HBN News Hindi

E-way Bill अब अनिवार्य, जान लें इसे ऑनलाइन निकालने का तरीका

1 April से पूरे देश में ई वे बिल को लागू कर दिया गया है। तकनीकी ज्ञान के अभाव में अधिकतर को इसके कार्य, जरूरत व ऑनलाइन निकाले जाने के बारे में नहीं पता। इस खबर में हम ई वे बिल के सभी पहलुओं पर जानकारी देते हुए इसे ऑनलाइन प्राप्त किए जाने वाले स्टेप्स के बारे में भी जानेंगे। आइये पढ़ें ये पूरी खबर।

 | 
E-way Bill अब अनिवार्य, जान लें इसे ऑनलाइन निकालने का तरीका

HBN News Hindi (ब्यूरो) : आपको बता दें कि e-Way Bill किसी भी उत्पाद को राज्य के अन्दर या बाहर ले जाने के लिए transport permit का एक डॉक्युमेंट होता है, (e-Way Bill Kya Hai)जो सभी GST registered लोगों को बनवाना ही होगा अगर वे 50,000 रुपए से अधिक की वैल्यू का सामान ट्रांसपोर्ट कर रहे हैं। सामान की ढुलाई (transportation of goods) एक राज्य से दुसरे राज्य में हो या एक ही राज्य के अन्दर एक स्थान से दुसरे स्थान पर हो; तो पहले सरकार को Online Registration करके बताना होगा और इसके लिए E-way Bill Generate करना अनिवार्य हो गया है।

 

UP News : कर्मचारियों के हो गए ठाठ, सरकार ने सैलरी को लेकर दिए ये आदेश

 

50 हजार से अधिक कीमत वाले सामान के लिए है जरूरी


जिस वस्तु की ढुलाई हो रही है अगर उसकी कीमत 50 हजार से अधिक है तो उसके ट्रांसपोर्ट के लिए E-way Bill जेनरेट करना अनिवार्य है। E-way Bill में दूरी के अनुसार दिन भी निर्धारित किया गया है. 100 किमी की दूरी तय करने के लिए एक दिन की सीमा तय की गयी है। इसके बाद प्रत्येक 100 किमी की दूरी तय करने पर एक-एक दिन की समय-सीमा बढती जाएगी यानी 101 से 200 किलोमीटर की दूरी के लिए दो दिन, 201 से 300 किमी की दूरी के लिए तीन दिन आदि।

 

HDFC Bank 1 अप्रैल को नहीं देगा ये सुविधाएं, ग्राहक जान लें यह जरूरी अपडेट


E-way Bill Web Portal पर registration करवाना जरूरी


ई-वे बिल बनवाने के लिए सबसे पहले E-way Bill Web Portal पर registration करना होगा। (E-way Bill Kaise Banaye) अगर आपके पास GST है, तो आपको अपना GSTN डालकर पहले वेरिफ़ाई करना होगा। और अगर आपके पास GST नहीं है, तो आप अपने PAN Card के द्वारा भी रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। आपके पैन कार्ड से जो मोबाइल नम्बर पंजीकृत है, उसमें OTP आएगा, वो डालने के बाद आप अपना User ID और Password बना सकते हैं।


दो हिस्सों में होता है फार्म


अब आपको E-way Bill Generate करने के लिए E-way Bill User ID & Password मिल गया है। अब ई-वे बिल बनाने के लिए जो online form उपलब्ध कराये गये हैं, वह दो हिस्सों में बंटा होता है। पहला हिस्सा Part-A के नाम से जाना जाता है। इसमें सप्लायर व प्राप्तकर्ता की पूरी जानकारी, ढुलाई की जानेवाली वास्तु का मूल्य, कहाँ से कहाँ तक ढुलाई की जाएगी एवं ट्रांसपोर्ट के साथ जो दस्तावेज दिए जाएंगे उसकी पूरी जानकारी देनी होती है। वहीं दुसरे हिस्से को Part-B कहा जाता है। इसमें सामान की ढुलाई के लिए तय किए गए वाहन की जानकारी देनी होती है।

 

Wheat Price 2024 : 2700 रुपये क्विंटल होगा गेहूं का भाव! केंद्र सरकार ने बढ़ाया न्यूनतम समर्थन मूल्य


ई-वे बिल निकालने का तरीका

 

GST लागू हो जाने के बाद इस दौर में सामान की ढुलाई शुरू होने के पहले ही E-way Bill Generate करना अनिवार्य है। इसमें अलग-अलग प्रावधान दिए गए हैं कि किस परिस्थिति में Kaun E-way Bill Generate Karega?

 

अगर सामान की सप्लाई बिक्री करने के लिए हो रही है और सामान की कीमत 50 हज़ार से अधिक है, तो supplier, transporter या प्राप्तकर्ता कोई भी E-way Bill Generate कर सकता है।
किसी अन्य कारण से सामन की ढुलाई के समय अगर सामान की कीमत 50 हज़ार से अधिक है, तो भी supplier, transporter या recipient में से कोई भी ई-वे बिल बना सकता है।

Gold Silver Price Today : सोने के दामों में आई भारी गिरावट, चांदी भी डाउन, अब इतने हो गए रेट


गैर-पंजीकृत सप्लायर से पंजीकृत प्राप्तकर्ता तक ढुलाई के समय अगर सामान की कीमत 50 हज़ार से अधिक है, तो पंजीकृत प्राप्तकर्ता ही E-way Bill Generate कर सकता है।
गैरपंजीकृत सप्लायर से गैरपंजीकृत प्राप्तकर्ता की स्थिति में किसी भी कीमत की वस्तु पर गैरपंजीकृत सप्लायर या ट्रांसपोर्टर को ई-वे बिल जेनरेट करना होता है।
Handicraft सामानों का inter-state transfer की स्थिति में किसी भी कीमत की वस्तु पर हेंडीक्राफ्ट सप्लायर को E-way Bill Generate करना होगा।