HBN News Hindi

Heart Attack के ये लक्षण दिखते ही करें यह काम, इग्नोर करना पड़ जाएगा भारी

Heart Attack Symptoms: भारत में पिछले कुछ सालों में हार्ट अटैक के मामलों में काफी तेजी आई है। कई कारणों से अटैक के मामले तेजी से बढ़े हैं।आजकल कम उम्र में ही लोग हार्ट अटैक आने से अपनी जान गंवा रहे हैं। चलिए जानते हैं ऐसे कौन-कौन से लक्षण हैं, जो हार्ट डिजीज या हार्ट अटैक (Heart Attack Signs)की तरफ इशारा करते हैं।
 
 | 
Heart Attack के ये लक्षण दिखते ही करें यह काम, इग्नोर करना पड़ जाएगा भारी

HBN News Hindi (ब्यूरो) :  हार्ट अटैक बेहद खतरनाक और जानलेवा बीमारी है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारा शरीर  हार्ट अटैक आने से पहले कई तरह के संकेत देना शुरू कर देता है। इसके लक्षण पहले ही दिखाई देने शुरू हो जाते हैं।तो उस समय(Heart attack signs) गलती से भी उन को लक्षण को अनदेखा नहीं करना चाहिए। आइए जानते हैं हार्ट अटैक के लक्षण के बारे में।

 

हार्ट अटैक के शुरुआती लक्षण


 पहले इस तरह की गंभीर बीमारी का खतरा बढ़ते हुए उम्र के लोगों को ही रहता था। लेकिन आजकल कम उम्र के लोग भी इस खतरनाक बीमारी से जूझ रहे हैं। वहीं, इसके आने से पहले शरीर में दिखने वाले संकेतों की बात करें तो छाती में दर्द होना, सांस(heart attack pre symptoms) फूलने के जैसी समस्याएं मानी जाती थी।

अमेरिका के क्वीवलैंड क्लिनिक मेडिकल सेंटर की रिसर्च के मुताबिक मानें तो इनके अलावा और भी कई सारे लक्षण हो सकते हैं, जिन्हें आप समझते तो आम होंगें कि लेकिन ये हार्ट अटैक के शुरुआती लक्षणों में से एक है। ये लक्षण कुछ इस तरह के हो सकते हैं जैसे कि पेट में (heart attack precautions)लगातार दर्द बने रहना, पूरी तरह से नींद लेने के बाद भी शरीर में थकावट बनी रहना, लगातार पसीना निकलते रहना। ये ऐसे शुरुआती लक्षण हैं जिन्हें भूलकर भी अनदेखा नहीं करना चाहिए।

 

सांस लेने में दिक्कत होना


हार्ट अटैक के दौरान सांस लेने में दिक्कत महसूस होना एक कॉमन सा लक्षण है। यदि एक्सपर्ट्स के मुताबिक मानें तो, इस दौरान ऐसा महसूस होता है कि कहीं से दौड़ – भाग करके आए हों और सांस लेने में असमर्थ महसूस कर रहे हों।

 

 

पीठ और बाहों में दर्द का बने रहना 


जबड़े के अलावा पीठ और बाहों में दर्द का बने(haart ataik kee samasya ko kam karane ke upaay) रहना भी हार्ट अटैक के शुरुआती लक्षणों में से एक है। ये दर्द शुरुआत में तो कम होता है लेकिन धीरे धीरे बढ़ता चला जाता है, जिसे सहन करना बहुत मुश्किल का काम होता है।

 

छाती में दर्द, दबाव और असहजता महसूस होना

 

यदि छाती में दर्द, दबाव और असहजता महसूस हो तो ये हार्ट अटैक के शुरुआती लक्षणों में से एक हो सकता है। इसलिए इसे हल्के में न लें और तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करें।

आराम करने के बाद भी थकान बनी रहना


अधिक देर आराम करने के बाद भी आप खुद को(हार्ट अटैक की सावधानियां) असहज और थका हुआ सा महसूस करते हैं तो ये हार्ट अटैक ( Heart Attack) के शुरुआती लक्षणों में से एक है। काम करने के अलावा आपको बैठे बैठे भी नींद आने लगती है।

ऐसे रखें हार्ट को हेल्दी


कोशिश करें की वीक में कम से कम पांच दिन तो वर्कआउट करें ही करें। हार्ट अटैक जैसी गंभीर बीमारी का पहला लक्षण मोटापा ही है। इसलिए आय दिन लगभग 45 मिनट तो वर्कआउट के लिए निकालें ही निकालें। इसके अलावा रोज सुबह वॉक करने जाएं और खुली हवा में बैठ के व्यायाम भी जरूर करें।

डाइट का रखें पूरा ध्यान


कोशिश करें कि ज्यादा तली भुनी हुई चीजों (heart attack)को डाइट में न शामिल करें। सिंपल खाना पसंद करें अपनी डाइट में रोटी को जरूर शामिल करें गेंहू की रोटी के अलावा ज्वार, बाजरा , रागी की रोटी भी खाते रहें। सुबह के ब्रेकफास्ट के साथ फ्रूट्स लें जिनमें आप पपीता, किवी, संतरा जैसे कम शुगर वाले फ्रूट्स ले सकते हैं। इसके अलावा हर एक महीने के बाद वेट भी चेक करते रहें।

अल्कोहल से दूरी बना लें 


कोशिश करें की अल्कोहल को पूरी तरह से त्याग दें। क्योंकि इसके सेवन से धमनियों में वसा एकत्रित हो जाती है। इसलिए अल्कोहल से दूरी बना लें और पीते हैं तो छोड़ दें।

प्रतिदिन कम से कम 7-8 घंटे की नींद लें


कोशिश करें कि प्रतिदिन कम से कम 7-8 घण्टे की नींद को(tips to reduce heart attack problems) पूरी ही पूरी करें। रात में 10 बजे सो जाएं और सुबह 6-7 बजे उठ जाएं। इससे न केवल आपकी नाइट साइकिल अच्छी होगी बल्कि हार्ट हेल्थ भी स्वस्थ रहेगा।