HBN News Hindi

Repo Rate Update news : घर खरीदारों को बड़ी राहत, अब होम बायर्स के साथ-साथ रियल एस्‍टेट सेक्टर की भी बल्ले-बल्ले

Repo Rate:अगर आप भी घर खरीदने का प्लान कर रहे हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। आपको बता दें कि आरबीआई ने मौद्रिक नीति की समीक्षा के बाद इस वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में रेपो रेट नहीं बढ़ाने का ऐलान किया है। इससे घर खरीदारों को काफी राहत मिली है।आइए जानते हैं इस बारे में डिटेल से।

 | 
Repo Rate Update news : घर खरीदारों को बड़ी राहत, अब होम बायर्स के साथ-साथ रियल एस्‍टेट सेक्टर की भी बल्ले-बल्ले

HBN News Hindi (ब्यूरो) : रिजर्व बैंक ने रेपो रेट्स (Repo Rates) में किसी भी तरह का इजाफा नहीं किया है जिससे होम बायर्स को काफी राहत मिली है। रेपो रेट स्थिर(RBI MPC Meeting 2024) रहने से रियल एस्‍टेट सेक्‍टर में भी ग्रोथ होगी। अब होम बायर्स पर वित्तीय बोझ भी कम पड़ेगा। आइए जानें इस बारे में।

 


आठवीं बार रेपो रेट रखा बरकरार


भारतीय रिजर्व बैंक ने लगातार आठवीं बार रेपो रेट को 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा है। पांच से सात जून तक चली मौद्रिक नीति समिति की बैठक के बाद आज भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक नीति का ऐलान करते हुए यह जानकारी दी है। रेपो रेट(RBI Monetary Policy News) में बढोतरी न करने के फैसले का रियल एस्‍टेट सेक्‍टर ने स्‍वागत किया है। प्रॉपर्टी कारोबार के जानकारों कहना है कि इस फैसले से रियल एस्‍टेट कारोबारियों के साथ ही घर खरीदारों को भी फायदा होगा। आने वाले समय में आरबीआई के इस फैसले से रियल एस्‍टेट सेक्‍टर को मजबूती मिलेगी।

 

होम लोन की ब्‍याज दर में हुआ इजाफा 


रेपो में बढ़ोतरी न होने से होम लोन की ब्‍याज दर में इजाफा नहीं होगा। इससे लोगों की होम लोन की ईएमआई में वृद्धि नहीं होगी। एस्टेट सेक्टर के अलग-अलग दिग्गजों ने आरबीआई के इस कदम को बेहतर बताते हुए अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं। क्रेडाई एनसीआर के अध्यक्ष और गौड़ ग्रुप के सीएमडी मनोज गौड़ का कहना है कि अगर रेपो दर में मामूली(real estate sector) कमी कर दी जाती तो रियल एस्टेट सेक्टर का उत्साह और बढ़ सकता था। वैसे आरबीआई का ब्याज दर नहीं बढाने का फैसला स्‍वागतयोग्‍य है। यह निर्णय सेक्टर की वृद्धि और स्थिरता का समर्थन करता है।

 

 

 

घर खरीददारों पर वित्तीय बोझ को करेगा कम


एसकेए ग्रुप के डायरेक्‍टर संजय शर्मा का कहना है कि रेपो दर के यथावत रखने का (Repo Rate Unchanged)निर्णय संभावित बॉयर्स पर वित्तीय बोझ को कम करने की दिशा में एक सकारात्मक कदम है। निश्चित रूप से आरबीआई के फैसले से किफायती और मध्य-श्रेणी की कॉमर्शियल प्रोजेक्ट्स को गति मिलेगी।


खरीदारों में अलग उत्साह 


ग्रुप 108 के एमडी, संचित भूटानी ने कहा, “आरबीआई ने लगातार आठवीं बार रेपो दर स्थिर रखकर फिर से एक सराहनीय कदम उठाया है। स्थिर रेपो दर निवेशकों और घर खरीदारों के लिए विश्वास प्रदान करती है। आरबीआई ने पिछले 16 महीनों से से रेपो दर को 6.5 फीसदी पर बनाए रखा है। इससे संभावित खरीदारों में एक अलग उत्साह बना हुआ है।

हाउसिंग मार्केट में वृद्धि की उम्‍मीद


 आरबीआई के फैसले का स्‍वागत किया है। इसी तरह रेपो रेट के (Repo Rate Update news)अपरिवर्तित रहने पर ट्राइसोल रेड के एमडी पवन शर्मा को हाउसिंग मार्केट में सकारात्मक वृद्धि की उम्मीद है।  ब्याज दरों में स्थिरता से विश्वास बढ़ता है, जिससे घर खरीदना अधिक आकर्षक और किफ़ायती हो जाता है। इससे रियल एस्टेट अधिक आकर्षक इन्वेस्टमेंट बन जाता है।

 


आरबीआई का ठोस कदम


सीआईआई एनआर समिति रियल एस्टेट के सह-अध्यक्ष व भारतीय अर्बन के सीईओ अश्विंदर आर सिंह का कहना है कि रेपो दर को 6.50% पर बनाए रखने का आरबीआई का निर्णय एक रणनीतिक रूप से ठोस कदम है जो रियल एस्टेट बाजार में स्थिरता और विश्वास को (Repo Rate Updates)मजबूत करता है। कहा कि पिछले कुछ वर्षों में यह सेक्टर पहले से ही अच्छा प्रदर्शन कर रहा है और रेपो रेट को स्टेबल रखने के निर्णय से घर खरीदार और डेवलपर्स, दोनों को लाभ होगा।