HBN News Hindi

8th Pay Commission को लेकर सरकार ने दिया बड़ा अपडेट, जानिए किस दिन से हो जाएगा लागू

8th Pay Commission Update: कर्मचारियों के लिए 8वें वेतन आयोग की मांग तेज हो गई है। कर्मचारी संगठन चाहते हैं कि सरकार उनके वेतन, भत्ते और पेंशन की जल्‍द समीक्षा करने को जल्‍द आठवां वेतन आयोग का गठन किया जा चुका है। इसलिए उम्‍मीद की जा रही है कि साल 2026 में आठवें वेतन आयोग का गठन होगा। आइए जानते  हैं आखिर कितना बढ़ सकता है वेतन।
 | 
8th Pay Commission को लेकर सरकार ने दिया बड़ा अपडेट, जानिए किस दिन से हो जाएगा लागू

HBN News Hindi (ब्यूरो) : केंद्रीय कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। जल्द ही सरकारी कर्मचारियों के वेतन (salaries of government employees) से लेकर डीए, एचआरए जैसी सभी सुविधाओं में भारी बढ़ातरी होने की संभावना जताई जा रही है। आपको बता दें कि सातवें आयोग जारी होने के बाद अब 8वां वेतन आयोग भारी डिमांड (8th Pay Commission news) में चल रही है। जिसे लेकर अलग-अलग संभावनाएं जताई जा रही है। आइए जानते हैं इस अपडेट के बारे में डिटेल से।

 


8वें वेतन आयोग की मांग में तेजी के कारण


केंद्र सरकार के 1 करोड़ से ज्‍यादा कर्मचारियों के लिए 8वें वेतन आयोग (8th Pay Commission) की मांग तेज हो गई है। कर्मचारी संगठन चाहते हैं कि सरकार उनके वेतन, भत्ते और पेंशन की जल्‍द समीक्षा करने को जल्‍द आठवां वेतन आयोग का गठन करे। अब नेशनल काउंसिल (स्टाफ साइड, जॉइंट कंसल्टेटिव मशीनरी फॉर सेंट्रल गवर्नमेंट एम्प्लॉईज) के सचिव शिव गोपाल मिश्रा ने सरकार को पत्र लिखकर यह मांग दोहराई है। 

 

 

8वें वेतन आयोग से होंगे ये फायदे


वेतन आयोग का गठन हर दस साल में होता है। इसलिए उम्‍मीद की जा रही है कि साल 2026 में आठवें वेतन आयोग (8th Pay Commission Update) का गठन होगा। आठवें वेतन आयोग में कर्मचारियों की बेसिक सैलरी में 25 से 35 फीसदी इजाफा होने का अनुमान है। अगर ऐसा होता है तो न्‍यूनतम बेसिक सैलरी 26 हजार रुपये महीना के आसपास हो जाएगी। फिटमेंट फेक्‍टर को भी 2.57 से बढाकर 3.68 किए जाने की उम्‍मीद है।

 

 

 

8वें वेतन आयोग के लिए मुद्रास्फीति बना एक कारण


वेतन आयोग सरकार की ओर से नियुक्त एक निकाय है। यह केंद्र सरकार के कर्मचारियों के वेतन ढांचे, भत्तों और लाभों की समीक्षा कर उनमें बदलाव की सिफारिश करता है। यह मुद्रास्फीति जैसे बाहरी कारकों पर विचार करते हुए आवश्यक समायोजन का प्रस्ताव करता है। हर 10 साल में यह आयोग बैठक करता है। 28 फरवरी, 2014 को तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) ने 7वें वेतन आयोग का गठन किया था। आयोग ने 19 नवंबर, 2015 को अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपी और इसकी सिफारिशों को 1 जनवरी, 2016 से लागू किया गया था।


कब लागू हो सकता है 8वें वेतन आयोग

 

वेतन आयोग का गठन हमारे देश में 10 साल के अंतराल पर होता आया है। अनुमान है कि आठवें वेतन आयोग का गठन 1 जनवरी, 2026 तक (8th Pay Commission ko kab laagu kiya jaaega) किया जाएगा। हालांकि, अभी तक केंद्र की ओर से कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है। मोदी सरकार के तीसरी बार सत्ता में आने के साथ ही 1 करोड़ से ज्‍यादा केंद्रीय कर्मचारियों में आठवें वेतन आयोग को लेकर उत्सुकता है बढ गई है।

 


इन कारणों से 8वें वेतन आयोग का जारी होना है जरुरी

जॉइंट कंसल्टेटिव मशीनरी फॉर सेंट्रल गवर्नमेंट एम्प्लॉईज के सचिव शिव गोपाल मिश्रा ने कैबिनेट सचिव को लिखे पत्र में मौजूदा आर्थिक परिस्थितियों को देखते हुए नए वेतन आयोग (New Pay Commission) का तत्‍काल गठन करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि 2015 के बाद से सरकारी राजस्व दोगुना हो गया है। टैक्‍स कलेक्‍शन में भी बढ़ोतरी हुई है। लेकिन, केंद्र सरकार के कर्मचारियों के वेतन में महंगाई के हिसाब से वृद्धि नहीं हुई है।


इन भत्तों में किया जाएगा संशोधन


कोरोना महामारी के बाद से सरकार की कमाई और महंगाई, दोनों में काफी वृद्धि हुई है। महंगाई ने कर्मचारियों और पेंशनभोगियो की क्रय शक्ति को काफी कम कर दिया है। इसलिए अब जल्‍द से जल्‍द आठवें वेतन आयोग (what are the govt. decision of 8th Pay Commission) का गठन कर कर्मचारियों के वेतन-भत्‍तों को संशोधित किया जाए।


सरकार से इन चीजों को लेकर चल रही मांग


मिश्रा ने कहा कि पिछले एक दशक में केंद्र सरकार के कर्मचारियों की संख्या में लगभग 10 लाख की कमी आई है। इससे मौजूदा कर्मचारियों पर काम (dearness allowance) का बोझ बढ़ गया है। पत्र में वेतन मैट्रिक्स की समय-समय पर समीक्षा करने की भी सिफारिश की गई है। इसके लिए पूरे 10 साल का इंतजार नहीं करना चाहिए।