HBN News Hindi

RBI का बड़ा एक्शन, कर दिया इस बैंक का लाइसेंस रद्द

RBI Cancel License : बैंक उपभोक्ताओं व वित्तीय संबंधित प्रक्रियाओं को (RBI)मजबूत करने के लिए आरबीआई लगातार बैंकों पर कार्रवाई करता जा रहा है। अब तो आरबीआई ने (भारतीय रिजर्व बैंक)इसी कड़ी में एक्शन लेते हुए एक बैंक का लाइसेंस तक रद्द कर दिया है। आइये जानते हैं कि आरबीआई ने किस बैंक पर इतना बड़ा एक्शन लिया है और किन नियमों का उल्लंघन करने पर यह कार्रवाई की है। 

 | 
RBI का बड़ा एक्शन, कर दिया इस बैंक का लाइसेंस रद्द

HBN News Hindi (ब्यूरो) : नियमों की अवेहलना होने पर आरबीआई का बैंकों के प्रति सख्त रवैया बरकरार है। इसी कड़ी में आरबीआई ने एक (Certificate of Registration - CoR)बैंक का लाइसेंस तक रद्द कर दिया है। इस बैंक का नाम है NBFC - Acemoney (India) Limited, जिसका आरबीआई ने लाइसेंस तक रद्द कर दिया है। RBI ने इस बैंक को गलत लैंडिंग प्रोसेस में लिप्त पाया, जिसके कारण ये कार्रवाई की गई है। Acemoney को अलग-अलग ऐप्स के जरिए ग्राहकों से अधिक ब्याज लेने का दोषी पाया गया है। इसके साथ ही इसे ग्राहकों की निजी जानकारी लीक का भी दोषी पाया गया है।

क्यों कैंसिल हुआ लाइसेंस?


Acemoney को मुख्य रूप से आउटसोर्स किए जा रही फाइनेंशियल सर्विस में RBI की गाइडलाइंस के उल्लंघन (फाइनेंशियल सर्विस)का दोषी पाया गया है। खासकर Acemoney अलग-अलग थर्ड पार्टी ऐप्स के जरिए डिजिटल कर्ज बांट रही थी, जिसे लेकर इसका लाइसेंस कैंसिल किया गया है। RBI ने ये कदम RBI Act, 1934 की धारा 45-IA (6) के तहत उठाया है।

2017 में रजिस्टर्ड हुई थी Acemoney


एसेमनी (इंडिया) लिमिटेड को (आरबीआई ने किस बैंक का लाइसेंस रद्द किया है )21 फरवरी, 2017 तो सीओआर नंबर एन14.03358 के तहत रजिस्टर्ड किया गया था। हालांकि, ये ActLoan, AgMoney, NiceCash और अन्य दूसरे ऐप्स के जरिए भी लोन बांटते हुए पाया गया था।

ग्राहकों का डेटा हो रहा था लीक


RBI ने एक प्रेस नोट में बताया कि कंपनी ग्राहकों से डिजिटल लोन पर अधिक ब्याज दर वसूल रही थी, इसके साथ ही उनकी निजी जानकारी को (RBI)भी लीक कर रही थी, जो कि उनकी सुरक्षा को लेकर एक बड़ा उल्लंघन है। कस्टमर्स (आरबीआई ने बैंक का लाइसेंस रद्द किया)की सुरक्षा और फाइनेंशियल सिस्टम को मजबूत बनाए रखने के लिए RBI ने Acemoney का लाइसेंस रद्द किया है।