HBN News Hindi

Health Insurance Premium : उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधा देने का वायदा कर कंपनियां अब बढ़ा सकती हैं हेल्थ इंश्योरेंस के प्रीमियम

Health Insurance Update : नए नियम के मुताबिक इरडा ने हेल्थ इंश्योरेंस संबंधित सुविधाओं को (Health insurance Premium)दुरुस्त कर उपभोक्ताओं को बेहतर तरीकें से देने का वायदा किया था। लेकिन (Health Insurance)अब कंपनियां वायदा के साथ-साथ उपभोक्ताओं की जेबें ढीली करने की तैयारी में है। मतलब है कि कंपनियां अब हेल्थ इंश्यारेंस प्रीमियम बढ़ा सकती है। तो आइये जानते हैं कि क्या है पूरा माजरा। 

 | 
Health Insurance Premium : उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधा देने का वायदा कर कंपनियां अब बढ़ा सकती हैं हेल्थ इंश्योरेंस के प्रीमियम

HBN News Hindi (ब्यूरो) : इंश्योरेंस सेक्टर के रेगुलेटर इरडा (IRDAI) ने अपने नए नियम के मुताबिक उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधा देने का (IRDAI Rules)वायदा किया था। लेकिन दूसरी ओर इरडा ने हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम बढ़ाने के संकेत भी दे दिए है। इसमें इरडा ने हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम 1 हजार रुपये तक बढ़ाने का फैसला ले सकती है। आइये जानते हैं इस मामले को थोड़े और गहराई से। 

इरडा ने बदल दिए हैं कई नियम 


इरडा की नई गाइडलाइन के अनुसार, वेटिंग पीरियड को अब अधिकतम 4 साल से (हेल्थ इंश्योरेंस)घटाकर 3 साल कर दिया गया है। इसके अलावा सीनियर सिटीजन को भी नए नियमों में राहत दी गई है। इसके (हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम)अलावा बीमा कंपनियों को निर्देश दिया गया है कि गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लोगों को भी हेल्थ इंश्योरेंस दिया जाए। इसके अलावा कंपनियों को निर्देश दिए गए थे कि वह लोगों को इंस्टालमेंट का विकल्प भी उपलब्ध कराएं। इन नए नियमों से कस्टमर्स को काफी राहत मिली है। मगर, कंपनियां अब प्रीमियम रेट में इजाफा करने को तैयार हो गई हैं। 

एचडीएफसी एरगो कर चुकी है ऐलान 


एचडीएफसी एरगो (HDFC ERGO) ने हाल ही में कहा था कि वह प्रीमियम में 7.5 फीसदी से लेकर 12.5 फीसदी तक (इंश्योरेंस सेक्टर)इजाफा करने जा रही है। कंपनी ने कस्टमर्स को भेजे एक ईमेल में कहा है कि पॉलिसी धारक की उम्र और परिवार के सदस्यों के आधार पर प्रीमियम में बढ़ोतरी की जाएगी। नए नियमों और मेडिकल कॉस्ट में हुए इजाफे के चलते यह फैसला लिया गया है। 

कोविड 19 के बाद तेजी से बढ़ा है प्रीमियम 


एको जनरल इंश्योरेंस ने कहा है कि कंपनियां प्रीमियम में 10 से 15 फीसदी इजाफा कर सकती हैं। इरडा ने (इरडा)अब 65 साल से भी अधिक उम्र के लोगों को हेल्थ इंश्योरेंस देने का निर्देश दिया है। चूंकि कस्टमर की बढ़ती हुई उम्र के साथ ही कंपनियों की रिस्क में इजाफा होता है इसलिए प्रीमियम का बढ़ना तय है। हर 5 साल की उम्र के बाद प्रीमियम 10 से 20 फीसदी बढ़ जाते हैं। सीएनबीसी टीवी 18 की रिपोर्ट के (बिजनेस न्यूज)अनुसार, वित्त वर्ष 2019 से लेकर 2024 तक औसत (हिंदी न्यूज)प्रीमियम लगभग 48 फीसदी बढ़कर 26533 रुपये हो चुका है। कोविड 19 के बाद इसमें तेजी से इजाफा हुआ है।