HBN News Hindi

UP School Timming News : यूपी में सरकारी स्कूलों की टाइमिंग बदलने के चक्कर में एक्ट ही बदल डाला

School Timming Update : इस राज्य के सरकारी स्कूलों की (School Timing)टाइमिंग बदल चुकी है। अब नए नियम के मुताबिक सरकारी स्कूलों में अब (government schools)अतिरिक्त एक घंटे और कक्षाएं लगेगी। क्योंकि नई शिक्षा नीति के तहत न्यूनतम 1200 घंटे कक्षा लगानी विद्यार्थियों के लिए जरूरी होगी। आइये बताते हैं कि कौन सा राज्य है जहां पर सरकारी स्कूलों का टाइमिंग बदला है। 

 | 
UP School Timming News : यूपी में सरकारी स्कूलों की टाइमिंग बदलने के चक्कर में एक्ट ही बदल डाला

HBN News Hindi (ब्यूरो) : इस राज्य के सरकारी स्कूलों की टाइमिंग बदल चुकी है। नई शिक्षा नीति के (UP Board)तहत सरकार ने एक्ट में संशोधन कर टाइमिंग में फेर-बदल किया है। नए नियम के मुताबिक, अब प्रदेश के सरकारी स्कूलों में अतिरिक्त एक घंटे और पढ़ाई होगी। सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि यह नया नियम प्रदेश के (amendment in Intermediate Act 1921)सरकारी स्कूलों पर लागू होगा, जोकि सितंबर तक मान्य रहेगा। सरकार ने इंटरमीडिएट एक्ट 1921 का संशोधन कर सरकारी स्कूलों की समय-सारिणी में बदलाव किया है। तो आइये जानते हैं कि कौन सा प्रदेश है जहां के सरकारी स्कूलों की टाइमिंग बदल चुकी है। 

यूपी के है सरकारी स्कूल 


UP School Timing: यूपी के सरकारी स्कूलों में एक बड़ा बदलाव किया गया है। अब यूपी बोर्ड से संबद्ध स्कूलों में शिक्षण (UP Intermediate Act)की न्यूनतम अवधि में बदलाव किया गया है। प्रदेश भर के 27871 माध्यमिक स्कूलों में अब एक घंटे और पढ़ाई होगी। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत शिक्षण की न्यूनतम अवधि सुनिश्चित करने के लिए यह बदलाव किया गया है। इसके लिए इंटरमीडिएट एजुकेशन एक्ट 1921 में संशोधन किया गया है।

विशेष सचिव शासन उमेश चंद्र की ओर से नई समय सारणी महानिदेशक को भेजी गई है। अब सभी (UP School Timing)माध्यमिक स्कूल 1 अप्रैल से 30 सितंबर तक सुबह 7:30 बजे से 1:30 बजे तक संचालित होंगे। एक अक्टूबर से 31 मार्च तक सुबह 9:30 बजे से 3:30 बजे तक संचालित होंगे। इससे पहले 1 अप्रैल से 30 सितंबर तक सुबह 7:30 से 12:30 बजे तक स्कूल संचालित होते थे, जबकि एक अक्टूबर से 31 मार्च तक सुबह 8:30 से 2:50 तक स्कूलों का टाइम निर्धारित था।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत 220 शिक्षण दिवस में न्यूनतम 1200 घंटे (UP School)पढ़ाई का संचालन अनिवार्य है। मौजूदा समय में 1100 घंटे का शिक्षण कार्य, पाठ्य सहगामी और पाठ्येत्तर क्रियाकलाप हो रहे थे। 1200 घंटे का शिक्षण कार्य करने के लिए इंटरमीडिएट एजुकेशन एक्ट 1921 में संशोधन करना पड़ा है।