HBN News Hindi

Last Place On Earth : जानिए कहां है पृथ्वी का अंतिम छोर, जहां केवल 40 मिनट होती है रात

Last country on earth :वैसे तो आप लोग जानते ही हैं दोस्तों की पृथ्वी गोल है। इसके प्रत्येक हिस्से में कोई न कोई (Last place) देश बसा हुआ है। लेकिन क्या आपने कभी यह सोचा है कि इस दुनिया का अतिंम छोर किधर है, या फिर यह कहे कि एक ऐसा देश जहां देश के साथ  दुनिया की सीमा  का भी अंत होता है। आइए जानते  हैं उस देश के बारे में विस्तार से। 
 | 
Last Place On Earth : जानिए कहां है पृथ्वी का अंतिम छोर, जहां केवल 40 मिनट होती है रात 

HBN News Hindi (ब्यूरो) :  जैसा कि आपको पता ही हैं कि पृथ्वी बहुत बड़ी है। इसमें बहुत (Last country on earth) सारे छोटे से लेकर बड़े देश शामिल है। । हर देश अपने आप में  बेहद खूबसूरत है, और अपनी ऐतिहासिक इमारतों के लिए जाना जाता है। आपने दुनिया के सबसे अमीर देशों के नाम और सबसे गरीब देशों के बारे में तो कभी  न कभी सुना ही होगा, किंतु क्या आपने  कभी नॉर्वे देश के बारे में सुना है, एक ऐसा देश जहां कभी भी सूरज 40 मिनटों (a place where sunset for 40 minutes) से अधिक देखने को नही मिलता है। 


कहां स्थित है नॉर्वे देश


नॉर्वे दुनिया का आखिरी देश है। माना जाता है कि (कहां सूरज केवल 40 मिनट के लिए डूबता है) यहां पृथ्वी का अंत हो जाता है। यह देश उत्‍तरी पोल के पास स्थित है। नॉर्थ पोल ही वो जगह है, जहां पृथ्वी धुरी पर घूमती है। यहां लोगों को रात देखना नसीब नहीं है। यहां सूरज भी सिर्फ 40 मिनट के लिए ही डूबता है।


कितने मिनटो की होती है रात


यह देश बहुत खूबसूरत है। लेकिन आपको जानकर हैरत होगी कि यहां रात नहीं होती। होती भी है तो बहुत छोटी। उत्‍तरी नॉर्वे (पृथ्वी का आखिरी देश किसे कहते हैं) की हेवरफेस्‍ट सिटी में सिर्फ 40 मिनट के लिए ही सूरज डूबता है। इसलिए इसे कंट्री ऑफ मिडनाइट सन भी कहते हैं।


गर्मी के दिनों में भी रहती है कड़ाकेदार ठंड


यह देश बहुत ठंडा है। जहां दुनिया में गर्मी के दिनों में कुछ देशों में तापमान 45 से 50 के बीच होता है, वहीं गर्मियों में यहां बर्फ जम रही होती है। इस समयm (last country where sun sets only for 40 minutes) यहां का तापमान जीरो डिग्री रहता है। सर्दियों में यहां का तापमान माइनस 45 डिग्री के नीचे चला जाता है। यहां पहुंचने के बाद आपको एक अलग ही दुनिया का अहसास होगा।


गर्मियों में नही होती रात


उत्तरी ध्रुव के करीब होने के कारण यहां अन्‍य देशों की तरह रोजाना रात ( earth ka akhri desh) या सुबह नहीं होती। बल्कि यहां छह महीने(a place where is no night for 6 moths) दिन तो छह महीने रात रहती है। सर्दियों के दिनों में यहां सूरज के दर्शन तक नहीं होते, जबकि गर्मियों के दिनों में यहां कभी सूरज डूबता ही नहीं। मतलब कि गर्मी के दिनों में यहां रात नहीं होती। यह जगह इतनी दिलचस्‍प है कि लोग दूर-दूर से इस (best view for tourist) अनोखे नजारे को देखने के लिए जाते हैं।


ग्रुप के साथ  जाने की मिल सकती है परमिशन


यह सब जानने के बाद आपका मन नॉर्वे जाने का जरूर करेगा। पर आपको बता दें कि ई-69 हाईवे धरती के सिरों को नॉर्वे से जोड़ता है। यह सड़क ऐसी (best tourist place) जगह जाकर खत्‍म होती है, जहां से आगे जाने का रास्‍ता आपको नजर ही नहीं आएगा, क्‍योंकि यहां दुनिया का अंत हो जाता है। अगर आप इस हाईवे पर जाना भी चाहें, तो अकेले जाना मना है।

यहां के लिए आपको एक ग्रुप तैयार करना होगा और फिर यहां जाने की परमिशन लेनी होगी। इस सड़क (norve me jane kin permission) पर किसी व्‍यक्ति को न तो अकेले जाने की इजाजत है और न ही अकेले गाड़ी ड्राइव करने की। यहां हर तरफ बर्फ ही बर्फ है, ऐसे में अकेले सफर करने से खो जाने का डर बना रहता है।


पर्यटकों  को मिलेगी सभी सुविधाएं


इस जगह पर सनसेट और पोलर लाइट्स देखना काफी मजेदार होता है। कहते हैं कि यहां (Tourist facility) सालों पहले मछली का कारोबार हुआ करता था, लेकिन धीरे-धीरे इस देश का विकास हुआ और पर्यटकों का यहां आना शुरू हो गया। अब यहां पर्यटकों को ठहरने के लिए होटल्‍स और रेस्‍टोरेंट की सुविधा भी मिलती है।