HBN News Hindi

Secure password Tips : पासवर्ड बनाते समय रखें इन बातों का विशेष ध्यान, कोई नहीं कर सकता चेंज

Password Tips And Tricks: देशभर में हर दिन तरह-तरह की साइबर क्राइम की खबरें सुनने को मिलती है। कई लोगों के पर्सनल डेटा लीक होने की खबरें आती है। स्कैमर्स हर दिन नए-नए तरीके लोगों को ठगने के लिए निकालते हैं आपको बता दें कि आज के समय में आपके हर ऑनलाइन अकाउंट का पासवर्ड अलग-अलग होना चाहिए, तो चलिए आपको बताते हैं पासवर्ड बनाने के तरीको के बारे में।
 
 | 
Secure password Tips : पासवर्ड बनाते समय रखें इन बातों का विशेष ध्यान, कोई नहीं कर सकता चेंज

HBN News Hindi (ब्यूरो):भारत में पिछले कुछ सालों से हर रोज इंटरनेट( internet users  ke liye password security app) यूजर्स की संख्या में तेजी से बढ़ती जा रही है नई जनरेशन के इंटरनेट पर आने के बाद से ही हैकिंग की समस्या में भी बढ़ोतरी हुई है। आपको बता दें कि सेफ्टी के लिए आपको पासवर्ड पर सबसे ज्यादा ध्यान देने कर जरूरत है। आज हम आपको जरूरी टिप्स के बारें में बताएंगे(password security ke jruri tips) जिससे आप अपने पासवर्ड को सिक्योर कर सकते है आइए जानते है उन जरूरी टिप्स के बारे में। 

 

यूनिक और मजबूत पासवर्ड
 

आज की डिजिटल दुनिया में(password security app) लगभग हर जरूरी चीज ऑनलाइन है। हमारी जिंदगी से जुड़े हर पहलू का एक हिस्सा ऑनलाइन मौजूद रहता है और इस प्रत्येक हिस्से की चौकीदारी करता है कोई ना कोई (My passwords)यूनिक पासवर्ड ये अपने अल्फान्यूमेरिक और स्पेशल कैरेक्टर्स के कॉम्बिनेशन से हमारी ऑनलाइन दुनिया की एक ऐसी चाबी बनता है, जिसकी काट निकालना आम तौर पर मुश्किल होता है।


हर ऑनलाइन अकाउंट का पासवर्ड होना चाहिए अलग


आज के दौर में आपके हर ऑनलाइन अकाउंट का पासवर्ड अलग-अलग होना चाहिए। एक ही(Password manager) पासवर्ड होगा तो हैक होने पर आपके सभी ऑनलाइन अकाउंट्स पर खतरा मंडरा जाएगा। लेकिन कई सारे अलग-अलग पासवर्ड को याद रखने में भी दिक्कत होती है। तो ऐसे में आप पासवर्ड मैनेजर्स वाले एप्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

 

 

आइए जानते हैं है पासवर्ड मैनेजर एप के बारे में


पासवर्ड मैनेजर एक खास तरह के एप्स होते हैं, जिनको सिर्फ और सिर्फ पासवर्ड को सुरक्षित(पासवर्ड सुरक्षा ऐप) तरीके से स्टोर और मैनेज करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। पासवर्ड मैनेजर एप एक तरह से डिजिटल वॉल्ट (डिजिटल तिजोरी) की तरह होता है, जो पासवर्ड्स को एनक्रिप्टेड फॉर्म में सेव करके रखता है। इस एप में आपके सारे पासवर्ड्स स्टोर रहते हैं। और जब भी आपको कहीं पर लॉग-इन करने की जरूरत पड़ती है तो पासवर्ड मैनेजर एप्स वह आपके पासवर्ड को ऑटोफिल भी कर देते हैं, यानी आपको हर जगह पासवर्ड टाइप करने की भी जरूरत नहीं पड़ती।
 


यूजर्स के लिए कुछ जरूरी बाते


पासवर्ड मैनेजर एप्स पासवर्ड को स्टोर करने के साथ- साथ पासवर्ड जनरेशन में भी मदद करते हैं। ये एप्स आपके लिए यूनिक और काफी स्ट्रॉन्ग(पासवर्ड सुरक्षा ऐप) पावडर्स जनरेट करके देते हैं जो कि अल्फाबेट्स, नेबर्स और स्पेशल कैरेक्टर्स के रैंडम कॉम्बिनेशन होते हैं। ऐसे रैंडम पासवर्ड्स को तोड़ पाना बहुत मुश्किल होता है।

 

जबरदस्त है इन एप्स के सेक्युरिटी लेवल 

इन एप्स के सेक्युरिटी लेवल काफी तगड़े होते हैं। अपने डिवाइस पर किसी भी पासवर्ड मैनेजर एप को(Password Manager Google) एक्सेस करने के लिए आपको एक मास्टर कोड की जरूरत होती है, जो आमतौर पर आपके बायोमेट्रिक्स होते हैं, यानी आपके फिंगरप्रिंट्स और फेस स्कैन, यानी आपके अलावा और कोई भी इसको एक्सेस नहीं कर सकता। ये पासवर्ड मैनेजर्स डेस्कटॉप, मोबाइल सब पर चलते हैं और ये क्रॉस प्लेटफॉर्म काम्पैटिबिलिटी (सभी प्लेटफॉर्म, ब्राउजर, ऑपरेटिंग सिस्टम में काम करने वाला) के साथ आते हैं।