HBN News Hindi

UP के इन जिलों को आपस में जोड़ेगा ये एक्सप्रेस वे, अब बचेगा आधे से ज्यादा समय

UP News : एक अपडेट के अनुसार बता दें कि उत्तर प्रदेश के नौ जिलों को आपस में जोड़ने वाला नया एक्सप्रेस वे (UP new expressway)तैयार किया जा रहा है। यह करीब 400 किलोमीटर लंबा होगा और एक से दूसरे शहर में मिनटों में जा सकेंगे। यहां पर कई हाईवे का निर्माण भी जारी है। आइये जानते हैं इस बारे में पूरी डिटेल इस खबर के माध्यम से। 
 | 
UP के इन जिलों को आपस में जोड़ेगा ये एक्सप्रेस वे, अब बचेगा आधे से ज्यादा समय

HBN News Hindi (ब्यूरो) : Ghaziabad-Kanpur Expressway : इस समय पर सरकार बेहतर कनेक्टिविटी के लिए सड़क निर्माण पर जोर दे रही है। उत्तर प्रदेश से दिल्ली-एनसीआर के कई शेयरों की बेहतर कनेक्टिविटी के लिए यूपी में नए एक्सप्रेसवे और हाईवे का निर्माण (Construction of expressways and highways) किया जा रहा है। इनमें गंगा एक्सप्रेसवे (Ganga Express Way), दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे, दिल्ली-सहारनपुर-देहरादून एक्सप्रेसवे शामिल हैं। इसी कड़ी में एक और नाम आता है गाजियाबाद-कानपुर एक्सप्रेसवे का, 380 किलोमीटर की लंबाई वाला गाजियाबाद-कानपुर एक्सप्रेसवे, उत्तर प्रदेश के 9 जिलों को जोड़ने वाला एक महत्वपूर्ण रोड प्रोजेक्ट है।

 

 Bank Holiday on 19 april, 2024 : आज इन राज्यों के कई शहरों में नहीं खुलेंगे बैंक, चुनाव के कारण रहेगी छुट्‌टी


औद्योगिक केंद्र होंगे स्थापित


खास बात है कि इस एक्सप्रेसवे के बनने से ना सिर्फ दोनों शहरों के बीच यात्रा की अवधि कम होगी बल्कि यहां औद्योगिक केंद्र भी स्थापित किए जाएंगे। यह एक ग्रीनफील्‍ड एक्सप्रेसवे होगा। शुरुआत में यह 4 लेन एक्सप्रेसवे होगा और इसे 6 लेन तक विस्तारित किया जा सकेगा। आइये आपको बताते हैं इस एक्सप्रेसवे के बनने से गाजियाबाद से लेकर कानपुर तक उत्तर प्रदेश के कौन-कौन-से जिले कवर होंगे।

 

 Delhi-NCR Weather Today : दिल्ली में बारिश के बाद होगा मौसम कूल, तेज आंधी का अलर्ट जारी

 

ये जिले जुड़ेंगे आपस में इस एक्सप्रेस वे के जरिये


गाजियाबाद-कानपुर एक्सप्रेसवे (Ghaziabad-Kanpur Expressway) उत्तर प्रदेश के 9 जिलों से होकर गुजरने वाला है। इसका उत्तरी छोर NH-9 (गाजियाबाद-हापुड़ हाइवे) से जुड़ा होगा, जबकि दक्षिणी छोर 62.7 किमी लंबे कानपुर-लखनऊ एक्सप्रेसवे के साथ जुड़ जाएगा। इसके अतिरिक्त, यह ग्रीनफील्ड कॉरिडोर गाजियाबाद में मौजूदा मेरठ एक्सप्रेसवे को हापुड से जोड़ेगा।

 

-गाज़ियाबाद
-हापुड़
-बुलन्दशहर
-अलीगढ
-कासगंज
-फर्रुखाबाद
-कन्नौज
-उन्नाव
-कानपुर

 

Petrol Pump Business से एक दिन की कमाई कर देगी मालामाल, इतने की करनी होगी टोटल इन्वेस्टमेंट

 

गाजियाबाद से कानपुर पहुंच सकेंगे तीन-चार घंटे में


गाजियाबाद-कानपुर ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे (Ghaziabad-Kanpur Greenfield Expressway)के तैयार होने से दिल्ली-एनसीआर से यूपी के कई शहरों में कनेक्टिविटी और बेहतर हो जाएगी। सबसे खास बात है कि इस एक्सप्रेसवे पर गाजियाबाद से कानपुर तक का सफर महज साढ़े 3 घंटे में पूरा हो जाएगा। फिलहाल NH-91 गाजियाबाद और कानपुर को जोड़ता है लेकिन इसकी लंबाई 468 किलोमीटर है और इससे सफर तय करने में 8 घंटे का समय लगता है।


छोटे शहरों व गांवों पर यह पड़ेगा असर


इस एक्सप्रेसवे का प्रभाव छोटे शहरों और गांवों तक भी होगा। हाउसिंग डॉटकॉम की रिपोर्ट के अनुसार, कन्नौज, फ़तेहपुर, बुलन्दशहर और अन्य इलाकों में रियल एस्टेट सेक्टर में वृद्धि देखने को मिलेगी। यहां आवासीय और व्यावसायिक भूमि दोनों की मांग बढ़ सकती है।

Chanakya Niti : पति से संतुष्ट न होने पर महिला करती है ऐसे इशारे, ऐसे समझें फटाक से


2026 तक हो जाएगा बनकर तैयार


भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (National Highway Authority of India) ने इस एक्सप्रेसवे के लिए जरूरी भूमि का 90 फीसदी अधिग्रहण पूरा कर लिया है। उम्मीद जताई जा रही है कि गाजियाबाद-कानपुर एक्सप्रेसवे 2026 तक बनकर तैयार हो जाएगा।