HBN News Hindi

Political News : सुरजेवाला पर 48 घंटे का बैन, हेमा मालिनी पर विवादित टिप्पणी को लेकर चुनाव आयोग ने लिया एक्शन

Political News : पूरे देश में इस समय लोकसभा चुनाव 2024 की सरगर्मियां तेज (activities are intense)  हैं। चुनाव को लेकर हर रोज सभी राजनीतिक दलों के नेता एक दूसरे पर टिप्पणी करते रहते हैं। कई बार ये नेता ऐसी टिप्पणी कर देते हैं, जो चर्चा का विषय बन जाती हैं। कांग्रेसी नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी हेमा मालिनी को लेकर विवादित टिप्पणी (Controversial comment about Hema Malini) कर दी, जिसको लेकर चुनाव आयोग ने 48 घंटे के लिए सुरजेवाला पर बैन लगा दिया है। आइये विस्तार से जानते हैं कि सुरजेवाला पर 48 घंटे के लिए कैसी पाबंदी लगाई गई है।
 | 
Political News : सुरजेवाला पर 48 घंटे का बैन, हेमा मालिनी पर विवादित टिप्पणी को लेकर चुनाव आयोग ने लिया एक्शन

HBN News Hindi (ब्यूरो) : आजकल लोकसभा चुनाव को लेकर चुनावी माहौल (election environment) पूरा गर्म है। हर रोज नए-नए राजनीतिक बयान सुनने को मिल रहे हैं। इसी चुनावी दौर में कांग्रेसी नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी हेमा मालिनी को लेकर विवादित टिप्पणी (controversial comment) कर दी, जो चर्चा का विषय बन गई। इस विवादित टिप्पणी को लेकर चुनाव आयोग ने एक्शन लेते हुए रणदीप सिंह सुरजेवाला पर 48 घंटे का बैन लगा दिया है। आइये विस्तार से जानते हैं कि चुनाव आयोग ने सुरजेवाला पर किस तरह शर्तें लगाई हैं।

 

48 घंटे तक नहीं ले पाएंगे चुनावी गतिविधि में हिस्सा


चुनाव आयोग ने सांसद हेमा मालिनी को लेकर की गई अभद्र टिप्पणी (rude comment) के मामले में कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता रणदीप सुरजेवाला पर 48 घंटे के लिए प्रतिबंध (ban for 48 hours) लगा दिया है। सुरजेवाला अगले 48 घंटे तक किसी प्रकार की चुनावी गतिविधि का हिस्‍सा (Part of election activity) नहीं बन पाएंगे और चुनाव प्रचार से भी दूर रहेंगे। आज शाम 6 बजे से अगले 48 घंटे तक रणदीप सिंह सुरजेवाला न चुनाव प्रचार कर पाएंगे और न ही मीडिया से संवाद कर पायेंगे।

 

2019 के लोकसभा चुनाव में भी कई नेताओं पर हुई थी कार्रवाई


रणदीप सिंह सुरजेवाला पहले ऐसे नेता हैं, जिनपर चुनाव आयोग (election Commission) ने लोकसभा चुनाव 2024 के दौरान एक्‍शन लिया है। साल 2019 के लोकसभा चुनाव के  दौरान EC की तरफ से नियमों का उल्‍लंघन (violation of rules) करने वाले अनेक नेताओं पर कार्रवाई की गई थी। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद रणदीप सुरजेवाला ने हरियाणा के कैथल के गांव फरल में एक जनसभा को संबोधित करते हुए हेमा मालनी पर विवादित बयान दिया था।

 

बाद में सुरजेवाला ने स्पष्टीकरण देते हुए भाजपा पर लगाया था बड़ा आरोप


बाद में सुरजेवाला ने मामले में स्पष्टीकरण (the explanation) दिया और भाजपा पर बड़ा आरोप लगाया। उन्‍होंने कहा कि भाजपा के आईटी सेल को काट-छांट, तोड़-मरोड़, फर्ज़ी-झूठी बातें फ़ैलाने की आदत बन गई है, ताकि वो रोज मोदी सरकार की युवा विरोधी, किसान विरोधी, गरीब विरोधी नीतियों-विफलताओं व भारत के संविधान को ख़त्म करने की साज़िश (Conspiracy to destroy the Constitution) से देश का ध्यान भटका सके। पूरा वीडियो सुनिए – मैंने कहा “हम तो हेमा मालिनी जी का भी बहुत सम्मान करते हैं। क्योंकि वो धर्मेंद्र जी से ब्याह रखी हैं, बहु हैं हमारी।”

 

चुनाव आयोग ने खड़गे को भी दी हिदायत


केवल रणदीप सिंह सुरजेवाला को ही नहीं बल्कि पेश मामले में चुनाव आयोग ने कांग्रेस पार्टी के अध्‍यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे (Congress Party President Mallikarjun Kharge) को भी पत्र लिखा था, जिसमें उनसे अपनी पार्टी के सभी नेताओं को चुनाव आचार संहिता (Election code of conduct) के बारे में बताने की बात कही गई थी। ऐसा इसलिए किया गया क्‍योंकि पार्टी नेता सुप्रिया श्रीनेत ने कंगना रनौत पर विवादित बयान भी दिया था।