HBN News Hindi

Driving License के लिए अब नहीं काटने पड़ेंगे सरकारी कार्यालयों के चक्कर, प्राइवेट सेंटर पर ही बन जाएगी बात

New Driving License Rules : ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने वालों के लिए काम की खबर है। आपको बता दें कि अगले महीने से ड्राइविंग लाइसेंस से जुड़े नए नियम लागू हो रहे हैं। जिसके तहत अब आपको ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आरटीओ जाकर टेस्ट देने की जरूरत नही हैं। आइए जानते हैं इस पूरी खबर के बारे में।
 
 | 
Driving License के लिए अब नहीं काटने पड़ेंगे सरकारी कार्यालयों के चक्कर, प्राइवेट सेंटर पर ही बन जाएगी बात


HBN News Hindi (ब्यूरो ) : ड्राइविंग लाइसेंस को लेकरअगले महीने से नए नियम लागू होने वाले हैं जिसमें अब किसी ऑथोराइज्ड ड्राइविंग स्कूल से भी ड्राइविंग लाइसेंस जारी हो जाएंगे, जिसके लिए पहले आरटीओ ऑफिस जाकर टेस्ट देने पड़ते थे। यह मुश्किल जल्द ही खत्म होने वाली है। इसके नियम 1(Driving License) जून से प्रभावी हो जाएंगे। आइए जानते हैं इन नए नियमों के क्या-क्या प्रावधान हैं ।

 


इसका उद्देश्य लाइसेंसिंग प्रक्रिया को तेज करना
ड्राइविंग लाइसेंस पाने के लिए नियमों में रोड ट्रांसपोर्ट एवं हाईवे मंत्रालय (New Driving License Rules)ने कई बड़े बदलाव किए हैं। ये बदलाव 1 जून से प्रभावी हो जाएंगे। नए नियमों को लाने का उद्देश्य लाइसेंसिंग प्रक्रिया को तेज करने और रोड सेफ्टी को बेहतर करना है। और आम आदमी के लिए व्यवस्था में क्या परिवर्तन आएगा

आरटीओ की जगह होंगे टेस्ट निजी सेंटर्स पर 
नए नियमों के तहत 1 जून से ड्राइविंग लाइसेंस पाने के लिए टेस्ट(New DL Rules) अब सरकारी आरटीओ की जगह निजी सेंटर्स पर होंगे। इन निजी संस्थानों को टेस्ट कराने और लाइसेंस एलिजिबिलिटी के लिए सर्टिफिकेट जारी करने की मान्यता दी जाएगी। सड़क मंत्रालय का मानना है कि इस कदम से लाइसेंस पाने की प्रक्रिया आसान होगी और सरकारी आरटीओ पर इंतजार का समय होगा।

 


प्रदूषण पर पड़ने वाले असर को कम करना
प्रदूषण कम करने के लिए सड़क परिवहन मंत्रालय लगभग 9 लाख सरकारी गाड़ियों को रिटायर करने और कार एमिशन नियमों को(Driving license ke liye new  Rules) और सख्त करनेकी तैयारी भी की है। बता दें कि ये मानक एक विस्तृत स्ट्रैटेजी का हिस्सा हैं जिसे एयर क्वालिटी को बेहतर करने और देश की सड़कों पर दौड़ रही गाड़ियों की ओर से पर्यावरण पर पड़ने वाले असर को कम करने के लिए तैयार किया गया है।

 

जुर्माने में होंगे ये अहम बदलाव
निर्धारित रफ्तार से अधिक गति में वाहन चलाने पर जुर्माना 1000 से 2000 रुपये के बीच होगा। एक नया (Minor driving fines)नियम लाया गया है कि अगर किसी नाबालिग को ड्राइविंग करते पाया गया तो 25,0000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। गाड़ी के मालिक के रजिस्ट्रेशन कार्ड को कैंसिल कर दिया जाएगा और नाबालिग को तब तक डीएल जारी नहीं होगा जब तक उसकी उम्र 25 साल नहीं हो जाती।

 


डॉक्यूमेंटेशन प्रोसेस हुआ आसान
इसके साथ ही मंत्रालय ने नया लाइसेंस पाने के लिए डॉक्यूमेंट्स को भी आसान कर दिया है। ड्राइविंग लाइसेंस सर्टिफिकेट देने की ( Driving license ka documentation process )मान्यता पाने के लिए निजी ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर्स के पास दोपहिया वाहनों के लिए कम से कम 1 एकड़ और चारपहिया वाहनों के लिए 2 एकड़ जमीन होनी जरूरी होगी। बता दें कि ऐसे संस्थानों के पास अच्छी टेस्टिंग फैसिलिटी उपलब्ध कराना अनिवार्य रहेगा।