HBN News Hindi

Toll Tax देने वालों के लिए राहत, अभी इस चीज पर रहेगी रोक

NHAI यानी भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को चुनाव आयोग (election Commission)की तरफ से हिदायत दी गई है कि नई टोल टैक्स दरें लोकसभा चुनावों के बाद लागू किया जाए। इस कारण से अभी इस पर रोक रहेगी। हालांकि एक अप्रैल से नई टोल दरें लागू करने के लिए एनएचएआई की ओर से पूर्व में कहा गया है, लेकिन चुनाव आयोग के निर्देशों के बाद यह झटका लगने से बच गया।

 | 
Toll Tax देने वालों के लिए राहत, अभी इस चीज पर रहेगी रोक

HBN News Hindi (ब्यूरो) : नए वित्त वर्ष में टोल टैक्स चुकाने को लेकर बड़ा अपडेट आया है। दरअसल, 1 अप्रैल से टोल टैक्स बढ़ाने का ऐलान किया गया था। अब भारत के चुनाव आयोग (ईसीआई) ने NHAI (National Highway Authority of India) से कहा है कि वह राजमार्गों पर नयी टोल दरों को लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections)के बाद लागू करे। आमतौर पर देश के ज्यादातर टोल राजमार्गों पर दरों को एक अप्रैल से बढ़ाया जाता है, लेकिन चुनाव आयोग ने कहा कि नयी दरें लोकसभा चुनाव के बाद ही लागू होनी चाहिए। इससे लाखों लोगों को फौरी तौर पर राहत मिल गई है। अब आम चुनाव के बाद बढ़ी टोल दर से झटका लगेगा। 

 

E-way Bill अब अनिवार्य, जान लें इसे ऑनलाइन निकालने का तरीका

 

एनएचएआई ने यह कहा


दस्तावेजों के मुताबिक, ईसीआई ने एनएचएआई (भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण) से टोल शुल्क वृद्धि (toll fee increase)को टालने के लिए कहा है। ईसीआई ने इस संबंध में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री के एक पत्र के जवाब में यह बात कही। ऐसा माना जा रहा था कि टोल शुल्क में (increase in toll fee)औसत पांच प्रतिशत की बढ़ोतरी होगी।

 

एनएचएआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित मुद्रास्फीति में बदलाव के आधार पर हर साल टोल शुल्क में परिवर्तन किया जाता है। देश में 18वीं लोकसभा के लिए चुनाव 19 अप्रैल को शुरू होंगे और एक जून तक चलेंगे। मतों की गिनती चार जून को होगी। 

 

अंतरराज्यीय e-Way Bill System लागू, कर्नाटक प्रदेश में यह व्यवस्था लागू करने वाला सबसे पहला राज्य

1 अप्रैल से यह नियम लागू


भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (National Highway Authority of India rules) का ‘एक वाहन, एक फास्टैग’ मानदंड सोमवार से लागू हो गया है। इसका उद्देश्य कई वाहनों के लिए एक फास्टैग के इस्तेमाल या एक वाहन से कई फास्टैग संबद्ध करने को हतोत्साहित करना है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अब एक वाहन पर एक से अधिक फास्टैग नहीं लगाए जा सकेंगे।

Wheat Rate 2024 : 2700 रुपये क्विंटल बिकेगी गेहूं! केंद्र सरकार ने एमएसपी में की बढ़ोतरी

उन्होंने कहा, ‘‘जिन लोगों के पास एक वाहन के लिए कई Fastag हैं, वे एक अप्रैल से उनका उपयोग नहीं कर पाएंगे।’’ सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई एनएचएआई ने paytm Fastag का इस्तेमाल करने वाले वाहन मालिकों की समस्याओं को देखते हुए ‘एक वाहन, एक फास्टैग’ पहल के अनुपालन की समयसीमा 31 मार्च तक बढ़ा दी थी।