HBN News Hindi

Health Tips : जो इन नुस्खों को अपनाएगा उसे कभी भी हार्ट अटैक नहीं आएगा

Heart Attack Prevent  : आमतौर पर देखा जाता है कि बच्चों से लेकर युवाओं में आजकल हार्ट अटैक की बहुत शिकायतें आ रही हैं। अनेक युवाओं की हार्ट अटैक के कारण जान भी जा चुकी है। अगर आप स्वस्थ रहना चाहते हैं और हार्ट अटैक की बीमारी से दूर रहना चाहते हैं तो हम आपको कुछ नुस्खे बताएंगे, जिन्हें अपनाकर आप स्वस्थ रह सकते हैं। आइये इन नुस्खों के बारे में विस्तार से जानते हैं।
 | 
Health Tips : जो इन नुस्खों को अपनाएगा उसे कभी भी हार्ट अटैक नहीं आएगा

HBN News Hindi (ब्यूरो) : आजकल हार्ट अटैक की बीमारी बढ़ती जा रही है। इस बीमारी की चपेट में कम उम्र के लोग भी बहुत आ रहे हैं। कई बार देखने में आता है हार्ट अटैक (heart attack) के कारण 30-35 साल के युवा लोगों की भी मौत हो जाती है। अक्सर ज्यादातर लोगों की मौत अचानक हार्ट अटैक, कार्डियकअरेस्ट आने से हो जाती है। ऐसे लोगों को भी हार्ट अटैक आ जाता है, जो शरीर से पूरे हट्‌टे-कट्‌टे और तंदरुस्त नजर आते हैं। आइये हार्ट अटैक से बचाव के कुछ नुस्खों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

 

 

हर 6 माह में करवाना चाहिए बॉडी चेकअप


आमतौर पर देखा जा रहा है कि 30-35 साल वाले लोगों की मौत अचानक हार्ट अटैक से हो जाती है। जो लोग शरीर से स्वस्थ (body healthy) नजर आते हैं, उन्हें भी हार्ट अटैक आ जाता है। ये चिंताजनक बात है कि आखिर जो लोग सुबह-शाम वर्कआउट कर रहे हैं, जिम जाकर पसीना बहा रहे हैं, उन्हें भी अचानक हार्ट अटैक आ जाता है। ऐसे में एक्सपर्ट प्रत्येक 6 महीने शरीर की जांच कराने की सलाह देते हैं, लेकिन लोग इसमें हार्ट के चेकअप को नजरअंदाज कर देते हैं।

 

इन आयुर्वेदिक सुझावों से टल  सकता है हार्ट अटैक का खतरा


शरीर में अंदर ही अंदर दिल में क्या दिक्कत हो रही है, कहीं हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल तो नहीं, यह जानने के लिए हार्ट चेकअप भी जरूरी है। कहीं किसी आर्टरीज में रुकावट तो नहीं, जो हार्ट अटैक के खतरे को बढ़ा देता है। इसके लिए बेहतर है कि आप हार्ट का चेकअप भी कराते रहें। ऐसे में सभी प्रकार के हृदय रोगों से बचाव के लिए इन 10 आयुर्वेदिक सुझावों को अपनी दिनचर्या में शामिल करें। ये टिप्स आयुर्वेदिक डॉ. दीक्षा भावसार ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किए हैं। 

 

इस प्रकार हैं दिल को स्वस्थ रखने के 10 टिप्स


1. आयुर्वेदिक चिकित्सक के मुताबिक, दिल को स्वस्थ रखने व हार्ट अटैक के जोखिम को कम करने के लिए अपने भोजन में लहसुन और अलसी के बीजों को शामिल करना चाहिए।
2. डाक्टर का कहना है कि 30 साल की आयु के बाद हर वर्ष अपनी लिपिड प्रोफाइल और एचएस-सीआरपी की जांच लोगों को जरूर करानी चाहिए।
3. अपनी बाई वीकली मील प्लान में अनार, अखरोट, बादाम, संतरा, जामुन, हरी पत्तेदार सब्जियों जैसे खाद्य पदार्थों को जरूर शामिल करें।


4. अपने भोजन में दालचीनी, काली मिर्च, हल्दी, अदरक, सौंफ, इलायची, धनिया जैसे मसालों को शामिल करें।
5. 40 साल की उम्र के बाद ‘अर्जुन’ जड़ी बूटी से बनी हर्बल चाय का सेवन करना जरूर शुरू कर दें। इससे आपका दिल स्वस्थ रहेगा।
6. चलने-फिरने की आदत को बढ़ाएं। सारा दिन बैठे रहने की आदत से बचें। शरीर में ब्लड सर्कुलेशन होना जरूरी है। बैठना दिल के लिए उतना ही हानिकारक है जितना कि धूम्रपान। रोजाना कम से कम 45 मिनट व्यायाम करें।


7. अपने तनाव को नियंत्रित करें क्योंकि स्ट्रेस के कारण ब्लड प्रेशर, ट्राइग्लिसराइड्स और एलडीएल/बैड कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ा सकता है, जो दिल के दौरे के लिए प्रमुख रूप से जिम्मेदार हैं।
8. हमेशा डीप फ्राइड और प्रोसेस्ड भोजन खाने से बचें। जंक फूड को महीने में एक/दो बार तक ही सीमित रखें। धूम्रपान बंद कर दें। इससे हार्ट को कोई नुकसान नहीं होगा।
9. दोपहर 2 बजे के बाद कैफीन के सेवन से बचें। सोने के 10 घंटे के भीतर कैफीन का सेवन करने से नींद संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।
10. अपने वजन और शुगर के लेवल को सामान्य सीमा में रखें। मोटापे और उच्च शुगर लेवल वाले लोगों को दिल के दौरे का अधिक खतरा रहता है।