HBN News Hindi

Health Tips : इन लोगों को छाछ पीना पड़ सकता है भारी, जानिये क्या होंगे नुकसान

IS Buttermilk Healthy Or Not : गर्मियों के समय में आमतौर पर लोग  बाहर से या घरों में ही छाछ (Buttermilk disadvantages) को बनाकर पीनी बेहद पंसद करते हैं। हाल ही की एक जांच में यह पता चला है कि छाछ एक पौष्टिक ड्रिंक होने के साथ-साथ कई लोगों के लिए बेहद खतरनाक भी हो सकती हैं। आइए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से। 
 | 
Health Tips : इन लोगों को छाछ पीना पड़ सकता है भारी, जानिये क्या होंगे नुकसान

HBN News Hindi (ब्यूरो) :  जैसे कि आप लोग जानते ही हैं कि गर्मियों के मौसम में लोग कई तरह की ठंडी (mattha pine ke fayde) ड्रिंक्स को पीना पंसद करते हैं। इसी में से एक प्रमुख ड्रिंक है छाछ। बच्चे से लेकर बुढ़े तक सभी लोग छाछ का सेवन करते हैं।

छाछ एक  बेहद हेल्दी और पौष्टिक ड्रिंक हैं, यह पाचन तंत्र के लिए भी बेहतर होती है। लेकिन प्रत्येक चीज के फायदे होने के साथ-साथ उसके नुकसान भी होते हैं। आज हम इस खबर के माध्यम से आपको बताएंगे कि किन लोगों को छाछ का सेवन नही करना चाहिए।


जानिए किन लोगों को हो सकते हैं छाछ के नुकसान


छाछ एक हेल्दी और पौष्टिक ड्रिंक हैं। इसका सेवन गर्मियों में बेहद फायदेमंद माना जाता है। यह शरीर को (Chaach kise nahi pina chaiye) ठंडक देने के साथ ही डाइजेशन के लिए भी बेहतर होता है। इसमें पाए जाने वाले तत्व आपके पेट के लिए लाभदायी होते हैं।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि पोषक तत्वों से भरपूर (people should not drink chaach) इस ड्रिंक का सेवन कुछ लोगों के लिए नुकसानदायक हो सकते है।ऐसे लोगों (5 people should not drink buttermilk) को इसे पीने से बचना चाहिए या सीमित मात्रा में ही सेवन करना चाहिए।आइए जानते हैं वो लोग जिनको इसका सेवन करने पर सावधानी बरतनी चाहिए।


इन लोगों को नही पीना चाहिए छाछ 


जो लोग लैक्टोज इनटॉलेरेंस से पीड़ित होते हैं, उन्हें छाछ पीने से बचना चाहिए क्योंकि इसमें लैक्टोज होता है, जो उनके लिए डाइजेशन जैसी परेशानियां खड़ी कर सकता है।


इस एलर्जी वाले रखे सावधानी


जिन लोगों को दूध या दूध से बने प्रोडक्ट्स से एलर्जी है, (Buttermilk ke nuksan) उन्हें छाछ पीने से बचना चाहिए क्योंकि यह दूध से ही बनती है।


इन समस्याओं से पीड़ित लोग रखे खास ध्यान


कुछ मामलों में, गुर्दे की समस्याओं वाले लोगों को छाछ ( chaach ke nuksan) के उच्च पोटैशियम और फॉस्फोरस सामग्री के कारण इसे सीमित मात्रा में पीना चाहिए।


इन मरीजों को करना चाहिए सीमित मात्रा में सेवन


छाछ में नमक मिलाया जा सकता है, जिससे हाई ब्लडप्रेशर (chaach se kin logo ko ho skte h nuksan) वाले लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए और इसे सीमित मात्रा में ही सेवन करना चाहिए।


ऐसी समस्या वाले रखे बचाव


कुछ लोगों को छाछ से एसिडिटी की समस्या हो (ye log na piye chaach) सकती है।अगर ऐसा होता है, तो उन्हें छाछ पीने से बचना चाहिए।


कम इम्यूनीटि वाले लोग बनाएं दूरी


जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है, उन्हें डेयरी प्रोडक्ट्स (Milk products) का सेवन करने से बचना चाहिए, जिससे उन्हें संक्रमण का खतरा हो सकता है।