HBN News Hindi

Indian Railway : जनरल क्लास का टिकट क्या स्लीपर में होता है मान्य, जानिये क्या कहता है नियम

Indian Railway News : कई बार यह सुनने व देखने में आता है कि लोग ट्रेन के जनरल क्लास का टिकट लेकर स्लीपर क्लास में सवार हो जाता हैं। ऐसा करना नियम के विरुद्ध है। पकड़े जाने पर जुर्माना तो देना ही पड़ता है, साथ ही चालान कटने पर कोर्ट कचहरी के चक्कर भी लगाने पड़ेंगे। (IRCTC)आइये जानते हैं इस बारे में क्या है रेलवे का नियम।

 | 
IRCTC : जनरल क्लास का टिकट क्या स्लीपर में होता है मान्य, जानिये क्या कहता है नियम

HBN News Hindi (ब्यूरो) : Indian Railways Ticket Rules And Fine : भारत में रोजाना लाखों लोग ट्रेन से सफर करते हैं। कभी भीड़ इतनी बढ़ जाती है कि डिब्बे में सीट तो छोड़ो बल्कि खड़े होने की भी जगह नहीं होती। Indian Railways द्वारा सीटों का किराया अलग-अलग किया गया है।

 

 Amazing News : गजब का प्लान, अब घड़ी में 12 के बजाय बजेंगे 13 और यहां 26 घंटे का होगा दिन!

 

यह आती है समस्या


सबसे सस्ता किराया जनरल डिब्बे का होता है, जिसमें काउंटर से टिकट लेकर तुरंत ही ट्रेन से सफर किया जा सकता है। कई बार यात्री जनरल डिब्बे का टिकट लेकर स्लीपर बोगी में चढ़ जाते हैं, जिसके बाद पकड़े जाने पर जुर्माना देना पड़ता है। जानें जनरल टिकट पर स्लीपर क्लास (sleeper class) में चढ़ने पर कितना लगता है जुर्माना?

 

Aaj Ka Rashifal, 14 अप्रैल : आज इन राशि वालों को होगा खूब लाभ और इन्हें लेनदेन में आ सकती है परेशानी

 

यह है नियम


भारतीय रेलवे यात्रियों को जनरल टिकट लेकर स्लीपर डिब्बे में सफर करने की अनुमति देता है लेकिन इसके पीछे कई शर्तें भी हैं। रेलवे एक्ट, 1989 के मुताबिक अगर यात्रा की दूरी 199 किलोमीटर या उससे कम है तो टिकट 3 घंटे तक वैलिड होती है।

 Leaves Update : पीरियड्स के दौरान छात्राओं का कालेज जाना नहीं जरूरी, अब विभागाध्यक्ष से ले सकती हैं छुट्‌टी की मंजूरी


यह मिल सकती है अनुमति


अगर TTE यात्री को इस स्थिति में पकड़ ले तो दोनों केटेगरी की टिकटों के बीच के अंतर को लेकर स्लीपर क्लास का टिकट (sleeper class ticket) बना सकता है। इसके अलावा, अगर सीट ही नहीं है, तो अगले स्टेशन तक यात्रा करने की अनुमति मिल सकती है।

 Alcohol With Cold Drink : शरीर को खोखला कर देगी शराब पीने का ये तरीका, जानें शराब और कोल्ड ड्रिंक को एक साथ पीने के साइड इफेक्ट

250 रुपये लगेगा जुर्माना या कटेगा चालान


अगर यात्री इसके बाद भी स्लीपर कोच में ही बैठा रहता है तो उसे 250 रुपये जुर्माना देना होगा। अगर जुर्माना नहीं दे पाते, तो TTE द्वारा यात्री का चालान बनाया जाएगा और कोर्ट में जमा करने को कहा जाएगा।

Flipkart Sale : मामूली सी कीमत में मिल रहा IPhone 15, एक्सचेंज पर भी गजब का ऑफर

अगली ट्रेन का करें इंतजार


अगर जनरल कोच में भीड़ है, तो रेलवे द्वारा अगली ट्रेन का इंतजार करने का सुझाव दिया जाता है। हालांकि, अगर वैलिडिटी लिमिट के अंदर अगर कोई और ट्रेन नहीं है, तो यात्री स्लीपर क्लास में यात्रा कर सकते हैं। ऐसे में, ट्रेन में एंट्री (entry into train) करते ही टीटीई से कॉन्टेक्ट करना चाहिए और अपनी स्थिति के बारे में बात करनी चाहिए।