HBN News Hindi

UPSC Exam Tips : कोचिंग की नहीं जरूरत, घर बैठे ही ये किताबें करा देंगी UPSC का एग्जाम क्लियर

UPSC Exam :यूपीएससी के एग्जाम को सबसे कठिन एग्जाम में से एक माना जाता है। इसकी तैयारी के लिए स्टूडेंट महंगे-महंगे इंस्टीट्यूट्स में कोचिंग लेते हैं। कई महीनों तक तैयारी करते हैं। ऐसे में उनका काफी पैसा भी लग जाता है। लेकिन आपको यहां पर बता दें कि कुछ किताबें ही इस एग्जाम में आपकी तैयारी के लिए काफी हैं। आप सेल्फ स्टडी से इस एग्जाम को क्लियर कर सकते हैं। आइये जानते हैं पूरी डिटेल।

 | 
UPSC Exam Tips :  कोचिंग की नहीं जरूरत, घर बैठे ही ये किताबें करा देंगी UPSC का एग्जाम क्लियर

HBN News Hindi (ब्यूरो): यह तो आप जानते ही होंगे कि किसी भी एग्जाम के लिए कोचिंग (sarkari naukri)और तैयारी करना आज के समय में बहुत जरूरी है। इसका सबसे बड़ा कारण बढ़ती प्रतिस्पर्धा है। ऐसे में यह सब काफी खर्चीला भी पड़ता है। कई उदाहरण ऐसे भी हैं कि कई स्टूडेंट सेल्फ स्टडी (sarkari naukri ki Taiyari)के दम पर यूपीएससी जैसे एग्जाम में अव्वल रहे हैं। कंपीटिशन एग्जाम की तैयारी में सबसे महत्वपूर्ण स्टूडेंट की समझ और किताबों का चयन (UPSC ke liye kon si books padhe)अहम होता है। आइये आपको बताएं कुछ ऐसी चुनिंदा बुक्स जो UPSC के एग्जाम की घर बैठे ही तैयारी (घर बैठै UPSC की तैयारी कैसे करें)करने में मददगार साबित होंगी।

 

 

 

एनसीईआरटी की ये किताबें सबसे ज्यादा सहायक


यदि आप यूपीएससी प्रीलिम्स परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, तो एनसीईआरटी पुस्तकों से तैयारी करने की सलाह दी जाती है। अभ्यर्थियों को कक्षा 9 से 12 तक की एनसीईआरटी पुस्तकें पढ़नी चाहिए।


नौवीं कक्षा की बुक्स भी उपयोगी  


सामाजिक विज्ञान के लिए एनसीईआरटी की लोकतांत्रिक राजनीति, समकालीन भारत भाग 1, अर्थशास्त्र भारत और समकालीन विकास भाग 1।

 

कक्षा 10 की ये पुस्तकें भी पढ़ें


 सामाजिक विज्ञान के लिए भारत और समकालीन विकास भाग-2, आर्थिक विकास को समझना, समकालीन भारत, लोकतांत्रिक राजनीति की किताबें पढ़ना सहायक सिद्ध होगा।

12वीं कक्षा की इन किताबों से मिलेगा UPSC परीक्षा संबंधी ज्ञान


अर्थशास्त्र (सूक्ष्मअर्थशास्त्र, समष्टि अर्थशास्त्र, भारत के लोग और अर्थशास्त्र), भूगोल (मानव भूगोल के मूल सिद्धांत, भूगोल में व्यावहारिक कार्य), राजनीति (समकालीन विश्व राजनीति, स्वतंत्र भारत में राजनीति भाग-2), इतिहास (कुछ विषय) भारतीय इतिहास भाग-1, भारतीय इतिहास (Books for UPSC) के कुछ विषय भाग-2, भारतीय इतिहास के कुछ विषय भाग-3), समाजशास्त्र (भारतीय समाज, भारत में सामाजिक परिवर्तन एवं विकास)।


यह होती है UPSC में चयन की प्रक्रिया


UPSC की परीक्षा में चयनित होने वालों को साक्षात्कार (Offline Preparing For UPSC Exam)के लिए बुलाया जाता है। साक्षात्कार के बाद अंतिम मेरिट सूची तैयार की जाती है, जिसमें चयनित उम्मीदवारों को सफल माना जाता है। हाल ही में यूपीएससी परीक्षा में 327वीं रैंक हासिल करने वाले आयुष श्रीवास्तव ने यूपीएससी प्री की तैयारी से जुड़ी किताबों के बारे में कुछ जानकारी दी। आप यह भी जानते हैं कि यूपीएससी की तैयारी कैसे करें।