HBN News Hindi

Kalyani Group के चेयरमैन बाबा कल्याणी व बहन के बच्चों में संपत्ति विवाद बढ़ा, पुणे में केस दायर

Kalyani Group News :बड़े कारोबारियों में शुमार बाबा कल्याणी व उनकी बहन सुगंधा में अब संपत्ति का मामला गहरा गया है। इस मामले में सुगंधा के बच्चों ने केस भी ठोक दिया है। वे अब संपत्ति में हिस्सा मांग रहे हैं। यह केस पुणे की जिला अदालत में दायर किया गया है। आखिर इस विवाद की जड़ क्या है, यह जानने के लिए पढ़ें यह  पूरी खबर।

 | 
Kalyani Group के चेयरमैन बाबा कल्याणी व बहन के बच्चों में संपत्ति विवाद बढ़ा, पुणे में केस दायर

HBN News Hindi (ब्यूरो) : देश के बड़े कारोबारी घरानों में से एक Kalyani Group पारिवारिक विवाद में फंस गया है। ग्रुप की कंपनी भारत फोर्ज के चेयरमैन बाबा कल्याणी (Baba Kalyani, Chairman of Company Bharat Forge)की बहन सुंगधा हीरेमथ के बच्चे Sameer and Pallavi ने पुणे की जिला अदालत में 20 मार्च को ग्रुप की संपत्ति में अधिकार का दावा किया है। मौजूदा समय में ग्रुप एक हिंदू अविभाजित परिवार यानी एचयूएफ है। बता दें,समीर और पल्लवी के केस दायर करने से काफी समय पहले कल्याणी ग्रुप में पारिवारिक संपत्ति को लेकर विवाद शुरू हो गया था आइए जानते हैं। 

 

 Political News : दिल्ली के सीएम की पत्नी सुनीता केजरीवाल आज करेगी बड़ा खुलासा! 12 बजे मीड‍िया से होगी रूबरू


दो पक्ष शामिल हैं इस विवाद में


कल्याणी ग्रुप में  पारिवारिक संपत्ति विवाद में दो पक्ष है। पहला पक्ष है बाबा कल्याणी है और दूसरा है उनकी बहन सुंगधा हीरेमथ और उनके पति जयदेव हीरेमथ (Sungdha Hiremath and her husband Jaydev Hiremath)। दोनों की बीच विवाद की मुख्य वजह ग्रुप की कंपनी हिकाल लिमिटेड (Hikal Limited)है, जो कि फार्मा और chemical products में कारोबार करती है। दोनों पक्षों की इस कंपनी में हिस्सेदारी है। 

 

LIC ने टैक्स भुगतान में की कंजूसी, अब 178 करोड़ का मिला नोटिस, ग्राहकों पर यह पड़ेगा असर

 

पिछले साल  सुगंधा और बाबा कल्याणी की माताजी के गुजरने के बाद (After the passing of Baba Kalyani's mother), सुगंधा और उनके पति की ओर से एक केस बंबई उच्च न्यायालय में  दायर किया गया था। इसमें  1994 में हुए पारिवारिक समझौते को लागू करने और कंपनी हिकाल का नियंत्रण हासिल करने की अपील की गई थी। 

 

RBI का ऐलान, 30-31 को भी खुलेंगे बैंक, ये काम पूरे करवा सकेंगे ग्राहक

 

अदालतों में मुकदमों के लिए बाबा को जिम्मेदार ठहराया 


मुकदमे में Sameer and Pallavi ने संयुक्त परिवार में मतभेदों और उसके बाद विभिन्न अदालतों में मुकदमों के लिए बाबा के ‘‘अधिनायकवादी और असहयोगी रवैये’’ को जिम्मेदार ठहराया है। इस नए घटनाक्रम पर भारत फोर्ज के प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि याचिकाकर्ता दावों के जरिये बाबा कल्याणी की छवि को ‘‘खराब’’ करना चाहते हैं और कहा कि वे बचाव पक्ष से संपर्क करने से पहले मीडिया के पास गए। 

 

Bank Loan लेने वाले ग्राहकों के लिए जरुरी अपडेट, जल्द ही बदल जाएंगे लोन EMI के नियम

समीर तथा पल्लवी हैं coparcener


प्रवक्ता ने कहा, ‘‘ जब भी हमारे खिलाफ मुकदमा दायर किया जाएगा, हम अदालत के समक्ष अपनी स्थिति का बचाव करेंगे, जिसमें कल्याणी, उनके परिवार और समूह की छवि खराब करने के लिए उचित नागरिक/आपराधिक मानहानि की कार्यवाही शुरू करना भी शामिल है।’’ याचिका में कहा गया कि बाबा कल्याणी की बहन के बच्चे समीर तथा पल्लवी एक सहदायिक (coparcener) के बच्चे होने के कारण सहदायिक बन जाते हैं और ‘‘इसलिए कल्याणी परिवार एचयूएफ की सभी संयुक्त पारिवारिक संपत्तियों में उनका अधिकार और हित है।’’