HBN News Hindi

School News : ये कैसे पीएमश्री स्कूल, जिनमें सभी सुविधाएं अनुकूल लेकिन सीबीएसई रहा इनको भूल

School News update : सीबीएसई (CBSE)की तर्ज पर सरकार ने कुछ सरकारी स्कूलों को पीएमश्री स्कूल का दर्जा दिया है ताकि नाममात्र फीस (fees)में बच्चे अंग्रेजी माध्यम सहित सभी सुविधाओं का लाभ लेकर अपने सपने पूरे कर सकते हैं। इसी उद्देश्य से पीएमश्री स्कूलों की स्थापना की गई थी। 

 | 
School News : ये कैसे पीएमश्री स्कूल, जिनमें सभी सुविधाएं अनुकूल लेकिन सीबीएसई रहा इनको भूल

HBN News Hindi (ब्यूरो) : गरीब बच्चों को नाममात्र फीस में प्राइवेट स्कूलों (private schools)की फीलिंग देने वाले पीएमश्री स्कूलों (PMShree Schools)को शुरु किया गया था ताकि ये विद्यार्थी अपना करियर संवारकर अपने सपनों को उड़ान दे सकें। सरकार ने तेजी से कदम भी उठाए, जिनमें पीएमश्री स्कूलों में वे तमाम सुविधाएं (facilities)शुरू की गई, जोकि प्राइवेट स्कूलों में होती है। लेकिन सीबीएसई ने इन स्कूलों से मुंह मोड़ा हुआ है। कारण यह है कि सीबीएसई ने अभी तक इन पीएमश्री स्कूलों को मान्यता नहीं दी है। आइये कारण जानते हैं कि क्यूं सीबीएसई ने इस स्कूलों को मान्यता नहीं दी। 

कुछ स्कूलों को नाम तक नहीं बदला


हालांकि मॉडल संस्कृति स्कूलों के साथ ही पीएमश्री स्कूलों में भी सीबीएसई पैटर्न के आधार पर परीक्षाएं कराने की घोषणा की थी। दो साल पहले सीबीएसई से संबद्ध राजकीय मॉडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों में बीते दो सत्र से सीबीएसई (CBSE)पैटर्न से परीक्षा संचालित हो चुकी हैं, लेकिन इन स्कूलों का अभी नाम ही बदला गया है।

पोर्टल पर जानकारी नहीं है अपलोड


गुरुग्राम (Gurugram)में चार सरकारी स्कूलों को बीते सत्र में ही पीएमश्री स्कूल का दर्जा मिला था। ऐसे में उम्मीद थी कि नए शैक्षणिक सत्र 2024-25 में सीबीएसई से संबद्ध स्कूल होने के बाद उसी पैटर्न से दाखिला (admission)प्रक्रिया होगी और परीक्षाएं आयोजित कराई जाएंगी, लेकिन अभी तक इन स्कूलों की पूरी जानकारी सीबीएसई के पोर्टल पर अपलोड नहीं की जा सकी हैं। जिस कारण पीएमश्री दर्जा प्राप्त स्कूलों में सीबीएसई पैटर्न के अनुसार दाखिले नहीं हो रहे। इतना ही नहीं नए चार स्कूलों को भी पीएमश्री करने की घोषणा हो चुकी है, इन स्कूलों में भी कोई कार्य शुरू नहीं हो पाया है।

ये बोल रहे अधिकारी


असिस्टेंट प्रॉजेक्ट कोऑर्डिनेटर (Assistant Project Coordinator)सत्यनारायण यादव ने बताया कि स्कूल में सीबीएसई पैटर्न से दाखिले संबंधी कोई दिशा-निर्देश जारी नहीं हुए हैं। सीबीएसई पोर्टल पर स्कूल संबंधी सभी जानकारी अपलोड होने के बाद ही मान्यता मिल सकेगी। पीएमश्री सीनियर सेकंडरी स्कूलों के लिए इस सत्र में कई नई सुविधाएं शुरू की जा रही हैं। जिसमें-


- छात्रों के अलग से आई कार्ड बनाए जाएंगे।
- सिविल वर्क, फायर सेफ्टी को बेहतर किया जाएगा।
- छात्रों की नॉलेज बढ़ाने के लिए स्कूल में अलग-अलग न्यूज पेपर और मैगजीन भी लगाई जाएंगी।
- इन स्कूलों के छात्रों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए लाखों रुपये का बजट जारी किया है।
- इन स्कूलों में लैब, लाइब्रेरी, फायर सिस्टम, प्लेग्राउंड, ड्यूल डेस्क, साइंस लैब, टीचिंग लर्निंग मटेरियल को अपडेट किया जा रहा है।


 

पीएमश्री स्कूल योजना के तहत अब तक इन स्कूलों को पीएमश्री स्कूल का दर्जा मिला है-


गुड़गांव खंड में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल चकरपुर
सोहना खंड में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल घामडोज अलीपुर
पटौदी खंड में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल शेरपुर
फर्रुखनगर खंड में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल कारोला
गुड़गांव खंड के राजकीय मॉडल वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल सेक्टर-4/7
फर्रुखनगर खंड के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल भांगरोला
पटौदी खंड के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल भोड़ाकलां
सोहना खंड के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल दोहला


 

PM Shri Schools: एफीलिएशन के लिए डॉक्यूमेंट पूरे नहीं


सीबीएसई की मान्यता को लेकर रजिस्ट्रेशन (registration)के लिए प्रमाण पत्र अनिवार्य रूप से हासिल करने होंगे। जिसमें स्कूल के इंचार्ज पीडब्ल्यूडी डिपार्टमेंट से स्ट्रक्चर सेफ्टी, फायर से फायर सेफ्टी, हेल्थ से सेनेटरी कंडीशन और पब्लिक हेल्थ से सुरक्षित पेयजल की उपलब्धता के बारे में प्रमाण पत्र लेने होंगे।


 

- पीएमश्री स्कूलों में नए सत्र की दाखिला (admission)प्रक्रिया को लेकर अभी कोई निर्देश जारी नहीं हुए हैं। इन स्कूलों में फैसिलिटी बढ़ाने के लिए पिछले सत्र में एक करोड़ तीन लाख की राशि जारी की गई थी। अभी तक जिले के 8 स्कूलों को पीएम श्री का दर्जा मिल चुका है। आगे की प्रक्रिया निदेशालय द्वारा ही तय की जाएगी। 
 

- मुनिराम, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी