HBN News Hindi

Fake Company News : फेक कंपनियां दे रही है जॉब के ऑफर, कहीं आप तो नहीं फंस गए

Company News update : आज प्रतिस्पर्धा (Competition)का जमाना है। हर कोई अपने जीवन को सुखमय बिताने के लिए अच्छी जॉब करने की चाह भी रखते हैं। लेकिन इसी का फायदा फेक कंपनियां (fake companies)उठा रही है, जिनकी आज के दिन भरमार है। आईये हम बताते हैं कि फेक कंपनियां की तरफ से जॉब की कॉल आने पर क्या करें। 

 | 
Fake Company News : फेक कंपनियां दे रही है जॉब के ऑफर, कहीं आप तो नहीं फंस गए 

HBN News Hindi (ब्यूरो) : इस प्रतिस्पर्धा के जमाने में आय (Income)बढ़ाने पर लोग ज्यादा ध्यान दे रहे है। कि कहीं से उनकी आय में इजाफा हो। इसके लिए वे तरह-तरह की कंपनियों व संगठनों में जॉब (job)के लिए अप्लाई करते हैं। लेकिन कंपनी सही या फिर फेक संबंधित जानकारी न होने पर जरूरतमंद इंसान हमेशा मार खाता ही है, जिसका सीधा प्रभाव उसकी मानसिकता, शारीरिकता व परिवार पर पड़ता है। भविष्य में ऐसा न हो। इसके लिए हम आपको कुछ बताने जा रहे हैं तो गौर से पढ़े । 

इस तरह पता करें कोई कंपनी फेक है या नहीं


किसी कंपनी की सत्यता जांचने के लिए आपके पास सबसे बेहतरीन जरिया है कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय (Ministry of Corporate Affairs)। आप कारपोरेट कार्य मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट https://www।mca।gov।in/ पर जाकर कंपनी के बारे में चेक कर सकते हैं। आप इससे यह पता लगा सकते हैं कि यह कंपनी भारत में रजिस्टर्ड है या फिर नहीं। इसके साथ ही आप रीजनल चैंबर ऑफ़ कॉमर्स (Regional Chamber of Commerce)में कॉल करके भी इस बात की जानकारी ले सकते हैं कि कंपनी असली है या फिर नहीं। 

अगर कोई कंपनी फेक होगी तो उसे पर ज्यादा लोग विजिट (Visit)नहीं करते होंगे। ऐसे में आप अलेक्सा रैंक का इस्तेमाल करके यह जान सकते हैं कि कोई वेबसाइट कितनी पॉपुलर है लोगों के बीच और उसे पर कितने यूजर्स जाते हैं। किसी कंपनी की वेबसाइट देख रहे हैं और उसके आखिर में आपको लोक का चिह्न दिखाई दे तो समझ लीजिए वेबसाइट असली है । 

 असली कंपनी की साइट पर होती है सभी जानकारियां 


सामान्य तौर पर अगर कोई कंपनी रजिस्टर्ड (registered)होती है और वह काम कर रही होती है। तो आप अगर उसकी वेबसाइट पर जाते हैं। आपको वहां पर उस कंपनी की सभी जानकारी मिल जाती है। जैसे कि उस कंपनी का अधिकारिक मेल मिल जाता है। हेल्पलाइन नंबर मिल जाता है। उसकी पॉलिसी और अन्य कॉन्टेंट भी मिल जाता है।  इसके साथ ही कंपनी की गूगल लिस्टिंग भी चेक करें। अगर कोई कंपनी फेक होती है तो उसके पास यह सभी जानकारी मौजूद होती।