HBN News Hindi

India में मंदी की आशंका 0, जबकि अमेरिका में 45 प्रतिशत का है यह आंकड़ा, भारत के लिए बड़ी उपलब्धि

Indian Economy : आने वाले समय में मंदी की मार कई देशों में हो सकती है लेकिन भारत में नहीं होगी। एक रिपार्ट के अनुसार बता दें कि अमरिका जैसे देश मंदी की चपेट में आ सकते हैं जबकि भारत पर इसका कोई असर नहीं होगा। इसका कारण है कि भारत कई क्षेत्रों में प्रगति की ओर है। आइये जानते हैं इस बारे में विस्तार से।

 | 
India में मंदी की आशंका 0, जबकि अमेरिका में 45 प्रतिशत का है यह आंकड़ा, भारत के लिए बड़ी उपलब्धि

HBN News Hindi (ब्यूरो) : Indian Economy News : भारतीय इकॉनमी लगातार बड़े देशों में सबसे तेजी से ग्रोथ कर रही इकॉनमी बनी हुई है। (Fear of recession in America)यही कारण है कि आने वाले समय में भारतीय अर्थव्यवस्था का भविष्य उज्जवल है। फ्रैंकलिन टेम्पलटन ने वर्ल्डवाइड रिसेशन प्रोबेबिलिटी जारी की है। (Worldwide recession probability) इसमें एक साल में देशों के लिए मंदी का अनुमान बताया गया है। इन आंकड़ों से पता चलता है कि दुनिया के कई विकसित देशों में मंदी की आहट है। इन देशों में अमेरिका, यूके, जर्मनी और फ्रांस जैसे देश भी शामिल है।

 

लोगों को खूब पसंद आ रही Mahindra की ये SUV, धड़ाधड़ हो रही बिक्री

 

जर्मनी को हो सकती सबसे बड़ी समस्या


अगले एक साल में मंदी की सबसे अधिक आशंका जर्मनी के लिए है। (Fear of recession in Germany)जर्मनी के लिए रिसेशन प्रोबेबिलिटी 73 फीसदी है। दूसरे नंबर पर इटली है। इटली के लिए रिसेशन प्रोबेबिलिटी 65 फीसदी है। तीसरा स्थान यूके है।(Fear of recession in UK) यूके के लिए रिसेशन प्रोबेबिलिटी 53 फीसदी है। चौथा नंबर न्यूजीलैंड का है। न्यूजीलैंड के लिए मंदी की आशंका 50 फीसदी है। कनाडा के लिए भी यह अनुमान 50 फीसदी है।

 

Haryanvi Dance : 'हल्का दुपट्‌टा तेरा मुंह दिखे' गाने पर काले सूट में दिव्यांगिनी राठौड़ का डांस छाया तो इस लड़की ने भी गजब का बदन मटकाया

 

अमेरिका में 45% डर बना है मंदी का


Fear of recession in America : इस लिस्ट में अमेरिका छठे स्थान पर है। अमेरिका के लिए मंदी की आशंका 45 फीसदी है। ऑस्ट्रेलिया के लिए यह अनुमान 40 फीसदी है। फ्रांस के लिए मंदी की आशंका 35 फीसदी है। साउथ अफ्रीका के लिए यह अनुमान 30 फीसदी है। मैक्सिको में मंदी की आशंका 25 फीसदी है। स्विट्जरलैंड में मंदी की आशंका 20 फीसदी है। स्पेन के लिए यह अनुमान 15 फीसदी है। जापान, साउथ कोरिया और चीन के लिए भी यह अनुमान 15 फीसदी है।

SBI News : 21 से 58 साल वालों को SBI दे रहा 20 लाख का लोन, प्रोसेसिंग फीस भी नहीं ली जा रही

भारत के लिए मौज


Indian economy news : भारत की बात करें, तो यह इस लिस्ट में आखिरी स्थान पर है। भारत के लिए अगले एक साल में मंदी का अनुमान 0 फीसदी है। यानी भारत में मंदी आने की कोई आशंका नहीं है (There is no possibility of recession in India)। लिस्ट में भारत से ऊपर इंडोनेशिया है, जहां मंदी की आशंका 2 फीसदी है। सऊदी अरब में मंदी की आशंका 10 फीसदी है। ब्राजील में भी मंदी का अनुमान 10 फीसदी है।