेक
अगर खुद की जगह है तो बैनामे की कॉपी और अगर किराये की है तो मालिक की तरफ से जारी एनओसी।
अगर पार्टनरशिप में फर्म है तो पार्टनरशिप डीड, कंपनी सर्टिफिकेट
पासपोर्ट साइज फोटो।


GST रजिस्ट्रेशन के फायदे (Benefits of GST registration)


आपका टर्नओवर अगर 40 लाख रुपये से कम है तब भी आप बिजनेस के लिए GST रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।GST रजिस्ट्रेशन कराने से कस्टमर को (GST नंबर)भी इस बात का पक्का भरोसा हो जाता है कि वह जिस कंपनी से कोई प्रोडेक्ट ले रहा है या कोई दूसरी सुविधा ले रहा है, उसका रिकॉर्ड किसी न किसी रूप में सरकार के पास मौजूद है।

अगर वह शख्स बाद में अपनी कंपनी का विस्तार करता है और इसके लिए पंजीकरण करवाना चाहे तो इसमें भी काफी आसानी हो जाती है। GST रजिस्ट्रेशन होने के बाद सरकार की तरफ से बिजनेस के लिए लोन बिजनेस ट्रेनिंग आदि की सुविधाएं मिल जाती हैं।