HBN News Hindi

Bank News : बैंक डूब गया तो कहीं आपका न निकल जाएं दिवालिया!

Bank News update : बैंक (Bank)में अगर आपकी राशि है दुर्भाग्यवश, कहीं बैंक किसी भी कारणवश डूब जाता है तो आपकी राशि (Amount)का क्या होगा। ये सवाल हर किसी के मन को कौंधता है। आइये हम बताते हैं कि क्या होगा।
 
 | 
Bank News : बैंक डूब गया तो कहीं आपका न निकल जाएं दिवालिया!

HBN News Hindi ( ब्यूरो) : क्या आपने सोचा है कि अगर किसी कारणवश, बैंक (Bank)डूब जाता है तो आपकी राशि का कौन रखवाला होगा। हर किसी के मन में यह सवाल जरूर आता है लेकिन अधिकांश लोगों को सही जवाब न मिलने पर वे गलत धारणाओं में चलने पर ही विश्वास रखते हैं। क्योंकि उनका मानना अक्सर यहीं होता है कि बैंक में पैसे (money)रखे होने पर आप बिल्कुल सेफ है। लेकिन सही जानकारी दी जाए तो ऐसा कुछ नहीं है। सरकार के तय मानकों के हिसाब से आपको ऐसी कंडीशन में तय की गई लिमिट राशि ही मिलती है। आइये इस मामले को विस्तार से जानने की कोशिश करते हैँ। 

बैंक डूबने पर कितना पैसा मिलेगा वापस 


दरअसल, ऐसी स्थिति से निपटने के लिए बैंक ग्राहकों (customers)की जमा पूंजी पर इंश्योरेंस कवर देते हैं जो 5 लाख रुपये का होता है। यह राशि पहले 1 लाख रुपये की थी। यह कवर डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन (DICGC) के तहत दिया जाता है जो रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) की पूर्ण स्वमित्व वाली कंपनी है। बैंक के डूबने पर मिलने वाले पैसों को लेकर लोगों के मन में कई तरह के सवाल हैं। बैंक तो एक अकाउंट पर 5 लाख रुपये देता है, लेकिन अगर एक ही बैंक के अलग-अलग ब्रांच में यदि खाता है तब कितने पैसे मिलेंगे? यहां जानिए ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब।

किन बैंकों में लागू होगी योजना


इस योजना के तहत भारत के सभी कॉ‍मर्शियल बैंकों (विदेशी बैंक, ग्रामीण बैंक, सहकारी बैंक) को शामिल किया गया है। यानी इनमें 5 लाख रुपए के इंश्‍योरेंस (insurance)की गारंटी मिलती है। लेकिन सहकारी समीतियां इस दायरे से बाहर हैं। लेकिन DICGC के तहत मिलने वाले इंश्‍योरेंस पर अधिकतम पांच लाख रुपये की राशि ही मिलेगी, जिसमें मूलधन (Principal amount)और ब्याज सभी शामिल होंगे।

कई ब्रांचों में खाता और डूब जाए तो बैंक


अगर आपने अपने नाम से एक ही बैंक के कई ब्रांचों (branches)में खाता खोला है तो ऐसे में सभी खातों को एक ही माना जाएगा। इन सबकी राश‍ि जोड़ी जाएगी और सबको मिलाकर अगर ये राशि 5 लाख से कम है, तो जितनी जमा रकम है, उतनी ही राशि मिलेगी। अगर 5 लाख से ज्‍यादा रकम जमा है, तो सिर्फ 5 लाख ही मिलेंगे। चाहे आपकी जमा रकम इससे कितनी ही ज्‍यादा क्‍यों न हो।

FD और अन्‍य स्‍कीम्‍स में क्या है नियम


1 लाख की FD पर मिलेंगे 1,30,975 रुपये, जानिये कितना लगेगा समय
अगर आपने बैंक में FD कराई है और सेविंग्स अकाउंट (Savings Account) या रेकरिंग अकाउंट या किसी और में भी पैसा लगाया है, तो सभी राशियों को जोड़कर आपको अधिकतम 5 लाख रुपये की राशि दी जाएगी। यदि सभी राशियों को जोड़ने के बाद 5 लाख रुपये या उससे कम होते हैं तो जितनी राशि जमा होगी उतनी ही दी जाएगी। लेकिन यदि राशि 5 लाख रुपये से अधिक होगी तो आपको नुकसान उठाना पड़ेगा।

2 बैंकों में खाता और दोनों ही डूब जाएं तो?


काश ऐसी नौबत कभी न आए, लेकिन जानकारी के लिए इन बातों को भी जानना जरूरी है। यदि आपने दो अलग-अलग बैंकों में खाता खोल रखा है और दोनों ही बैंक डूब जाते हैं तो इस स्थिति में दोनों बैंकों से 5-5 लाख रुपये की राशि मिल सकती है। ध्‍यान रहे कि इंश्‍योरेंस (insurance) की अधिकतम सीमा 5 लाख रुपये है। अगर जमा रकम 5 लाख से कम है तो सिर्फ वही मिलेगी जो जमा है।